सिर्फ रक्त की एक बूँद: ऐसे मिनटों में कोरोना सामने, आप भी जानिए

कोरोना महामारी के खिलाफ भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने लड़ाई पर लगाम और तेज कर दी है। आईसीएमआर ने रैपिड एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के खिलाफ भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने लड़ाई पर लगाम और तेज कर दी है। आईसीएमआर ने रैपिड एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। परिषद के अध्यक्ष डॉ. बलराम भार्गव ने सरकार को पत्र लिखकर राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों से यह जांच शीघ्र शुरू करने को कहा है। इस जांच से 15 से 30 मिनट में रिजल्ट आ जाते हैं।

ये भी पढ़ें…बिना लक्षणवाले मरीज फैलाते हैं सबसे ज्यादा वायरस

खून की एक बूंद के जरिए जांच

ऐसे में जिन क्षेत्रों में कोरोना मरीज या संदिग्ध ज्यादा तादात में मिल रहे हैं, वहां इन्फ्लुएंजा जैसे मामले स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रहेंगे। यदि संक्रमण दर बढ़ती है तो इसकी जानकारी निगरानी अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को देनी होगी।

ये जांच खून की एक बूंद के जरिए संभव है। इससे पता किया जा सकेगा कि रोगी को संक्रमण है या नहीं। ये किट अभी आईसीएमआर द्वारा चिन्हित जांच केंद्रों पर ही मिलेगी। नामित स्वास्थ्यकर्मी ही इस किट से जांच कर सकेंगे।

पॉजिटिव: संक्रमण की संभावना। डॉक्टरी जांच जरूरी है, इलाज के साथ आइसोलेशन।

इन्फ्लुएंजा जैसे लक्षण: कफ, सर्दी-जुकाम, हल्का बुखार, गले में संक्रमण।

संक्रामक क्षेत्र, संदिग्धों की भीड़ और विस्थापन केंद्रों पर पहले रैपिड टेस्ट।

स्थिति खराब : लक्षण बढ़ गए, हालत खराब होने पर रोगी को तुंरत कोरोना इलाज के लिए अस्पताल भेजा जाए।

ये भी पढ़ें…बिना लक्षणवाले मरीज फैलाते हैं सबसे ज्यादा वायरस

देश में कोरोना वायरस (COVID-19) के 505 नए कंफर्म मामले सामने आए हैं, जिससे देश में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,577 हो गई है। इसके अलावा कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या भी बढ़कर 83 हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आज सुबह 9 बजे जारी किए गए आंकड़े के अनुसार देश में अब तक 109 लोगों की मौत हो गई है। वहीं अब तक 4,067 मामले सामने आ गए हैं। 3,666 का इलाज चल रहा है। 291 लोग ठीक हो गए हैं। पिछले 12 घंटे में 490 मामले बढ़े हैं। भोपाल में कोरोना वायरस से 62 साल के व्यक्ति की रविवार रात को मौत हो गई।

ये भी पढ़ें…कोरोना की वजह से बंद हुई एयरलाइंस, कर्मचारियों पर मंडराया ये बड़ा संकट