Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

कुत्तों का अंतिम संस्कार: इस तरह कर सकेंगे विदा, पंडित का भी होगा इंतजाम

अब कुत्तों का भी अंतिम संस्कार (Dog Cremation) किया जा सकेगा। जी हां, इसके लिए शवदाह गृह भी बनवाने की योजना है। द्वारका सेक्टर 29 में  देश में अपनी तरह का पहला शवदाह गृह बनाने की तैयारी है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 27 Sep 2020 7:33 AM GMT

कुत्तों का अंतिम संस्कार: इस तरह कर सकेंगे विदा, पंडित का भी होगा इंतजाम
X
कुत्तों का अंतिम संस्कार: इस तरह कर सकेंगे विदा, पंडित का भी होगा इंतजाम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में अब कुत्तों का भी अंतिम संस्कार (Dog Cremation) किया जा सकेगा। जी हां, इसके लिए शवदाह गृह भी बनवाने की योजना है। द्वारका सेक्टर 29 में देश में अपनी तरह का पहला शवदाह गृह बनाने की तैयारी है। केवल इतना ही नहीं डॉगी के अंतिम संस्कार की क्रिया को पूरा कराने के लिए पंडित का भी इंतजाम रहेगा। वहीं, अगले दिन सुबह लोग अपने पशु के फूल भी चुग सकेंगे। इस बारे में दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने योजना तैयार की है।

आयुक्त से हरी झंडी मिलने के बाद जमीनी स्तर पर शुरू होगा काम

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की ओर से तैयारी की गई योजना को आयुक्त से हरी झंडी मिलने के बाद तत्काल जमीनी स्तर पर इसका काम भी शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद एक महीने के अंदर इसे चालू भी कर दिया जाएगा। बतादें कि मौजूदा समय में दिल्ली में कहीं भी कुतों के कब्रिस्तान या फिर शवदाहगृह की जगह नहीं है। जिसके चलते लोगों को अपने पेट की मौत के बाद उन्हें दफनाने के लिए जगह का चुनाव करना पड़ता है।

अब डॉगी को अच्छे से कर पाएंगे विदा

लेकिन दिल्ली में ऐसी जगह ढूंढने और मिलने में परेशानी का सामना भी करना पड़ता है। इसी परेशानी को देखते हुए निगम प्रशासन ने यह योजना तैयार की है। जिसके बाद अब लोग अपने डॉगी को अच्छे से विदा कर सकेंगे और उनकी मौत के बाद उनका अच्छे से अंतिम संस्कार भी कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें: किसानों से वापस लिए जाएंगे पैसे! घोटाले के बाद सतर्क हुई सरकार, उठाया बड़ा कदम

निगम ने इसलिए तैयार की ये योजना

इस बारे में नेता सदन नरेंद्र चावला ने बताया कि बड़ी संख्या में Animal Lovers ने कुत्ता पाल रखा है। लेकिन कुत्तों की मौत होने पर कोई उपयुक्त इंतजाम न होने की वजह से लोग मजबूरन अपने पालतू कुतों को खुली जगह में दफना देते हैं। नरेंद्र चावला कहते हैं कि कई लोगों को अपने पालतू कुत्तों से बहुत लगाव होता है। यही वजह है कि लोग कुतों को अपनी फैमिली का पार्ट मानते हुए उनकी मौत पर शौक भी जताते हैं।

नरेंद्र चावला ने बताया कि इन सब वजहों से निगम ने कुत्तों का अंतिम संस्कार करने के लिए शवदाह गृह बनाने की योजना तैयार की है। इसके लिए द्वारका सेक्टर 29 में जगह की भी पहचान कर ली गई है। यहां पर अभी कुतों का बंध्याकरण होता है। इसका आधा हिस्सा शवदाह गृह के प्रयोग में लाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: ड्रग्स केस: रवि किशन के खिलाफ खड़ी हुई बॉलीवुड लॉबी, 24 घंटे में छीने दो प्रोजेक्टस

DOGS

अंतिम संस्कार के लिए पंडित की भी रहेगी व्यवस्था

वहीं शवदाहगृह में अंतिम संस्कार की क्रिया को पूरा कराने के लिए पंडित की भी व्यवस्था रहेगी। पंडित पूरे रीति रिवाजों के साथ अंतिम संस्कार करेगा। निगम कुतों के अंतिम संस्कार के लिए मामूली शुल्क वसूल करेगी। हालांकि, अभी राशि तय नहीं की गई है। लेकिन माना जा रहा है कि शुल्क को कम से कम निर्धारित किया जाएगा। वहीं, शुल्क जमा करने के बाद निगम द्वारा लोगों को रसीद भी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान मैच कब: शाहिद अफरीदी ने बताया, मोदी सरकार से जोड़ा कनेक्शन

आवारा कुत्तों का भी किया जा सकेगा अंतिम संस्कार

बताया जा रहा है कि इस शवदाह गृह में ना केवल पालतू बल्कि आवारा कुत्तों का भी अंतिम संस्कार किया जा सकेगा। इस बारे में नेता सदन नरेंद्र चावला ने कहा कि कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि आवार कुत्ते दुर्घटना के कारण सड़क किनारे मृत पाए जाते हैं। ऐसे में अगर किसी समाज सेवी संस्था या किसी पशु प्रेमी द्वारा उनका शव लाया जाएगा तो उनका भी अंतिम संस्कार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: इंतज़ार खत्म: Amazon की ‘Great Indian Festival’ सेल जल्द, बंपर डिस्काउंट

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story