तबलीगी जमात के मुखिया का आडियो वायरल, ऐसी बातें सुनकर खौल उठेगा खून

दक्षिण दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज के मामले के सामने आने के बाद भारत के हजारों लोगों पर कोरोना वायरस का संकट मंडरा रहा है। दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान धार्मिक सभा में भाग लेने के लिए वहां के मौलान पर एफआईआर भी दर्ज की है।

नई दिल्ली: दक्षिण दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज के मामले के सामने आने के बाद भारत के हजारों लोगों पर कोरोना वायरस का संकट मंडरा रहा है। दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान धार्मिक सभा में भाग लेने के लिए वहां के मौलान पर एफआईआर भी दर्ज की है।

इसी बीच तबलीगी जमात के मुखिया और मौलाना साद का एक ऑडियो क्लिप वायरल हो रहा है। जिसमें वह कहते हुए दिख रहे हैं, ‘मरने के लिए मस्जिद से बेहतर कोई जगह नहीं’ इसके अलावा भी कई बातें क्लिप में सुनी जा सकती हैं। बताया जा रहा है कि ये ऑडियो क्लिप 18 मार्च 2020 का है।

वायरल ऑडियो में मरकज के चीफ मौलाना साद कई बातें कहते सुनाई दे रहे। इस दौरान वहां कुछ लोग पीछे से खांस भी रहे हैं। ऐसे में लगता है कि वहां कोरोना पहले ही पहुंच चुका था, लेकिन उसकी तरफ ध्यान नहीं दिया गया।

ये भी पढ़ें…कोरोना: अब घर बैठे जानिए आप संक्रमित हैं या नहीं, Apple लाया ये ख़ास टूल

मस्जिद से बेहतर मरने की जगह नहीं: मौलाना

मौलाना साद ऑडियो में कहते सुनाई देते हैं कि ये ख्याल बेकार है कि मस्जिद में जमा होने से बीमारी पैदा होगी, मैं कहता हूं कि अगर तुम्हें यह दिखे भी कि मस्जिद में आने से आदमी मर जाएगा तो इससे बेहतर मरने की जगह कोई और नहीं हो सकती।

HIV की नहीं, ये दवा कोरोना मरीजों पर असरदार: स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा

कुरान पढ़ते नहीं, अखबार पढ़ते हैं: मौलान साद

वायरल ऑडियो में साद आगे कहते हैं कि अल्लाह पर भरोसा करो, कुरान नहीं पढ़ते अखबार पढ़ते हैं और डर जाते हैं, भागने लगते हैं। साद आगे कहते हैं कि अल्लाह कोई मुसीबत इसलिए ही लाता है कि देख सके कि इसमें मेरा बंदा क्या करता है।

साद आगे कहते हैं कि कोई कहे कि मस्जिदों को बंद कर देना चाहिए, ताले लगा देना चाहिए क्योंकि इससे बीमारी बढ़ेगी तो आप ख्याल को दिल से निकाल दो।

इस फार्मा कंपनी के 10 लोग कोरोना पॉजिटिव: बंद प्लांट, क्वॉरंटीन में हजारों कर्मचारी