×

कश्मीर में बढ़ा तनाव, अमरनाथ यात्रियों को एयर लिफ्ट करेगा सेना का ये 'महारथी'

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा कारणों की वजह से प्रशासन ने समय से पहले ही अमरनाथ यात्रा रोक दी। आतंकी हमले के अलर्ट के बाद घाटी में फंसे अमरनाथ तीर्थयात्रियों को भारतीय वायुसेना एयरलिफ्ट करके सुरक्षित स्थान पर पहुंचाएगी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 3 Aug 2019 2:08 PM GMT

कश्मीर में बढ़ा तनाव, अमरनाथ यात्रियों को एयर लिफ्ट करेगा सेना का ये महारथी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा कारणों की वजह से प्रशासन ने समय से पहले ही अमरनाथ यात्रा रोक दी। आतंकी हमले के अलर्ट के बाद घाटी में फंसे अमरनाथ तीर्थयात्रियों को भारतीय वायुसेना एयरलिफ्ट करके सुरक्षित स्थान पर पहुंचाएगी। यात्रियों को वायुसेना के विमान सी-17 ग्लोबमास्टर से कश्मीर घाटी से निकाला जाएगा और जम्मू, पठानकोट या फिर दिल्ली पहुंचाया जाएगा। इसके बाद ये अमरनाथ तीर्थयात्री अपने घर वापस जा सकेंगे।

यह भी पढ़ें...राज्यपाल ने बताया, क्यों हुई जम्मू-कश्मीर में 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती

बता दें कि शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर सरकार ने एक एडवाइजरी जारी की थी जिसमें कहा गया था कि घाटी में आए सभी सैलानी और अमरनाथ यात्री को जल्द से जल्द वापस लौट जाएं।

गौरतलब है कि सी-17 विमान पहले से ही देश के कई हिस्सों से अर्द्धसैनिक बलों को कश्मीर घाटी में पहुंचा रहा है। सी-17 ग्लोबमास्टर एक बार में करीब 230 पैसेंजरों को एयरलिफ्ट कर सकता है और उड़ान के मामले में रूस के इल्यूशिन-76 से कम समय लेता है।

यह भी पढ़ें...उमर ने की राज्यपाल से मुलाकात, कहा- जम्मू-कश्मीर पर संसद में बयान दे सरकार

सरकार को मिली इंटेलिजेंस रिपोर्ट में कहा जा रहा था कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका है। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद अमरनाथ यात्रियों और राज्य में तैनात सुरक्षा बलों पर हमला करने की योजना बना रहा है।

यह भी पढ़ें...टी-20 में वेस्टइंडीज और टीम इंडिया की भिड़ंत, ये हो सकती है Playing XI

सुरक्षा एजेंसियों को मिले इनपुट्स के बाद ही सरकार ने एडवाइजरी जारी कर सैलानियों को घाटी से वापस जाने के लिए कहा। घाटी में सैनिकों की भारी तैनाती का फैसला भी इन्हीं खुफिया रिपोर्ट्स के बाद ही लिया गया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story