कांप उठा लद्दाख: घरों से बाहर भागे लोग, जोरदार भूंकप से हिल गई धरती

भूकंप का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश-दुनिया में धरती भभक उठी है। आए दिन भूकंप के ताबड़तोड़ झटकों से देश कांप उठे हैं। ऐसे में लद्दाख के कारगिल में जोरदार भूकंप के झटके महसूस किये गए हैं।

EARTHQUAKE

फोटो-सोशल मीडिया

लद्दाख। भूकंप का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश-दुनिया में धरती भभक उठी है। आए दिन भूकंप के ताबड़तोड़ झटकों से देश कांप उठे हैं। ऐसे में लद्दाख के कारगिल में जोरदार भूकंप के झटके महसूस किये गए हैं। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NSS) के मुताबिक, झटकों की तीव्रता 3.6 का आया था। जानकारी देते हुए एजेंसी ने कहा कि भूकंप का केंद्र भारत के लद्दाख के कारगिल से 413 किलोमीटर उत्तर-उत्तर-पश्चिम था।

ये भी पढ़ें… हादसे से हिली BJP: मोदी का जन्मदिन बदला शोक में, 30 कार्यकर्ता बुरी तरह घायल

लोग घरों के बाहर आ गए

लद्दाख में सतह से 10 किमी की गहराई पर 12:07 बजे शुक्रवार-शनिवार की रात को जोरदार भूकंप आया। भूकंप के झटके महसूस होने के बाद लोग घरों के बाहर आ गए और कुछ देर तक घर के बाहर ही रहे। हालांकि भूकंप की वजह से किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

बता दें, मानसून सत्र के दौरान मंत्रालय ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को बताया कि देश में और आसपास भूकंप का पता लगाने और ऐसी गतिविधियों की खोज के लिए नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी (एनसीएस), एनएसएन का प्रबंधन करता है।

ये भी पढ़ें…पीएम मोदी जन्म दिवस सेवा सप्ताह: मंत्री बृजेश पाठक ने किया पौधरोपण, देखें तस्वीरें

इसके साथ ही संसद में मंत्रालय ने बताया ‘एनएसएन ने एक मार्च 2020 से आठ सितंबर 2020 तक देश में कुल 413 भूकंप दर्ज किए हैं।’ मंत्रालय के मुताबिक, 413 में से 135 भूकंप की तीव्रता 3.0 या इससे कम थी ओर इतनी कम तीव्रता के भूकंप आम तौर पर महसूस नहीं होते।

earthquake

आगे मंत्रालय ने बताया कि कम से कम 153 भूकंप की तीव्रता 3.0 और 3.9 के बीच थी। यह हल्के भूकंप थे जिन्हें लोगों ने महसूस किया लेकिन इससे कोई नुकसान नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें…Parliament Live: वित्त मंत्री ने पेश किया संशोधन विधेयक, राज्यसभा में पास

11 भूकंप की तीव्रता 5.0 से 5.7

जानकारी देते हुए मंत्रालय ने बताया कि कुल 114 भूकंप की तीव्रता 4.0 और 4.9 के बीच थी। इस श्रेणी का भूकंप बहुत बड़े क्षेत्र में महसूस किया जाता है और इससे थोड़ा-बहुत नुकसान होता है। केवल 11 भूकंप की तीव्रता 5.0 से 5.7 थी।

Earthquake
फोटो-सोशल मीडिया

भूकंप 3.5 से 4 तीव्रता के 57 झटके, 4 से 4.5 तक के 45 भूकंप, 4.5 से लेकर 5.0 तक के 51 झटके महसूस किए गए। 5.0 से लेकर 5.5 तीव्रता के कुल 9 भूकंप आए। फिर 5.5 से लेकर 6.0 तीव्रता के 2 भूकंप आए। और सबसे तगड़ा भूकंप का झटका अंडमान-निकोबार द्वीप पर 17 जुलाई को महसूस किया गया। इसकी तीव्रता 6.1 थी।

इसके बाद रिक्टर पैमाने पर 5.0 से लेकर 5.9 तीव्रता के 11 झटके महसूस किए गए। इन तीव्र 11 झटकों को देश के कई राज्यों ने महसूस किया। लोग घरों और दफ्तरों से बाहर निकल आए। कुछ जगहों पर लाइट चली गई। वहीं कुछ कमजोर इमारतों और ढांचों को मामूली नुकसान पहुंचा।

ये भी पढ़ें… कोरोना टेस्ट जरूरी: बढ़ते मामलों के चलते लिया ये फैसला, बिना लक्षण वाले भी शामिल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App