महाराष्ट्र चुनाव: जानें अमित शाह ने अपने भाषण में खून की नदियों का क्यों किया जिक्र

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के ऐलान के बाद से सभी पार्टियों ने जीत के लिए पूरा जोर लगा दिया है। नेता लगातार चुनावी सभाओं के जरिए जनता से जुड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के ऐलान के बाद से सभी पार्टियों ने जीत के लिए पूरा जोर लगा दिया है। नेता लगातार चुनावी सभाओं के जरिए जनता से जुड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…खतरनाक साजिश! ​कश्मीर में हाफिज सईद की रैली, जानें क्या है मकसद

गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र के सांगली में चुनावी जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार बनने के बाद पीएम मोदी एक ऐतिहासिक प्रस्ताव लाए, जिसके तहत कश्मीर से धारा 370 को समाप्त कर दिया।

यह भी पढ़ें…सेना ने की एयरस्ट्राइक, बिछ गईं आतंकियों की लाशें, 12 जिहादी ढेर

अमित शाह ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने 370 हटाने का विरोध किया और यहां तक कहा कि कश्मीर में खून की नदियां बह जाएंगी। 5 अगस्त 2019 को 370 हटाई गई है, अब 5 अक्टूबर भी बीत गया है, लेकिन खून की नदियां तो छोड़िए कश्मीर में एक गोली भी नहीं चलानी पड़ी है।

यह भी पढ़ें…तस्वीरें रूला देंगी: RSS कार्यकर्ता, गर्भवती पत्नी समेत बच्चे की निर्मम हत्या

अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने विकास के तो बहुत काम किए हैं, लेकिन सबसे बड़ा काम देश को सुरक्षित करने का किया है।

गृह मंत्री ने कहा कि उरी और पुलवामा में आतंकियों ने हमारे लोगों को मारा, सबको लग रहा था कि क्या होगा, लेकिन यह कांग्रेस की सरकार नहीं थी और प्रधानमंत्री 56 इंच वाले नरेंद्र मोदी थे, इसीलिए सेना ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों को मारा और वापस आ गए।