दुनिया कोरोना से लड़ रही और चीन एशिया की बड़ी इकॉनमी में कर रहा ताबड़तोड़ निवेश

एशिया की सबसे बड़ी इकॉनमी चीन ने कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर के शेयर बाजारों में आई गिरावट का फायदा उठाना शुरू कर दिया है।पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने हाउजिंग लोन देने वाली देश की दिग्गज कंपनी HDFC लिमिटेड के 1.75 करोड़ शेयर खरीद लिए हैं।

नई दिल्ली: एशिया की सबसे बड़ी इकॉनमी चीन ने कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर के शेयर बाजारों में आई गिरावट का फायदा उठाना शुरू कर दिया है।

पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने हाउजिंग लोन देने वाली देश की दिग्गज कंपनी HDFC लिमिटेड के 1.75 करोड़ शेयर खरीद लिए हैं।  शेयर बाजार से मिले आंकड़ों के मुताबिक, चीन के केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी लिमिटेड के 1,74,92,909 शेयर खरीदे हैं, जो कंपनी की एक फीसदी हिस्सेदारी है।

ये भी पढ़ें…मिसाल बनी महिला अफसर: पूरे देश में हो रही चर्चा, ऐसे लड़ रही हैं कोरोना से जंग

चीन मौके का उठा रहा फायदा

चीन के केंद्रीय बैंक ने यह खरीदारी ऐसे वक्त में की है, जब कोरोना वायरस महामारी के कारण एचडीएफसी लिमिटेड के शेयरों में बड़ी गिरावट आई है।

फरवरी के पहले सप्ताह के बाद से लेकर अब तक शेयर में 41% की गिरावट आ चुकी है।एचडीएफसी लिमिटेड के वाइस चेयरमैन एवं सीईओ केकी मिस्त्री ने कहा है कि पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना के पास मार्च 2019 तक कंपनी में हिस्सेदारी 0.80% थी, जो मार्च 2020 में बढ़कर 1.01% पर पहुंच गई।

कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर के शेयर बाजारों में आए भूचाल के बाद चीन एशिया के बड़े देशों की कंपनियों में ताबड़तोड़ हिस्सेदारी खरीद रहा है।  हाल के वर्षों में चीन ने पाकिस्तान तथा बांग्लादेश सहित एशियाई देशों में खासकर इनफ्रास्ट्रक्चर तथा टेक्नॉलजी कंपनियों में निवेश में भारी बढ़ोतरी की है।

पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 5 हजार पार

ये भी पढ़ें…कोरोना वायरस: चीन ने भारत को दी 1.7 लाख PPE किट, जानिए क्या है इसका काम

आज दुनिया जिस स्थिति में उसका जिम्मेदार सिर्फ चीन

आज दुनिया जिस स्थिति से जूझ रही है, उसका जिम्मेदार सिर्फ चीन है। चीन ने दुनिया को कोरोना वायरस के रूप में मौत का तोहफा दिया।

चीन ने शुरुआत में जहां कोरोना की जानकारी दुनिया से छिपाई, वहीं, इसके सामने आने के बाद पर्याप्त समय लेकर इसे दुनियाभर में फैला दिया।  आज दुनिया में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 16 लाख पार कर चुका है।

वहीं जल्द इससे मरने वालों की संख्या भी एक लाख पहुंच जाएगा। चीन के मुताबिक, ये वायरस दुनिया में जानवरों से इंसान में फैला।

लेकिन कई लोगों का कहना है कि कोरोना चीन का बायोलॉजिकल हथियार है, जिससे वो दुनिया में शक्तिशाली देश का तमगा हासिल करना चाहता है। आज हम आपको उस लैब के अंदर की तस्वीरें दिखाते हैं, जहां इस वायरस को तैयार किये जाने की बात कही गई।

ये तो घर से निकली ही नहीं, फिर भी पकड़ लिया कोरोना वायरस ने

ये भी पढ़ें…चीन के बाद अब ये तीन देश जल्द कर सकते हैं लॉकडाउन खत्म करने का एलान

वुहान से फैला कोरोना

वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी वुहान में बने दो प्रमुख लैब में से एक है। दूसरे लैब का नाम वुहान सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल है। ये दोनों लैब वुहान हुआन सीफूड होलसेल मार्केट के काफी नजदीक है। चीन का दावा है कि इसी मार्केट से कोरोना दुनिया में फैला।

अमेरिका के बायोसिक्युरिटी प्रोफेसर रिचर्ड ऐबराइट के मुताबिक, उन्होंने चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में अंदर वायरस का ट्रीटमेंट करते हुए वर्कर्स को देखा है।

एक तो कोरोना ऊपर से रोना, पांच लोगों का एक साथ ऐसे हो रहा ईलाज