Top

चीन की खैर नहीं: फिंगर-4 पर पहुंचे भारतीय जवान, दक्षिण में 4 चोटियों पर किया कब्जा

Shreya

By Shreya

Published on 10 Sep 2020 5:13 AM GMT

चीन की खैर नहीं: फिंगर-4 पर पहुंचे भारतीय जवान, दक्षिण में 4 चोटियों पर किया कब्जा
X
पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच भारतीय सेना के जवान फिंगर 4 पर भी पहुंच गए हैं, जहां वो चीनी सैनिकों से एक दम आमने सामने हें।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच भारतीय सेना के जवान फिंगर 4 पर भी पहुंच गए हैं, जहां वो चीनी सैनिकों से एक दम आमने सामने हें। बता दें कि हाल ही में भारतीय सेना ने कहा था कि पैंगोंगे-त्सो लेक के (Pangong Lake) उत्तर में सैनिकों की तैनाती को रि-एडजस्टमेंट किया गया है। वहीं भारतीय सेना ने चीनी सैनिकों को खदेड़ते हुए पैंगोंग-त्सो लेक के दक्षिण में जिन जिन चोटियों पर कब्जा किया है, वहां-वहां अपने कैंप के चारों ओर कटीली तार लगा दी है।

कटीली तारों को ना पार करने की चेतावनी

भारत ने पैंगोंगे-त्सो लेक के दक्षिण में इन चोटियों में गुरंग हिल, मगर हिल, मुखपरी, रेचिन ला शामिल है। साथ ही चीनी सेना को यह स्ष्ट कर दिया है कि अगर वो इन कटीली तारों को पार करने या हटाने की कोशिश करते हैं तो उसका एक प्रोफेशनल आर्मी की तरह ही जवाब दिया जाएगा। बता दें कि जब चीनी सैनिकों ने 29-30 अगस्त की रात घुसपैठ करने की कोशिश की थी, तब भारतीय सैनिकों ने उन्हें अपनी मुस्तैदी से खदेड़ते हुए इन चोटियों पर अपना अधिकार जमा लिया था।

यह भी पढ़ें: महंगाई से मिली राहत: सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, फटाफट चेक करें अपने शहर का रेट

Indian Soldiar LAC पर करीब 50 हजार सैनिकों की तैनाती (सोशल मीडिया)

LAC पर चीन ने की 50 हजार सैनिकों की तैनाती

बताया जा रहा है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी LAC पर चीन के करीब 50 हजार सैनिकों की तैनाती है। वहीं भारत की ओर से भी यहां पर चीन के बराबर ही सैनिकों की तैनाती की गई है। क्योंकि घुसपैठ के बाद बिगड़े हालात को सुधारने के लिए हुई ब्रिगेडियर स्तर की मीटिंग का कुछ ठोस नतीजा निकलकर सामने नहीं आया है, इसलिए सीमा पर शांति माहौल बहाल करने के लिए आने वाले दिनों में कोर कमांडर स्तर की बैठक की जा सकती है।

यह भी पढ़ें: बेरोजगारो के साथ खड़ी सपा: रात में जलाई मशाल, घरों पर किया अंधेरा

रात में भी वायुसेना कर रही निगरानी

चीन की लगातार नापाक हरकतों के बाद भारत अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता इसलिए लेह में वायुसेना की नाइट कॉम्बेट एयर पेट्रोलिंग हो रही है। यानी अब दिन के साथ साथ रात में भी वायुसेना के फाइटर जेट्स हवाई निगरानी कर रख रहे हैं।

यह भी पढ़ें: नवाज शरीफ भगोड़ा करार: गिरफ्तारी वारंट जारी, जरदारी-गिलानी भी दोषी

सात सितंबर को हुई थी फायरिंग

भारत और चीन की सेना के बीच बुधवार को 4 घंटे तक ब्रिगेड कमांडर स्तर की बातचीत हुई। इस बात पर सहमति बनी है कि दोनों तरफ से कॉर्प्स कमांडर चर्चा करेंगे। बता दें कि 7 सितंबर को दक्षिणी इलाके में चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश की थी और चेतावनी के तौर पर फायरिंग की थी। ऐसा 1975 के बाद पहली बार हुआ था जब दोनों सेनाओं के बीच फायरिंग हुई हो।

यह भी पढ़ें: भारत-चीन तनाव: अब यहां खतरनाक साजिश रच रहा ड्रैगन, तैयार है भारतीय सेना

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story