Top

धरी रह गई सरकार की सभी तैयारियां, यहां नवरात्रि में 120 रूपये Kg. बिक रहा प्याज

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में अक्टूबर महीने में भारी बारिश की वजह से प्याज की फसल को नुकसान पहुंचा है, जिसके बाद सप्लाई पर सीधा असर पड़ा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Oct 2020 6:31 AM GMT

धरी रह गई सरकार की सभी तैयारियां, यहां नवरात्रि में 120 रूपये Kg. बिक रहा प्याज
X
उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर गौर करें तो पाएंगे कि बेंगलुरु में बुधवार को 40 रुपये किलो बिकने वाला प्याज गुरुवार को 47 रुपये महंगा होकर 87 रुपये के भाव से बेचा गया गया।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: प्याज के निर्यात पर रोक लगाने से लेकर केंद्र सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद कीमतें कम होती हुई नजर नहीं आ रही है। नौबत तो यहां तक आ पहुंची है कि अभी नवरात्र खत्म भी नहीं हुए और प्याज के दाम आसमान छूने लगे हैं।

बात कर प्याज की कीमतों की तो चंडीगढ़ में गुरुवार को प्याज के दाम 120 रुपये किलो तक पहुंच गये। जबकि लुधियाना में भी प्याज 100 रुपये किलो के भाव से बिक हैं।

इसी तरह से यदि हम पूरे देश की बात करें तो एक ही दिन में प्याज के रेट में 2 रुपये से लेकर 47 रुपये प्रति किलो तक की बढ़ोतरी देखी गई है।

अगर हम उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर गौर करें तो पाएंगे कि बेंगलुरु में बुधवार को 40 रुपये किलो बिकने वाला प्याज गुरुवार को 47 रुपये महंगा होकर 87 रुपये के भाव से बेचा गया गया।

उधर दरभंगा में 40 से 62 रुपये, इंदौर में 45 से 55 रुपये पर और पटना में 10 रुपये महंगा होकर 65 रुपये की दर से प्याज बिका। लेकिन सरकार के इन आंकड़ों और गली-मोहल्लों, साप्ताहिक बाजारों में प्याज के रेट में काफी अंतर है।

Onion बाजार में सब्जी खरीदते लोग(सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें…PUBG Mobile की भारत में वापसी! हुआ जॉब ऑफर, कोरियाई डेवलपर कर रहे काम

यहां अभी भी कम दाम में बिक रहा प्याज

अगर हम बात करें कम दाम पर बिकने वाले प्याज की तो गुजरात के राजकोट में प्याज सबसे सस्ता 25 रुपये किलो की दर से बिका।

इसी तरह उत्तर प्रदेश के झांसी में प्याज का दाम 26 रुपये था। जबकि प्रयागराज, जोधपुर, भोपाल, रीवा में 30-30 रुपये किलो के दाम से प्याज बेचा गया। वहीं इस उछाल के बीच कुछ जगहों पर प्याज के दाम कम भी हुए हैं। एर्नाकुलम में 10 रुपये किलो गिरकर यह 80 रुपये, पुणे में 9 रुपये सस्ता होकर 45 रुपये पर आ गया है।

ये भी पढ़ें…यूपी में चली गोलियां: अंधाधुंध फायरिंग में तीन बदमाश घायल, यहां हुआ एनकाउंटर

21 और 22 अक्टूबर का रेट

केंद्र - 21/10 - 22/10 - उतार-चढ़ाव

बेंगलुरु - 40 - 87 - 47

पुडुचेरी - 4 5 - 90 - 45

धारवाड़ - 62 - 89 - 27

बेंगलुरु - 64 - 88 - 24

पटना - 55 - 65 - 10

दिल्ली - 49 - 55 - 6

लुधियाना - 65 - 70 - 5

नासिक - 62 - 66 - 4

लखनऊ - 46 - 46 - 0

कानपुर - 50 - 50 - 0

सूरत 55 55 - 0

प्याज की आसमान छूती कीमतों के पीछे ये हैं कारण

प्याज के कारोबार से जुड़े लोगों ने बताया कि भारी बारिश की वजह से प्याज की काफी शॉर्टेज हो गई है। मंडी में इस समय 4 हजार क्विंटल प्याज मुश्किल से होगा, जबकि आमतौर पर 12 हजार से 15 हजार क्विंटल प्याज मौजूद रहता है।

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में अक्टूबर महीने में भारी बारिश की वजह से प्याज की फसल को नुकसान भी पहुंचा है, जिसके बाद सप्लाई पर सीधा असर पड़ा है। लसलगांव में गुरुवार को एक क्विंटल प्याज की कीमत 7,050 रुपये तक पहुंच गई, जबकि एक महीने पहले तक यह दाम 4,801 रुपये प्रति क्विंटल थी।

market बाजार में सब्जी खरीदते लोग(सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें…राहुल गांधी का हेलीकॉप्टर: बिना अनुमति होगा यहां लैंड, हो सकता है विवाद…

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story