Top

'...तो अहमदाबाद में मई के अंत तक हो सकते हैं कोरोना के 8 लाख मरीज'

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके मद्देनजर लॉक डाउन की अवधि को भी बढ़ा दी गयी। लेकिन इस बीच गुजरात के एक अधिकारी ने कहा है...

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 24 April 2020 4:51 PM GMT

...तो अहमदाबाद में मई के अंत तक हो सकते हैं कोरोना के 8 लाख मरीज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके मद्देनजर लॉक डाउन की अवधि को भी बढ़ा दी गयी। लेकिन इस बीच गुजरात के एक अधिकारी ने कहा है कि अगर चार दिन में मरीजों के दोगुने होने की रफ्तार बरकरार रही तो अहमदाबाद में मई के अंत तक कोरोना के करीब आठ लाख मरीज हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें: जानिए क्या है ई-ग्राम स्वराज एप्लिकेशन, PM मोदी ने किया शुभारंभ

... हो सकते हैं कोरोना के 8 लाख मरीज

बता दें कि अब तक गुजरात में सबसे ज्यादा 1,638 संक्रमण के कन्फर्म मामले अहमदाबाद से ही सामने आए हैं।। इनमें से 1459 एक्टिव मामले हैं साथ ही 105 लोग ठीक हो चुके हैं। इसके अलावा अभी तक 75 मरीजों की इस महामारी के कारण जान जा चुकी है। अहमदाबाद नगर निगम के आयुक्त विजय नेहरा का कहना है कि हर चार दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं। अगर ऐसा ही जारी रहा तो यहां 15 मई तक 50 हजार मामले होंगे और 31 मई तक करीब आठ लाख।

ये भी पढ़ें: …तो अब तक देश में होते एक लाख से अधिक कोरोना के मरीज

उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य इस दर को कम करके आठ दिन तक ले जाना है। लेकिन यह एक बेहद मुश्किल काम होगा क्योंकि कुछ ही देश इसे हासिल कर पाए हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका और यूरोप का डबलिंग रेट अभी चार दिन है। सिर्फ दक्षिण कोरिया ही है जो अभी तक इसे आठ दिन कर पाया है। अगर हम ऐसा करने में सफल होते हैं तो 15 मई तक यह दस हजार तक जाएगा और 31 मई तक 50 हजार तक।

ये भी पढ़ें: शारीरिक दूरी बनाते हुए करें लोगों को जागरूकः प्रो. एनके तनेजा

जानिए क्या है ई-ग्राम स्वराज एप्लिकेशन, PM मोदी ने किया शुभारंभ

RPF के 9 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, TMC ने पूछा- लॉकडाउन में क्यों की यात्रा?

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story