विश्वास मत के लिए आधी रात तक भी इंतजार करने को तैयार: बीएस येदियुरप्पा

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि विश्वास मत के लिए वह आधी रात तक भी इंतजार करने को तैयार हैं।

नई दिल्ली: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव पर विधानसभा में तीसरे दिन सोमवार को भी चर्चा जारी रही। उधर कांग्रेस का कहना है कि बागी विधायकों के इस्तीफे पर अध्यक्ष का फैसला आने तक विश्वास प्रस्ताव पर मतविभाजन न कराया जाए।

वहीं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि विश्वास मत के लिए वह आधी रात तक भी इंतजार करने को तैयार हैं।

उन्होंने कहा, अब मैंने चीफ व्हिप सुनील से कहा कि इसे आज ही खत्म किया जाए। येदियुरप्पा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने वादा किया है कि आज इसे खत्म करेंगे और बहुमत साबित करेंगे। हम आज सदन में रात 12 बजे तक हैं।

इससे पहले स्पीकर केआर रमेश कुमार ने कहा, ‘मुझे विपक्ष के नेता से व्हाट्सऐप पर मैसेज मिले हैं कि मुझे आज विश्वास मत को खत्म कर देना चाहिए। मैं अपने शब्द पर अडिग रहना चाहता हूं।

कार्यवाही के दौरान उन्होंने कहा, ‘आज मैं एक आदेश पारित करूंगा। सुप्रीम कोर्ट का आदेश समझने में देरी हुई। सभी सदस्य सदन में गरिमा बनाए रखें। उन्होंने कहा कि यहां समय बर्बाद करने से विधानसभा, स्पीकर और विधायकों की छवि धूमिल होती है।’ विधासभा अध्यक्ष ने कहा कि कुमारस्वामी के विश्वास मत प्रस्ताव पर गुरुवार और शुक्रवार को विधानसभा में चर्चा हो चुकी है।

यह भी पढ़ें…चंद्रयान-2 लांच, अब दूर नहीं रहे चंदा मामा, 6 सितंबर को रचेंगे इतिहास

रमेश कुमार ने कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के सदस्यों से अपना भाषण तुरंत समाप्त करने को कहा ताकि विश्वास मत की प्रक्रिया सोमवार को पूरी करवाई जा सके। इस पर सदस्यों ने विरोध जताया। सत्ताधारी विधायकों ने सदन में इस मसले पर अभी और बहस की मांग की है। इसे लेकर कांग्रेस विधायकों ने सदन में हंगामा करने लगे।

यह भी पढ़ें…जानिए क्यों चांद के साउथ पोल पर उतरेगा भारत, यहां जानें सब कुछ

गठबंधन के विधायकों से अध्यक्ष ने कहा, ‘आप आज आधी रात तक चर्चा कर सकते हैं, लेकिन मुझे विश्वास मत के लिए वोटिंग आज ही करानी है।’ इसके अलावा स्पीकर रमेश कुमार ने 14 बागी विधायकों को कारण बताओ नोटिस देकर जवाब मांगा है कि विधानसभा से उनकी सदस्यता क्यों रद्द न की जाए।

यह भी पढ़ें…लखनऊ की बेटी है चंद्रयान-2 की मिशन डायरेक्टर, जानें उनके बारें में सबकुछ

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि विधायकों के न मानने और सरकार को संकट में देखकर कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं।