भारत की बड़ी कामयाबी, पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे 13 लोग गिरफ्तार

कथित जासूसी मामले में दो लोगों समेत 13 नौसेना कर्मियों को गिरफ्तार किया गया है। इन लोगों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों ने सोशल मीडिया पर हनी ट्रैप के जरिये अपने जाल में फंसा लिया था।

नई दिल्ली: कथित जासूसी मामले में दो लोगों समेत 13 नौसेना कर्मियों को गिरफ्तार किया गया है। इन लोगों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों ने सोशल मीडिया पर हनी ट्रैप के जरिये अपने जाल में फंसा लिया था।

पुलिस ने इन लोगों को मुंबई, कारवाड़ और विशाखापट्टनम समेत देश के कई नौसैनिक अड्डों से पकड़ा। इन लोगों पर फेसबुक समेत अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल के जरिये भारतीय नौसेना की संवेदनशील जानकारी लीक करने का आरोप है।

नौसेना के सूत्रों ने बताया कि पकड़े गए नौसेना कर्मियों के सोशल मीडिया प्रोफाइल को खंगाला जा रहा है और इस बात की जांच की जा रही है कि उनके किन संदिग्ध लोगों से संबंध हैं।

आंध्र प्रदेश पुलिस, नौसेना की खुफिया और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने संयुक्त रूप से यह कार्रवाई तब शुरू की, जब बीते दिसंबर में जासूसी मामले में शामिल सात नौसेना कर्मियों को गिरफ्तार किया था। मामले की जांच कर रही आंध्र प्रदेश पुलिस को नौसेना की खुफिया इकाई पूरा सहयोग दे रही है।

पाकिस्तान ने फिर खेला नापाक खेल, मसूद अजहर को परिवार सहित बताया लापता

नौसेना ने स्मार्टफोन और फेसबुक पर लगा रखी है रोक

नौसेना कर्मियों द्वारा सोशल मीडिया के दुरुपयोग की खबरें सामने आने के बाद भारतीय नौसेना ने अपने कर्मियों को फेसबुक जैसे सोशल मीडिया उपकरण और स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर सख्ती से रोक लगा दी है। हालांकि, इस तरह की पाबंदी सेना और वायुसेना ने अपने कर्मियों पर नहीं लगाई है। बीते कुछ माह में सेना और वायुसेना में भी ऐसे मामले देखने को मिले हैं।

भारत की पाकिस्तान पर बहुत बड़ी जीत, मिले 325 करोड़, जानिए पूरा मामला

अचानक पाबंदी से परिवार वालों से संपर्क करना मुश्किल

नौसेना के सूत्रों ने बताया कि स्मार्टफोन पर अचानक पाबंदी लगाने से कर्मियों के बीच बहस छिड़ गई है। उन्हें अपने परिवारों से संपर्क करने में मुश्किलें आ रही हैं। नौसेना ने पुरानी 2जी वाले मोबाइल फोन के सीमित इस्तेमाल की अनुमति दी है, जो आसानी से जासूसों की पकड़ में आ जाती है।

इमरान के खास दोस्त की मौत: सदमे में पीएम, शोक में पाकिस्तान