जानिए भारत से कहां भाग रहे रोहिंग्या, इस देश में रची जा रही बड़ी साजिश

भारत से रोहिंग्या रेफ्यूजी पलायन रहे हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक नेपाल और बांग्लादेश की आतंकी संगठन इन्हें नौकरी देने के नाम पर आतंकी साजिश में शामिल करने में लगे हैं।

नई दिल्ली: भारत से रोहिंग्या रेफ्यूजी पलायन रहे हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक नेपाल और बांग्लादेश की आतंकी संगठन इन्हें नौकरी देने के नाम पर आतंकी साजिश में शामिल करने में लगे हैं। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि नेपाल के जेहादी गुट इन रोहिंग्या रेफ्यूजी को नेपाल में बसाने के लिए फंडिंग कर रहे हैं।

तो वहीं बांग्लादेश का आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश अब नई साजिश रचने में लगा है। जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश (JMB) भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर रोहिंग्या को नौकरी के लालच में आतंक की ट्रेनिंग देने में लगा है।

एकतरफ भारत नेपाल सीमा के पास 378 रोहिंग्या बसाए गए हैं, तो वहीं जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश ने हरिनमारा की पहाड़ियों में रोहिंग्या को ट्रेनिंग देने की की बड़ी तैयारी की है। रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी रोहिग्यां नेपाल के कुछ बिचौलियों के संपर्क में हैं जिनकी मदद से वो नेपाल सीमा से सटे इलाकों में बसने के लिए जमीनें भी खरीद रहे हैं।

यह भी पढ़ें…हत्याओं से दहली राजधानी! छात्र को चाकूओं से गोदा, तो मजदूर को मिली दर्दनाक मौत

बीएसएफ ने भी कुछ दिनों पहले ऐसी रिपोर्ट दी थी। इस रिपोर्ट में कहा था कि रोहिंग्या की मजबूरी का फायदा उठा कर पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद बांग्लादेश के कुछ इलाकों में रोहिंग्या को रेडिकलाइज कर रहे हैं।

नेपाल में बसने के लिए इन बिचौलियों को 40-50 हजार रुपये दिए जा रहे हैं और नेपाल के ढाढिंग जिले में रोहिंग्या के करीब 35 अस्थाई घर भी देखे गए हैं जो पिछले कुछ दिनों में बने हैं।

यह भी पढ़ें…भोपाल में बड़ा हादसा, IPS अधिकारियों से भरी नाव झील में पलटी

इसी तरह लासंतूर में 104 रोहिंग्या और कुछ के पनौती जिले में बसने की खबर मिली है। नेपाल के इस्लामिक संगठन इन रोहिंग्या को नेपाल में बसने के लिए फंड मुहैया करा रहे हैं। इनमें से नेपाल में सक्रिय इस्लामिक संघ नेपाल (ISN) की गतिविधियां संदिग्ध हैं।

यह भी पढ़ें…प्रदर्शनकारियों से वार्ताकारों ने कहा- शाहीन बाग है और बरकरार रहेगा

पाकिस्तान में बैठा जैश का आतंकी कमांडर बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में रोहिंग्या को ट्रेंड कर भारत के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहा है। पाक खुफिया एजेंसी ISI ने भी रोहिंग्या को आतंकी ट्रेनिंग के लिए सऊदी अरब, मलेशिया, पाकिस्तान और यूके के जरिए फंडिंग भी कराई है।