प्याज का हाहाकार: इन राज्यों में बढ़ते दामों से सन्नाटा, लोगों के बह रहे आंसू

दिन-प्रति-दिन प्याज के दाम आसमान छूते जा रहे हैं। लोगों को प्याज के बढ़ते दामों के चलते अपनी जेबों से जबरदस्ती रकम निकालनी पड़ रही है। ऐसे में बेंगलुरु में बीते एक माह में ही प्याज के दाम चार गुना तक बढ़ गए हैं। यहां प्याज इन दिनों 88 रुपये प्रति किलों के हिसाब से बिक रहा है।

onion market

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली: दिन-प्रति-दिन प्याज के दाम आसमान छूते जा रहे हैं। लोगों को प्याज के बढ़ते दामों के चलते अपनी जेबों से जबरदस्ती रकम निकालनी पड़ रही है। ऐसे में बेंगलुरु में बीते एक माह में ही प्याज के दाम चार गुना तक बढ़ गए हैं। यहां प्याज इन दिनों 88 रुपये प्रति किलों के हिसाब से बिक रहा है। वहीं बीती 22 सितंबर को यहां प्याज के दाम 22 रुपये प्रति किलो थे। ऐसे में हालात ये हो गए हैं कि सामान्य वर्ग के परिवार में भी प्याज पकना बंद हो गया है।

ये भी पढ़ें… LAC पर तैनात नाग: चीनी सेना का पल भर में होगा खात्मा, सीमा पर हलचल हुई तेज

प्याज दामों के लिए रुला रहा

आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही कर्नाटक सरकार ने किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए एक खास किस्म की प्याज ‘बेंगलुरु रोज़’ के निर्यात को मंजूरी दी थी। लेकिन अब स्थितियां ये हो गई है कि कर्नाटक के लोगों को भी प्याज दामों के लिए रुला रहा है।

ऐसे में सभी बड़े शहरों की अपेक्षा करने से ये पता चलता है कि सबसे अधिक प्रभावित 28 केंद्र हैं। यहां बीते महीने भर में प्याज के दामों में दो से तीन गुना तक बढ़ोत्तरी हो चुकी हैं। वहीं तमिलनाडु में तिरुचिनापल्ली को छोड़कर लगभग सभी केंद्रों में प्याज के रिटेल दाम दोगुने हो चुके हैं। साथ ही तेलंगाना में लगभग सभी केंद्रों में भी दाम दोगुने हो चुके हैं। इन दिनों तिरुवनंतपुरम में प्याज 90 रुपये प्रति किलो में बिक रहा है।

Onion
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…चीन की खुली धमकी: भारत-अमेरिका समेत ये देश युद्ध को तैयार, होगा शक्ति प्रदर्शन

100 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी

इसके अलावा रायपुर, गोवा, इंदौर और ग्वालियर में भी प्याज के दामों में करीब 100 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी हुई है। दिल्ली की बात करें तो यहां प्याज के दामों में प्रति किलो 12 रुपये तक बढ़ चुकी हैं।

ऐसे में तरोताजा चुनाव वाले बिहार में भी प्याज के दाम कुछ पीछे नहीं हैं। और तो और ये भी बताया जा रहा है कि नवरात्रि के बाद प्याज के दामों में और तेजी आ सकती है। इसके पीछे कारण ये है कि उत्तर भारत में नवरात्रि के दौरान अधिकतर लोग प्याज-लहसुन नहीं खाते हैं। तो इस समय ज्यादा ब्रिकी नहीं हो रही है। बता दें कि रविवार को नवरात्रि खत्म हो रही है।

ये भी पढ़ें…चीन फिर घुर्राया: भारत को दे रहा चेतावनी, दोस्ती से उड़ी इसकी नींद

प्याज का सबसे बड़ा होलसेल यानी थोक बाजार

देशभर में नासिक ही एकमात्र प्याज का सबसे बड़ा होलसेल यानी थोक बाजार है। इस थोक बाजार का नाम लासलगांव होलसेल मार्केट है। आपको बता दें कि नासिक में पूरे महाराष्ट्र का करीब 60 प्रतिशत प्याज उगाया जाता है।

वहीं अब हालात तो इतने ज्यादा खराब हो गए हैं कि खुद नासिक के रिटेल मार्केट में प्याज 80 रुपये प्रति किलो बिक रही है। पुणे एपीएमसी के एक कमीशन एजेंट विलास भुजबल के मुताबिक, 21 अक्टूबर को मुंबई में प्याज 80-100 रुपये प्रति किलो बिक रहा है, जबकि पुणे में प्याज 100-120 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चुका है। इन दिनों प्याज मानों सब्जियों में सोने की जगह लेता जा रहा है।

ये भी पढ़ें…काशी विश्वनाथ और ज्ञानवापी मस्जिद मामला: इस दिन होगी सुनवाई, हलचल हुई तेज

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App