×

सेना प्रमुख बोले- भारत दुनिया को दे रहा है दवाइयां, पाकिस्तान आतंकवाद

कश्मीर दौरे पर पहुंचे भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने शुक्रवार को कहा कि दुनिया कोरोना वायरस को मात देने में लगी हुई है। भारत दुनिया की मदद कर रहा है और दवाइयां निर्यात कर रहा है।

Dharmendra kumar
Updated on: 17 April 2020 3:25 PM GMT
सेना प्रमुख बोले- भारत दुनिया को दे रहा है दवाइयां, पाकिस्तान आतंकवाद
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

श्रीनगर: कश्मीर दौरे पर पहुंचे भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने शुक्रवार को कहा कि दुनिया कोरोना वायरस को मात देने में लगी हुई है। भारत दुनिया की मदद कर रहा है और दवाइयां निर्यात कर रहा है। लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और आतंकवाद का एक्सपोर्ट करने में लगा हुआ है।

गौरतलब है कि सेना प्रमुख दो दिवसीय दौरे पर जम्मू-कश्मीर पहुंचे हैं। दौरे के दूसरे दिन यानी शुक्रवार को उन्होंने विभिन्न सैन्य प्रतिष्ठानों का दौरा कर जवानों का हौसला बढ़ाया। इससे पहले उन्होंने गुरुवार को कश्मीर पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की।

यह भी पढ़ें...इतना आसान नहीं कोरोना से छुटकारा पाना, वैक्सीन बनाने में लगेगा समय

इस दौरान सेना प्रमुख ने कहा कि कश्मीर में विकास, शांति और समृद्धि के नए युग की शुरुआत हुई है। घाटी में हर हाल में शांति व्यवस्था को बहाल रखना है। इसके लिए सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए हर समय तैयार रहने की जरूरत है। सेना प्रमुख को चिनार कोर के कमांडर ने घाटी में सुरक्षा स्थिति के बारे में बताया। साथ ही एलओसी पर सुरक्षा हालात और पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है, जिसका सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है। दुश्मनों की नापाक हरकतों को किसी भी सूरत में सफल नहीं होने दिया जाएगा। एलओसी पर घुसपैठ की कोशिशों को लगातार सतर्क जवान नाकाम बना रहे हैं।

यह भी पढ़ें...कोरोना पर बड़ी खबर: JBRC ने खोज ली ये चीज, वैक्सीन बनाने में मिल सकती है सफलता

सेना प्रमुख ने कहा कि घाटी में शांति और सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने में सभी सुरक्षा एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल से नतीजा सकारात्मक रहा है। इसके साथ ही सेना ने कोरोना के प्रसार को रोकने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके बाद उन्होंने 92 बेस अस्पताल का दौरा कर वहां उपलब्ध सुविधाओं और किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी हासिल की। सैन्य अस्पताल के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि यह घाटी की जीवनरेखा है। यहां के डाक्टर और स्टाफ ने बेहतर काम किया है।

यह भी पढ़ें...भारत के इन 4 संस्थानों में हो रहा कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च, जानिए इनके बारे में

उन्होंने सिविल सोसाइटी के सदस्यों से भी मुलाकात की। उनके साथ उत्तरी कमान प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल वाईके जोशी, चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू भी थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story