चीन की तरफदारी के आरोप पर कमलनाथ बिफरे, BJP नेताओं को भेजा कानूनी नोटिस

मध्यप्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच तीखी तकरार का दौर चल रहा है। भाजपा की ओर से हाल में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ….

अंशुमान तिवारी

भोपाल: मध्यप्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच तीखी तकरार का दौर चल रहा है। भाजपा की ओर से हाल में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर केंद्रीय वाणिज्य मंत्री रहने के दौरान चीनी कंपनियों को मदद पहुंचाने का बड़ा आरोप लगाया गया था। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ अब इस बाबत बड़ा कदम उठाते हुए भाजपा के दो वरिष्ठ नेताओं को कानूनी नोटिस भिजवाए हैं। कमलनाथ ने इन दोनों नेताओं से माफी मांगने को भी कहा है और माफी न मांगने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। कमलनाथ की ओर से भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा को ये कानूनी नोटिस भेजा गया है।

ये भी पढ़ें: भारत का यह गांव: यहां हर घर में हैं सैनिक, कई पीढ़ियों से चली आ रही परंपरा

भाजपा ने बताया था चीनी एजेंट

भाजपा की ओर से पिछले दिनों कमलनाथ पर बड़ा हमला बोलते हुए उन्हें चीनी एजेंट तक की संज्ञा दी गई थी। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार में वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय का प्रभार संभालने के दौरान कमलनाथ ने चीन को फायदा पहुंचाया। उन्होंने कमलनाथ पर चीन के हित में काम करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि इस संबंध में खुलासा हो चुका है और यह ऑन रिकॉर्ड है।

चीन को ऐसे पहुंचाया फायदा

भाजपा नेता ने कहा‌ था कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और कांग्रेस के बीच बहुत सारी बातों को लेकर समझौता हुआ। एक समझौता यह भी हुआ कि भारत में जो सामान सहजता से उपलब्ध है, उसका आयात बढ़ाया जाए। 250 सामानों को चिन्हित कर उनका आयात कम करने का फैसला किया गया। इसके साथ ही आयात पर टैक्स भी घटाने का फैसला किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार के इन कदमों से चीन को जो फायदा हुआ, उसके पैसे से कांग्रेस की मदद की गई और यह पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन के खाते में भेजा गया।

ये भी पढ़ें: इस महान बल्लेबाज ने दुनिया को कहा अलविदा, खेल जगत में शोक की लहर

कमलनाथ ने दो नेताओं को भेजा कानूनी नोटिस

कांग्रेस ने इस मामले पर जवाब देते हुए भाजपा नेताओं की घेरेबंदी की थी। अब कमलनाथ ने इस मामले में कानूनी कार्रवाई का मन बनाया है। कमलनाथ ने अपने वकील वरुण तनखा के माध्यम से प्रभात झा और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष को नोटिस भिजवाया है। कमलनाथ के वकील ने कहा कि भाजपा के दोनों नेताओं ने कमलनाथ के खिलाफ अपमानजनक बयान दिया और नोटिस में दोनों नेताओं के अपमानजनक बयानों की ओर ध्यान आकृष्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि 26 और 27 जून को कमलनाथ के खिलाफ यह अपमानजनक बयान कई अखबारों में प्रकाशित हुए थे और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भी इसका प्रसारण हुआ था।

ये भी पढ़ें: भारत हुआ आक्रामक, पहली बार हांगकांग के मुद्दे पर चीन को घेरा

माफी ने मांगी तो कानूनी कार्रवाई

कमलनाथ के वकील ने आरोपों को पूरी तरह झूठा बताते हुए कहा कि इन आरोपों के समर्थन में कोई सार्वजनिक रिकार्ड उपलब्ध नहीं है। कमलनाथ मनमोहन सिंह के सरकार में 2004 से 2009 तक केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री थे। इस दौरान उन्होंने जो भी फैसले लिए वे सभी नियमों के अनुसार ही लिए गए थे। कांग्रेस नेता की ओर से भिजवाए गए नोटिस में दोनों भाजपा नेताओं से माफी मांगने के लिए कहा गया है। माफी न मांगने की स्थिति में दोनों नेताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।

ये भी पढ़ें: कोरोना की रफ्तार में भारी तेजी, सिर्फ पांच दिनों में सामने आए इतने ज्यादा मामले

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App