PM मोदी ने बुलाई केंद्रीय कैबिनेट की इमरजेंसी बैठक, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलावर को कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है। इस बैठक में महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उठापठक और राम मंदिर ट्रस्ट को लेकर चर्चा होने की संभावना है। माना जा रहा है कि इस बैठक में महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर मुहर लग सकती है।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलावर को कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है। इस बैठक में महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उठापठक और राम मंदिर ट्रस्ट को लेकर चर्चा होने की संभावना है। माना जा रहा है कि इस बैठक में महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर मुहर लग सकती है।

बता दें कि पीएम मोदी ने यह बैठक ब्राजील से पहले बुलाई है। इस कैबिनेट बैठक में महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन या सरकार बनाने पर विचार-विमर्श होने की संभावना है। दूसरी तरफ से तय समयसीमा के अंदर राम मंदिर के लिए ट्रस्ट बनाने को लेकर चर्चा हो सकती है।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र के बाद झारखंड में BJP को लगा बड़ा झटका, LJP-आजसू ने…

राम मंदिर ट्रस्ट में किन-किन लोगों को शामिल किया जाए, क्योंकि अमित शाह और सीएम योगी को इस शामिल करने की मांग हो रही है। विश्व हिंदू परिषद ने गृह मंत्री अमित शाह को ट्रस्ट में शामिल किए जाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें…स्वर कोकिला लता मंगेशकर की हालत नाजुक, वेंटिलेटर पर रखा गया

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी राष्ट्रपति शासन की तैयारी कर रहे हैं। वह शाम तक का इंतजार करेंगे और इसके बाद राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कर देंगे। उन्होंने राष्ट्रपति शासन की तैयारी पूरी कर चुके हैं।

बता दें कि शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे की अगुवाई में सोमवार को पार्टी नेता राज्यपाल से मिले और उन्होंने समर्थन पत्र देने के लिए कुछ और समय की मांग की, लेकिन राज्यपाल ने समय देने से इंकार कर दिया। आदित्य ने कहा कि सरकार बनाने के लिए हमने दो पार्टियों से बात शुरू की है, जो आगे बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें…जम्मू-कश्मीर: सेना को बड़ी कामयाबी, मार गिराए 2 आतंकी

महाराष्ट्र में बीते 48 घंटों में राजनीतिक घटनाक्रम बदला है। पहले शिवसेना 24 घंटे में समर्थन पत्र नहीं जुटा पाई, ऐसा ही अब एनसीपी के साथ हुआ है। अब एनसीपी भी 24 घंटे में समर्थन नहीं जुटा पाती है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लगना तय है।