नित्यानंद भागा विदेश! यहां छिपा बैठा है ये, पुलिस ने कहा

कई विवादों में घिरे रहे वाले स्वयंभू बाबा नित्यानंद देश छोड़कर फरार हो गया है। खबर है कि वो भारत छोड़कर इस वक्त कैरिबियाई देश त्रिनिदाद एंड टोबैगो में हो सकता है।

Published by Harsh Pandey Published: November 22, 2019 | 6:10 pm
Modified: November 22, 2019 | 7:25 pm

अहमदाबाद: कई विवादों में घिरे रहे वाले स्वयंभू बाबा नित्यानंद देश छोड़कर फरार हो गया है। खबर है कि वो भारत छोड़कर इस वक्त कैरिबियाई देश त्रिनिदाद एंड टोबैगो में हो सकता है।

दरअसल, गुजरात पुलिस ने आश्रम में नाबालिग लड़के-लड़कियों को बंधक बनाने के आरोप में उसके खिलाफ केस दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें.  पाकिस्तान डरा! अब भारत करेगा बुरा हाल, वायुसेना का बहुत बड़ा है प्लान

बताया जा रहा है कि आश्रम से दो महिला कर्मचारियों की गिरफ्तारी और उनसे पूछताछ के बाद नित्यानंद के देश छोड़ने का बात सामने आई है। पुलिस ने उसके प्रत्यर्पण के लिए विदेश मंत्रालय और एजेंसियों से संपर्क करने की बात कही है। आरोपी नित्यानंद के खिलाफ कर्नाटक में भी दुष्कर्म का केस दर्ज है।

यह भी पढ़ें. पाकिस्तान को आया चक्कर! सीमा पर तैनात हुए लाखों की संख्या में सैनिक

रवीश कुमार ने कहा…

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा कि नित्यानंद के भारत से भागने की फिलहाल पुलिस या गृह मंत्रालय की ओर से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है। वह किस देश में इसका अभी तक पता नहीं चला है।
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमें उसकी लोकेशन और नागरिकता के बारे में जानकारी जुटाना होगा। इसके बाद ही नित्यानंद को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू कर पाएंगे।

आश्रम पर लगातार छापेमारी…

पुलिस लगातार नित्यानंद और उनसे जुड़े रहे आश्रमों में छापेमारी कर रही है। बता दें कि नित्यानंद पर अनुयायियों से योगिनी सर्व ज्ञानपीठ आश्रम चलाने के लिए चंदा जुटाने में बच्चों का गलत इस्तेमाल और उन्हें बंधक बनाकर रखने का आरोप है। अहमदाबाद के जर्नादन शर्मा ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें उन्होंने कहा कि मेरी बेटी आश्रम में बंधक है।

यह भी पढ़ें-  कांपा पाकिस्तान! अभी-अभी भारत को मिली बड़ी कामयाबी, आतंकियों में हायतौबा

पुलिस ने इसके बाद बुधवार को नित्यानंद के आश्रम पर छापेमारी कर दो नाबालिगों को छुड़ाया। आश्रम की दो महिला प्रशासक भी गिरफ्तार की गईं। आश्रम से कई लैपटॉप, मोबाइल और अन्य सामान जब्त किया था।

एसपी ने कहा…

अहमदाबाद के एसपी (ग्रामीण) आरवी असारी ने बताया कि नित्यानंद देश में नहीं है, उसे तलाशने में वक्त जाया करने के बजाय हम उसे कानूनी तरीके से विदेश से हिरासत में लेने की प्रक्रिया अपनाएंगे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि उसे जल्द पकड़कर भारत लाएंगे। उसकी दो सहयोगियों हरिणी चेलप्पन उर्फ मां नित्य प्राणप्रिया नंदा (30) और रिद्धि रविकिरण उर्फ मां नित्य प्रियातत्वा नंदा (24) को कोर्ट में पांच दिन की रिमांड पर भेजा है।

यह भी पढ़ें. भूखा मरेगा पाकिस्तान! इन देशों के सामने झोली फैलाने को तैयार

लगातार हो रही गिरफ्तारी…

बच्चों को बंधक बनाने, उनसे दुर्व्यवहार के मामले में दिल्ली पब्लिक स्कूल के प्रधानाध्यापक हितेश पुरी समेत दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। डीएसपी के टी कामरिया ने बताया कि डीपीएस स्कूल से जुड़े ट्रस्ट कैलोरेक्स एजुकेशन ने आश्रम के स्कूल को अपनी जमीन बिना पुलिस को जानकारी दिए लीज पर दे दी थी।

यह भी पढ़ें. तो इमरान देंगे इस्तीफा! मौलाना का प्लान-B हुआ तैयार, पाक PM की टेंशन टाइट

इस मामले में पुरी और पुष्प सिटी में आश्रम की महिलाओं को मकान देने पर मैनेजर बकुल ठक्कर को पकड़ा है। अहमदाबाद में नित्यानंद के आश्रम को जमीन देने के मामले में भी सीबीएसई ने स्कूल से रिपोर्ट तलब की है।

13 महीने पहले ही एक्सपायर हो गया था नित्यानंद का पासपोर्ट…

स्वामी नित्यानंद की तलाश में सीबीआई लगातार छापेमारी कर रही है, लेकिन अभी तक नित्यानंद के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पा रही है, इस बीच अपहरण के मामले में फरार चल रहे नित्यानंद का पासपोर्ट मिला है, जो करीब 13 महीने पहले यानी सितंबर 2018 को एक्सपायर हो गया था।

पासपोर्ट के एक्सपायर होने पर कर्नाटक के रामनगर जिले के पूर्व एसपी का कहना है कि जब तक किसी के खिलाफ कोई केस पेंडिंग होता है, तब तक हम किसी के पासपोर्ट के नवीनीकरण की सिफारिश नहीं करते हैं।

आरोप लगाने वाले की बेटी ने किया नित्‍यानंद का बचाव…

उसके आश्रम में रहने वाली दो लड़कियों लोपामुद्रा और नित्यानंदिता ने आश्रम और नित्‍यानंद का बचाव करते हुए इसे हिंदुत्‍व के खिलाफ साजिश बताया है, ये दोनों में से एक नित्‍यानंद के खिलाफ आरोप लगाने वाले की बेटी है, इसे इन्‍होंने एक पारिवारिक मुद्दा बताया।

बता दें कि अहमदाबाद के जर्नादन शर्मा ने नित्यानंद के आश्रम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है, इसमें उन्होंने कहा कि मेरी बेटी आश्रम में बंधक है, इसके बाद पुलिस ने बुधवार को नित्यानंद के आश्रम पर छापेमारी कर दो नाबालिगों को छुड़ाया।

इसी मामले पर आश्रम की लोपामुद्रा और नित्यानंदिता ने फेसबुक लाइव नित्यानंद की सफाई पेश की, दोनों ने कहा, जिस तरह की झूठी खबरें चलाई जा रही हैं, हम इस बारे में सारी स्‍थिति साफ कर देंगे कि आखिरकार हुआ क्‍या।

दोनों ने कहा, हमारे परिवार में कुल छह लोग हैं, हमारे अलावा दो और बहने हैं, उन्‍होंने कहा, जर्नादन खुद स्वामी जी का भक्त रह चुका है, जब वह खुद बीमार था और डॉक्टरों ने उसके लिए उम्मीद छोड़ दी थी, उस समय उसकी पत्नी भुवनेश्वरी नित्यानंद के पास आई थी, तब उनके आशीर्वाद से ही उसकी जान बची थी, ये बात 2013 की है, जब जनार्दन के बच्चे आश्रम में पढ़ते थे।

दोनों ने पूछा, जिसने आपको जीवन दिया, उसके खिलाफ ही आज आप आरोप लगा रहे हैं। ब्‍लेकमेल कर रहे हैं, नित्‍यानंदिता ने जनार्दन सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा, वह आश्रम में रहते समय हेराफेरी करते थे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब मैंने रोका तो मुझे धमकी दी, लोपामुद्रा ने आरोप लगाते हुए कहा कि जनार्दन ने मुझसे कहा था कि मैं नित्यानंद के खिलाफ रेप के आरोप लगाऊं। जबकि ऐसा नहीं है, मैं आश्रम का जीवन ही जीना चाहती हूं।