पाकिस्तान पर थू-थू! इस बार रच रहा ये साजिश 

पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा और लश्कर-ए-तोएबा ने दिल्ली स्थित (रिसर्च एंड एनालिसिस विंग) RAW और भारतीय सेना के मुख्यालय में हमला करने की योजना बनाई है। JuD और LeT आतंकी समूहों का नेतृत्व मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद कर रहा है।

नई दिल्ली:  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक बार फिर घटनायें हो सकती है, बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा और लश्कर-ए-तोएबा, दिल्ली में बड़ी घटना को अंजाम दे सकता है।

दरअसल, जमात-उद-दावा और लश्कर-ए-तोएब संगठन के बड़े आतंकी भारत के खिलाफ दिन प्रतिदिन नई-नई साजिश रच रहा है, पाकिस्तान के आतंकी हमले की फिराक में हैं।

यह भी पढ़ें-  सांसद की पत्नी ने बोला- रेप ऐसी चीज….. अब उनके साथ हुआ ऐसा

खबर है कि पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा और लश्कर-ए-तोएबा ने दिल्ली स्थित (रिसर्च एंड एनालिसिस विंग) RAW और भारतीय सेना के मुख्यालय में हमला करने की योजना बनाई है। JuD और LeT आतंकी समूहों का नेतृत्व मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद कर रहा है।

कश्मीर मुद्दे पर ही उलझा रहा पाक, इधर पाकिस्तान का हुआ ये हाल

सुरक्षा बल हुए अलर्ट…

यह भी पढ़ें- रामलीला को चाइल्ड पोर्न बोल फंसे एक्टर, जानें कहां मचा घमासान

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लश्कर और JuD के उग्रवादी विंग ने अक्टूबर-2019 के अंत में RAW और भारतीय सेना के खिलाफ हमले करने की योजना बनाई है। खुफिया इनपुट मिलने के बाद सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया है व दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

सूत्रों से खबर…

सूत्रों का दावा है कि जमात-उद-तावा और लश्कर-ए-तोएबा के आतंकवादी पुलिस कर्मियों के आवासीय क्षेत्रों के साथ-साथ पुलिस और अर्धसैनिक बलों के कार्यालयों को भी निशाना बनाने की योजना बना रहे हैं।

यह भी पढ़ें-  अजगर और BJP नेता: गाड़ी में था बैठा, जाने फिर क्या हुआ…

गौरतलब है कि JuD और LeT इन दोनों आतंकी समूहों का नेतृत्व हाफिज सईद कर रहा है। जिसे संयुक्त राज्य अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र (UN) और यूरोपीय संघ द्वारा वैश्विक आतंकवादी के घोषित किया जा चुका है। आतंकी हाफिज सईद ही 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों के पीछे का मास्टरमाइंड था।

बताते चलें कि केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा, आर्टिकल 370 को हटाये लगभग दो महिने का वक्त हो गया है, लेकिन जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की चाहत कम नहीं हो रही है, प्रतिदिन सीमापार से नई नई चाल चली जा रही है।