हथिनी कांड का सच: ऐसे हुई एक माँ की मौत, हुआ चौकाने वाला खुलासा

केरल में कुछ दिन पहले एक गर्भवती हथिनी के साथ कुल लोगों ने बहुत बुरा खिलवाड़ किया था। इन लोगों ने गर्भवती हथिनी को अनानास में पटाखे भरकर खिला दिया था। जिसको खाने के बाद उसकी मौत हो गई।

हथिनी की मौत का खुलासा: ऐसे हुई एक माँ की मौत, सामने आई चौकने वाली सच्चाई

नई दिल्ली। केरल में कुछ दिन पहले एक गर्भवती हथिनी के साथ कुल लोगों ने बहुत बुरा खिलवाड़ किया था। इन लोगों ने गर्भवती हथिनी को अनानास में पटाखे भरकर खिला दिया था। जिसको खाने के बाद उसकी मौत हो गई।हालांकि अब उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हो गई है कि हथिनी की मौत मुंह में हुए घाव-जख्मों की वजह से हुई थी, जिसका साफ-साफ मतलब वो पटाखे ही हैं।

ये भी पढ़ें…आसमान से बरसी तबाही: एक झटके में बह गई 5 km सड़क, अचानक फटा बादल

मौत किसानों की वजह से हुई या शिकारियों की वजह से

जहां हथिनी के ये वारदात हुई, वहां के वनवासियों द्वारा शुरु में अटकलें लगाई गई थीं कि हथिनी ने या तो खुद पटाखों से भरा अनानास खाया या फिर उसे किसी ने खिलाया था। अपनी चोटों के कारण हथिनी दो हफ्ते से ज्यादा समय तक कुछ भी नहीं खा पाई और मलप्पुरम जिले की वेल्लियार नदी में थकान के कारण गिर गई।

सामने आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उसकी मौत की असल वजह डूबना है। शनिवार को केरल सरकार ने ये घोषणा की कि उन्होंने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है और अन्य की तलाश जारी है। आगे कहा कि वे अभी इस बात की जांच कर रहे हैं कि मौत किसानों की वजह से हुई या शिकारियों की वजह से।

जानवरों के प्रति संवेदनशीलता कम

रिपोर्ट में मृतक हथिनी की उम्र 15 साल बताई जा रही है। इस घटना पर उस समय बहुत विवाद बढ़ गया, जब पूर्व केंद्रीय मंत्री ने मलप्पुरम जिले में जानवरों के इलाज को लेकर टिप्पणी की। बहुत से आलोचकों का कहना है कि मुस्लिम बहुल जिले में जानवरों के प्रति संवेदनशीलता कम है।

ये भी पढ़ें…नप गए थानाध्यक्ष: नौकरी पर लटकी तलवार, इस मामले में फंसे बुरी तरह

साथ ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है, ‘ओरल कैविटी (मुंह) में लगी चोटों के बाद घाव सड़ते गए। यह चोट संभावित रूप से पटाखों से लगी थीं।

खाने-पीने में असमर्थ हो गई

वहीं इसके परिणामस्वरूप उसे अत्यधिक दर्द और पीड़ा हुई और वह लगभग दो हफ्तों तक कुछ भी खाने-पीने में असमर्थ हो गई। अत्यधिक दुर्बलता और कमजोरी के कारण पानी में डूबकर उसकी मौत हो गई।’

ये भी पढ़ें…रात भर गर्भवती महिला को लेकर दौड़ा परिवार, इलाज के अभाव में तोड़ा दम

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि शव के अंदर से किसी तरह की गोली या धातु नहीं मिली है। हथिनी का पोस्टमार्टम थिरुविझामकुन्नु वन में किया गया।

इसी कड़ी में मन्नारकाड़ वन प्रभाग ने पुष्टि करते हुए कहा कि हथिनी दो महीने की गर्भवती थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि पटाखों की वजह से उसके शरीर के अंदर कई ऊतकों (टिश्यूज) को नुकसान पहुंचा था।

इसके साथ ही उसके दोनों तरफ के जबड़ों की भी काफी बुरी हालत थी। खिलवाड़ करने वालों की एक बार भी रूह नहीं कांपी हथनी के साथ इतना क्रुर काम करते हुए।

ये भी पढ़ें…डर रहा तानाशाह: उड़ते गुब्बारों से कांप उठा पूरा परिवार, जाने इसका रहस्य

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।