×

सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को खुशखबरी, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

हरियाणा सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। इसके अनुसार नए साल में सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को नई योजना का लाभ मिलने लगेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कैबिनेट बैठक में यह ऐलान किया है।

Newstrack
Updated on: 20 Dec 2020 1:26 PM GMT
सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को खुशखबरी, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला
X
नया साल शुरू होने में सिर्फ कुछ ही समय बचा है। इससे पहले सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए बड़ी खुशखबरी मिली है। सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

चंडीगढ़: नया साल शुरू होने में सिर्फ कुछ ही समय बचा है। इससे पहले सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए बड़ी खुशखबरी मिली है। नए साल में सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार तोहफा देने जा रही है।

हरियाणा सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। इसके अनुसार नए साल में सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को नई योजना का लाभ मिलने लगेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कैबिनेट बैठक में यह ऐलान किया है। अब हरियाणा के सरकारी कर्मचारियों एवं पेंशनभोगियों को कैशलैस हेल्‍थ स्‍कीम की सुविधा मिलेगी।सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के लगभग 18 लाख परिवारों को सीधा लाभ पहुंचेगा।

बता दें कि अभी तक व्‍यवस्‍था थी सिर्फ कर्मचारियों एवं उनके आश्रितों के इलाज का खर्च ही सरकार वहन करती थी। अब नई योजना में पेंशनर्स को भी फायदे के दायरे में रखा गया है। उनके आश्रितों को भी पात्रता मिलेगी। इसके अलावा खर्च की ऊपरी सीमा को भी खत्म कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें...करोड़ों राशन कार्ड धारकों के खाते में पैसा, खुशी से झूम उठा हर कोई

Employees

वर्तमान नियम के मुताबिक, सरकार की तरफ से 5 लाख रुपए तक की राशि का भुगतान किया जाता है। अब यह सीमा भी समाप्त कर दी जाएगी। सरकार ने जो नया ड्राफ्ट जारी किया है उसके मुताबिक, कैशलेस इलाज आईटी पर आधारित रहेगा।

इसका मतलब यह है कि अब कर्मचारियों का डिजिटल डेटा बेस तैयार होगा। इस व्यवस्था से यह आसानी हो जाएगी कि कर्मचारियों, पेंशनभोगियों के ऑनलाइन वेरिफिकेशन में दिक्कत उत्पन्न नहीं होगी। वर्तमान में जो योजना है, वह आईटी आधारित नहीं है।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान में भूचाल: 50 पायलटों का लाइसेंस रद्द, सामने आई ये बड़ी वजह

मौजूदा व्यवस्था की वजह से कर्मचारियों को इलाज के लिए मिलने वाली राशि में लंबा समय लग जाता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि बिल आदि उन्हें बनाना पड़ता है, जमा कराना होते हैं। इस नई योजना में बिल आदि का सिस्‍टम ही खत्म कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें...आतंकियों का खौफनाक टेप: यहां बसने वालों को चेतावनी, RSS को मारने की धमकी

इस योजना के लिए काफी लंबे समय से कर्मचारी मांग कर रहे थे। कैशलेस योजना का फायदा सिर्फ 6 रोगों में मिलेगा। इनमें कार्डिअक इमरजेंसी, ब्रेन हेमरेज, कैंसर, इलेक्ट्रिक शॉक, कोमा, एक्‍सीडेंट आदि शामिल हैं। इस प्रणाली से कर्मचारियों के पीपीओ नंबर का भी वेरिफिकेशन किया जाएगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story