BJP विधायक का विरोध, किसानों ने की ये मांग, वैक्सीनेशन सेंटर से भगाए स्वास्थ्यकर्मी

हरियाणा में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के दौरान मौके पर आने वाले स्थानीय बीजेपी विधायक लीलाराम का भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने विरोध किया। साथ ही ये मांग भी कि है कि कोरोना वैक्सीन सबसे पहले हरियाणा सरकार के मंत्रियों, विधायकों और अन्य राजनेताओं को लगाई जाए। 

Published by Shreya Published: January 16, 2021 | 3:25 pm
lilaram

बीजेपी विधायक लीलाराम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से लंबी लड़ाई के बाद आखिरकार देशभर में वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है। भारत में आज विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। इस बीच किसानों ने कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम के दौरान स्थानीय बीजेपी विधायक का विरोध किया गया। मामला हरियाणा के कैथल से है, जहां पर वैक्सीनेशन प्रोग्राम के दौरान मौके पर आने वाले स्थानीय बीजेपी विधायक लीलाराम का भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने विरोध किया।

ग्रामीणों ने की मांग पहले मंत्रियों और विधायकों को लगे टीका

इसके साथ ही ये मांग भी कि है कि कोरोना वैक्सीन सबसे पहले हरियाणा सरकार के मंत्रियों, विधायकों और अन्य राजनेताओं को लगाई जाए। उसके बाद ही आम लोगों को ये वैक्सीन दी जाए। केवल यही नहीं ग्रामीणों ने कोविड-19 वैक्सीन और अन्य मेडिकल सामान वापस भिजवा दिया। साथ ही वैक्सीनेशन सेंटर से हेल्थ वर्कर्स को भी भगा दिया।

यह भी पढ़ें: शराब वाले ध्यान दें: वैक्सीनेशन से पहले रहें सावधान, खतरनाक साइड इफेक्ट्स

bjp mla lilaram
(फाइल फोटो)

सबसे पहले BJP विधायक लीलाराम को पहले दी जाए वैक्सीन

गौरतलब है कि विधायक लीलाराम मौके पर नहीं पहुंचे, लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन सबसे पहले भारतीय जनता पार्टी के विधायक लीलाराम को ही दी जानी चाहिए। बता दें कि देशभर में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत (Covid 19 Vaccination In India) में शुरू हो गया है। जिसे लेकर लोगों में काफी ज्यादा एक्साइटमेंट और उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: वैक्सीनेशन से पहले ये बातें जाननी जरूरी, जानें किसे नहीं लगवानी है वैक्सीन

इन लोगों को दी जा रही है प्राथमिकता

क्सीनेशन के शुरुआती चरण में हेल्थ वर्कर्स, कोरोना वॉरियर्स, 50 से ज्यादा उम्र वाले और किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों प्राथमिकता दी जा रही है। ये चरणबद्ध तरीके से आम लोगों तक पहुंचेगी। वैक्सीनेशन अभियान के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कुल 3006 वैक्सीनेशन सेंटर्स बनाए गए हैं। बताया गया है कि अभियान के पहले दिन लाख हेल्थ वर्कर्स को को वैक्सीन लगाई जानी है।

यह भी पढ़ें: वैक्सीन लगवाने से पहले जान लें साइड इफेक्ट्स, मंत्रालय ने दी ये जानकारी

क्या होंगे साइड इफेक्ट्स

अगर बात करें वैक्सीन के साइड इफेक्ट के बारे में तो स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया है कि कोरोना वैक्सीन लेने के बाद कुछ लोगों को हल्के बुखार, इंजेक्शन लेने वाली जगह पर दर्द और शरीर में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जो कि कुछ अन्य टीकों के बाद होने वाले दुष्प्रभावों के समान ही है। हालांकि टीका लेने के कुछ वक्त बाद यह ठीक हो जाएगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App