LOC पर ताबड़तोड़ गोलाबारी: सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब, अभी भी जारी मुठभेड़

जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में आतंकियों ने एक बार फिर से नापाक साजिश रचने की कोशिश की है। लाइन ऑफ कंट्रोल(LOC) पर सोमवार यानी आज पाकिस्तान की तरफ से ताबड़तोड़ गोलाबारी की गई। जिसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया है।

loc indian army

फोटो-सोशल मीडिया

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में आतंकियों ने एक बार फिर से नापाक साजिश रचने की कोशिश की है। लाइन ऑफ कंट्रोल(LOC) पर सोमवार यानी आज पाकिस्तान की तरफ से ताबड़तोड़ गोलाबारी की गई। जिसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। सेना रक्षा प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि सीमापार स्थित शाहपुर, किरनी और कस्बा सेक्टर से “बिना उकसावे” के गोलाबारी की गई और यह दोनों पक्षों के बीच हुए संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन था।

ये भी पढ़ें… ड्रग्स में श्रद्धा का नाम: पर्सनल चैट से हुआ खुलासा, बॉलीवुड का काला सच सामने

सीमा पार से गोलाबारी जारी

रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने अपराह्न ढाई बजे के आसपास मोर्टार दागे और छोटे हथियारों से गोलीबारी शुरू की। उन्होंने कहा कि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। आखिरी समाचार मिलने तक सीमा पार से गोलाबारी जारी थी।

बता दें, इससे पहले 17 सितंबर को सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर गये थे और उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (LOC) के पास की स्थिति का जायजा लिया।

ये भी पढ़ें…सरकार का झूठा खेल: भर्ती मामले में जनता की आंखों में धूल झोंकता प्रशासन

Indian soldiers
फोटो-सोशल मीडिया

संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं

रक्षा प्रवक्ता ने इस बारे में पूरी जानकारी दी। पाकिस्तानियों की गोलाबारी के बारे में एक बयान में 15 वीं कोर के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तैनात सैनिकों के साथ संवाद के दौरान सेना प्रमुख ने उनके मजबूत मनोबल की सराहना की और पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं पर उनकी कार्रवाई की तारीफ की।

ये भी पढ़ें…नदियों में आतंकी घर: ऐसे दे रहे सेना को चकमा, नहीं कामयाब हुई ये भी साजिश

इसके साथ ही सेना प्रमुख ने प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से एलओसी(LOC) के पास दिन-रात प्रभावी निगरानी सुनिश्चित करने के कदमों की भी सराहना की। वहीं इससे घुसपैठ के कई प्रयासों को नाकाम करने में सहायता मिली है।

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने सीमाई क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों की भी हरसंभव मदद करने को कहा। इसके साथ ही रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि बाद में उन्होंने भीतरी इलाकों में तैनात कमांडरों और सैनिकों के साथ बातचीत करते हुए हाल-चाल जाना।

ये भी पढ़ें…इमरान को झटका: पाकिस्तान में ही रची जा रही साजिश, किया गया गठबंधन

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App