बाढ़ बनी काल: लगातार मौतों का सिलसिला जारी, हुआ करोड़ो का नुकसान

बारिश और बाढ़ से प्रभावित कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश में हालात बहुत खराब हो गए है। बाढ़ चार राज्यों में इस प्राकृतिक आपदा में अब तक 125 लोगों की मौत हो चुकी है। कर्नाटक में बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। महाराष्ट्र के सांगली में भी हाहाकार मचा हुआ है।

नई दिल्ली: बारिश और बाढ़ से प्रभावित कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश में हालात बहुत खराब हो गए है। बाढ़ चार राज्यों में इस प्राकृतिक आपदा में अब तक 125 लोगों की मौत हो चुकी है। कर्नाटक में बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। महाराष्ट्र के सांगली में भी हाहाकार मचा हुआ है। सेना और एनडीआरएफ की टीमें लोगों की मदद में जुटी हैं।

ये भी देखें:अनुराग कश्यप ने Article 370 पर किया था पीएम का विरोध, अब ट्विटर से हुए बाहर

कर्नाटक में ज्यादातर नदियां उफान पर हैं। अभी तक बारिश से राहत नहीं मिलने के कारण बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गई है। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने राज्य के लोगों से चिंता ना करने के लिए कहा है। कर्नाटक सरकार ने राज्य में मूसलाधार बारिश और बाढ़ से 6000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया है। राज्य में बारिश से संबंधित विभिन्न घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है।

कर्नाटक वित्त विभाग ने तत्काल राहत के तौर पर 100 करोड़ रुपए जारी किए हैं। कर्नाटक सरकार ने आपदा में मारे गए लोगों के परिवारों में से प्रत्येक को पांच लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है। केरल में भी मूसलाधार बारिश का कहर जारी है। बाढ़, भूस्खलन और बारिश संबंधी घटनाओं से मरने वालों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है।

ये भी देखें:जम्मू-कश्मीर के हालात पर पुलिस ने दी बड़ी जानकारी

एक लाख से अधिक लोगों ने राहत शिविरों में पनाह ली है। आठ अगस्त से अभी तक बारिश संबंधी घटनाओं में सिर्फ कोझिकोड और मलप्पुरम में जिले में ही 20 और वायनाड में नौ लोगों की जान गई है। राज्य के 988 राहत शिविरों में 1,07,699 लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया। वायनाड से सबसे अधिक 24,990 लोगों ने शिविरों में पनाह ली है।

पश्चिम महाराष्ट्र के कोल्हापुर और सांगली जिलों में बाढ़ग्रस्त इलाकों में राहत एवं बचाव अभियान चलाया जा रहा है। वहां फंसे हुए लोगों को सेना और एनडीआरएफ की टीमें सुरक्षित जगह पर पहुंचाने में लगी हैं। सांगली जिले की ब्रह्मानल गांव के पास नौका पलटने की घटना के बाद तीन शवों को बरामद किया गया है। जबकि, छह लोग अभी भी लापता हैं। सांगली के एक इलाके में सेना के जवानों ने भूखे-प्यासे घरों में फंसे कई छोटे बच्चों को बचाया।

ये भी देखें:ड्रामा खत्म! घर वापस आया कांग्रेस अध्यक्ष पद

केरल में फंसे यात्रियों के लिए विशेष ट्रेन चलेंगी

केरल में मूसलाधार बारिश और बाढ़ में फंसे यात्रियों को निकालने के लिए विशेष ट्रेनें चलाई जाएंगी। दक्षिणी रेलवे ने शनिवार को यह घोषणा की। बाढ़ मे फंसे यात्रियों के लिए एर्नाकुलम-चेन्नई, चेन्नई-कोल्लम और बेंगलुरु कोल्लम मार्गों पर विशेष रेलगाड़यिां चलाई जाएंगी। विशेष यात्री ट्रेनों के लिए आरक्षण खुल गया है।

ये भी देखें:बंगालः बलियाहाट पिरताल में टीएमसी नेता मैनुल एसके को गोली लगी, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

तमिलनाडु में वायुसेना ने 11 लोगों को बचाया

तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में बारिश से बुरी तरह प्रभावित अवलांची से वायुसेना ने शनिवार को दो नवजात शिशुओं समेत 11 लोगों को सुरक्षित निकालकर उन्हें कोयंबटूर के अस्पताल में भर्ती कराया। रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि शनिवार को खराब मौसम के बावजूद वायुसेना के सारंग हेलीकॉप्टर ने दो अभियान चलाए।

ये भी देखें:बंगालः बलियाहाट पिरताल में टीएमसी नेता मैनुल एसके को गोली लगी, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

राहुल गांधी बाढ़ का जायजा लेने जाएंगे वायनाड

कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार को दो दिनों के दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड जाएंगे। वह केरल में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेंगे। इससे पहले गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी से बातकर बाढ़ पीड़ितों के लिए सहायता मांगी थी। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान भी किया था कि वे बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आएं।

ये भी देखें:पुलिस ने कश्मीर में गोलीबारी की मीडिया रिपोर्टों का किया खंडन, कहा-ऐसी खबरों पर न करें भरोसा

बाढ़ में फंसे पूर्व केंद्रीय मंत्री पुजारी को निकाला गया

मेंगलुरू बाढ़ में फंसे पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता जनार्दन पुजारी को जिला प्रशासन ने शनिवार को सुरक्षित निकाला। दक्षिण कन्नडा जिले के बंटवाल में 82 साल के पुजारी अपने ही घर में फंस गए थे। जिला प्रशासन की टीम ने पूर्व मंत्री के फंसे होने की खबर मिलने पर नाव में बिठाकर उनको बाहर निकाला।

ये भी देखें:विदेश मंत्री एस. जयशंकर आज जाएंगे चीन, अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

गुजरात: इमारत ढहने से चार लोगों की मौत

गुजरात के नडियाद शहर में भारी बारिश के बीच ढही तीन मंजिला इमारत के मलबे में दबने से एक वर्षीय बच्ची सहित चार लोगों की मौत हो गई है और पांच लोग घायल हो गए। खेड़ा की पुलिस अधीक्षक दिव्या मिश्रा ने शनिवार को बताया कि प्रगति नगर इलाके में शुक्रवार देर रात इमारत गिर गई। इमारत के मलबे में नौ लोग दबे थे, जिनमें से चार की मौत हो गई और पांच घायलों को जिंदा निकाला गया।

ये भी देखें:इस भारतीय युवा बल्लेबाज ने रचा इतिहास, तोड़ा गौतम गंभीर का रिकॉर्ड

मध्यप्रदेश: तीन दिन बाद फिर सक्रिय होगा मानसून

मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित है। राज्य में बाढ़ से अब तक 32 लोगों की मौत हो गई है। वैसे तो, इस बीच शनिवार को वर्षा में कमी दर्ज की गई। प्रदेश में मानसून के तीन दिन बाद फिर से अधिक सक्रिय होने की संभावना है। मौसम विभाग के ने बताया, मध्यप्रदेश के पश्चिमी हिस्से में मौसम रविवार सुबह तक भारी वर्षा हो सकती है।

ये भी देखें:टैंकर से लूट रहे थे तेल, किसी ने फेंक दिया जलता सिगरेट, धमाक में 62 की मौत

ओडिशा: आज हो सकती है भारी बारिश

ओडिशा में कुछ समय तक बारिश रुकने के बाद रविवार से राज्य में फिर से भारी वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग के अधिकारी ने शनिवार को बताया कि उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर सोमवार तक फिर से निम्न दबाव वाला क्षेत्र बनने की संभावना है। इससे ओडिशा के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तीव्रता की बारिश हो सकती है।