रेलवे का नया रिकॉर्ड: अब इससे दौड़ेंगी ट्रेनें, दुनिया में पहली बार होगा ऐसा

भारतीय रेलवे (Indian Railways) लगातार नए कीर्तिमान रच रहा है। अब रेलवे अपने नाम एक और रिकॉर्ड करने जा रहा है। अब भारतीय रेलवे की पटरियों पर ट्रेनें सोलर पावर की बिजली से दौड़ेंगीं।

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे (Indian Railways) लगातार नए कीर्तिमान रच रहा है। अब रेलवे अपने नाम एक और रिकॉर्ड करने जा रहा है। अब भारतीय रेलवे की पटरियों पर ट्रेनें सोलर पावर की बिजली से दौड़ेंगीं। रेलवे का दावा है कि दुनिया के इतिहास में ऐसा पहली बार है, जब ट्रेनों को चलाने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग किया जाएगा। दुनिया में ऐसा करने वाला भारत पहला देश बन गया है।

यह भी पढ़ें: सावन के पहले सोमवार के मौके पर मनकामेश्वर मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु, देखें तस्वीरें

बीना में स्थापित किया गया सोलर पावर प्लांट

दरअसल, रेलवे ने अपने पायलट प्रोजेक्ट के तहत मध्य प्रदेश के बीना में सोलर पावर प्लांट (Solar power plant) को स्थापित किया है। इस प्लांट से करीब 1.7 मेगा वाट की बिजली का उत्पादन हो सकता है। इसी बिजली से ट्रेनों को पटरियों पर दौड़ाने की तैयारी है। इस पावर प्लांट से जो बिजली पैदा होगी, उसे डायरेक्ट रेलवे के ओवरहेड पर ट्रांसफर किया जाएगा और इसी की मदद से ट्रेनों को पटरियों पर दौड़ाया जाएगा। इस परियोजना के लिए पिछले साल नवंबर में नींव रखी गई थी।

यह भी पढ़ें: नहीं रहे होंगे ऐसे होटल मेंः सोने की बनी है हर चीज, बर्तनों तक पर चढ़ी है परत

BHEL के सहयोग स्थापित किया गया पावर प्लांट

BHEL के सहयोग से मध्य प्रदेश के बीना में रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर सोलर पावर प्लांट को स्थापित किया गया, जिसकी क्षमता 1.7 मेगावाट है। पूरी दुनिया में अब तक ट्रेनों को चलाने के लिए ऐसा पावर प्लांट नहीं लगा है। दुनिया के किसी भी रेलवे नेटवर्क ने ट्रेनों को चलाने के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल अब तक नहीं किया है। भारतीय रेलवे ने ट्रेनों के कुछ डिब्बों की छत पर सौर ऊर्जा पैनल भी लगाए हैं, जिनसे डिब्बों में बिजली की आपूर्ति हो रही है।

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड के दो दिग्गज भिड़ेः शुरू हुई जंग, ताकत खत्म करने को चले जा रहे दांव

सोलर प्लांट से होगा सालाना 24.82 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन

इस सोलर प्लांट से सालाना 24.82 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। इस प्लांट से सालाना रेलवे के बिजली बिल में 1.37 करोड़ रुपये की बचत होगी। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, रेलवे की कुल 3 गीगावाट क्षमता वाला सोलर पावर प्लांट लगाने की योजना है। अगले दो तीन सालों में इन्हें तैयार करने का काम पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए टेंडर्स को आमंत्रित किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: हमले में जुटे राहुलः अब हारवर्ड का नाम लेकर मोदी पर कसा तीखा तंज

इससे पहले रेलवे ने बनाया था ये रिकॉर्ड

बता दें कि रेलवे आए दिन नए-नए रिकॉर्ड अपने नाम कर रहा है। इससे पहले रेलवे ने पटरियों पर 2.8 किलोमीटर लंबे शेषनाग ट्रेन के दौड़ने के साथ ही एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया है। बता दें कि ‘शेषनाग’ भारतीय रेल पर चलने वाली अब तक की सबसे लंबी ट्रेन है। इससे एक दिन पहले ही सुपर एनाकोंड़ा ट्रेन को पटरियों पर दौड़ाकर रेलवे ने इतिहास रचा था। लेकिन शेषनाग पटरियों पर दौड़ा कर रेलवे ने एक ही दिन में सुपर एनाकोंडा का रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया।

यह भी पढ़ें: कारगिल युद्ध में भारत के इस ‘बहादुर’ ने चटाई धूल, पाकिस्तान ने नाम दिया चुड़ैल

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App