×

LOC पर 300 आतंकवादी: सेना हथियारों के साथ हुई अलर्ट, जंग को तैयार भारत

LOC आतंकियों द्वारा घुसपैठ की कोशिशें लगातार जारी हैं। ऐसे में सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर(JAMMU KASHMIR) में नियंत्रण रेखा पर माछिल सेक्टर में यह सुनिश्चित करने के लिए अभियान अब भी जारी है कि क्षेत्र में कहीं कोई अन्य आतंकवादी तो मौजूद नहीं है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 9 Nov 2020 12:51 PM GMT

LOC पर 300 आतंकवादी: सेना हथियारों के साथ हुई अलर्ट, जंग को तैयार भारत
X
इस बात के भी इनपुट्स मिले हैं कि जम्मू और कश्मीर में होने वाले जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के चुनाव ने भी आतंकवादियों और पाकिस्तान को परेशान किया हुआ है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीनगर। लाइन ऑफ कंट्रोल(LOC) आतंकियों द्वारा घुसपैठ की कोशिशें लगातार जारी हैं। ऐसे में सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर(JAMMU KASHMIR) में नियंत्रण रेखा पर माछिल सेक्टर में यह सुनिश्चित करने के लिए अभियान अब भी जारी है कि क्षेत्र में कहीं कोई अन्य आतंकवादी तो मौजूद नहीं है। दरअसल रविवार को उत्तरी कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में आतंकवादियों की घुसपैठ करने की साजिश के चलते एक अधिकारी समेत तीन सैन्यकर्मी और बीएसएफ का एक कांस्टेबल शहीद हो गया था। साथ ही भारतीय सुरक्षाबलों ने इस दौरान साजिश की कोशिश कर रहे 3 आतंकवादियों को मार गिराया था।

ये भी पढ़ें...असल विलेन अर्जुन रामपाल: बुरे फंस गए ये दिग्गज एक्टर, ताबड़तोड़ एक्शन जारी

250-300 आतंकवादी घुसपैठ

ऐसे में बीएसएफ के अतिरिक्त महानिदेशक सुरिंदर पवार ने कहा, ‘अभियान अब भी जारी है। क्षेत्र काफी दुर्गम और ऊंचा-नीचा है। हम स्वयं को इस बारे में संतुष्ट करना चाहेंगे कि वहां कोई आतंकवादी नहीं है। नियंत्रण रेखा पर लगभग 250-300 आतंकवादी घुसपैठ का इंतजार कर रहे हैं। हमारी घुसपैठ रोधी ग्रिड काफी मजबूत है और इसकी क्षमताओं में सुधार एक नियमित कवायद है।’

बता दें, महानिदेशक श्रीनगर के बाहरी इलाके में बीएसएफ एसटीसी, हुमहामा में कांस्टेबल सुदीर सरकार को श्रद्धांजलि अर्पित करने के कार्यक्रम में मौजूद थे। यहां पवार ने कहा कि यह घुसपैठ का प्रयास था, न कि पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) का हमला। सुरक्षाबलों को एक पखवाड़े पहले घुसपैठ के आतंकवादियों के प्रयास के बारे में सूचना मिली थी।

ARMY फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...बम धमाके से हिला देश: दर्जनों की मौत आतंकियों के भयानक हमले से, चुप है सरकार

आतंकवादियों को चुनौती

आगे महानिदेशक पवार ने कहा, ‘हमें लगभग 15 दिन पहले सूचना मिली थी कि आतंकवादी घुसपैठ की कोशिश करेंगे। इसलिए हमारी घात लगाकर कार्रवाई करने वाली एवं गश्ती टीम ने क्षेत्र में रात के समय पहरेदारी की। रविवार रात को लगभग एक बजे गश्ती टीम को कुछ संदिग्ध गतिविधियां दिखीं और उसने आतंकवादियों को चुनौती दी।

सीमा पर जारी इस मुठभेड़ में आतंकवादियों ने गोलीबारी कर दी। जिससे कांस्टेबल सरकार बुरी तरह घायल हो गए। वह वीरता से लड़े और शहीद होने से पहले एक आतंकवादी को मार गिराया।’ दो अन्य आतंकवादी घटनास्थल से भाग गए और बीएसएफ ने इसकी सूचना अपनी अन्य चौकियों तथा सेना को दी। फिलहाल घाटी में चारों तरफ सेना की घेराबंदी है।

ये भी पढ़ें...राजद के युवराज तेजस्वी यादव का मना जन्मदिन, बिहार में सरकार बनने की उम्मीद

Newstrack

Newstrack

Next Story