Top

मोदी-चीन का आमना-सामना: विवाद के बीच पहली बार ऐसा, होगी बड़ी बैठक

पूर्वी लद्दाख में LAC पर जारी विवाद के बीच पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का बैठक के दौरान आमना- सामना होने वाला है। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 6 Nov 2020 12:26 PM GMT

मोदी-चीन का आमना-सामना: विवाद के बीच पहली बार ऐसा, होगी बड़ी बैठक
X
चीन के इस कदम के बाद से भारत और बांग्लादेश की चिंताएं बढ़ गई है। क्योंकि ब्रह्मपुत्र नदी भारत और बांग्लादेश से होकर गुजरती है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर मई महीने से ही भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आमना- सामना होने वाला है। दरअसल, पीएम मोदी नवंबर के महीने में वर्चुअल प्लेटफॉर्म के जरिए कई अहम बैठकों में हिस्सा लेंगे। इसी दौरान जिनपिंग के साथ उनका आमना सामना होगा। 4

मोदी और जिनपिंग का आमना सामना

वर्चुअल प्लेटफॉर्म के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी SCO समिट, एशियन समिट, ब्रिक्स समिट और G-20 समित की अहम बैठक में शामिल होने वाले हैं। कोरोना वायरस के चलते ये सभी अहम बैठकें वर्चुअल स्तर पर होंगी। बता दें कि भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी विवाद के बीच ये पहली बार होगा, जब प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आमना सामना होगा।

यह भी पढ़ें: रेलवे की बंपर भर्तियां: सरकारी नौकरी पाने का अच्छा मौका, जल्द करें अप्लाई

modi (फोटो- सोशल मीडिया)

प्रधानमंत्री मोदी किन-किन बैठक में होंगे शामिल-

10 नवंबर- रूस द्वारा आयोजित किए जाने रहे SCO समिट की बैठक में सभी देशों के प्रमुख शामिल होंगे। बता दें कि रूस SCO का प्रमुख है।

13-15 नवंबर- इस बीच एशियन समिट की बैठक होगी, जिसमें भारत मेहमान के तौर पर हिस्सा लेगा। वियतनाम इस साल की प्रमुखता कर रहा है और उसी ने भारत को न्यौता भेजा है। बता दें कि इस बैठक में ऑस्ट्रेलिया, चीन, जापान, कनाडा, दक्षिण कोरिया, रूस, अमेरिका और यूरोपियन यूनियन के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़ें: योजनाओं का लाभ जनता को, जन-चौपाल लगाकर अफसरों को दी हिदायत

17 नवंबर- रुस की ओर से ब्रिक्स देशों की समिट का आयोजन किया जाएगा।

21-22 नवंबर- सऊदी अरब द्वारा जी-20 बैठक का आयोजन होगा।

विवाद के बीच पहली बार आमने-सामने होंगे मोदी और जिनपिंग

इस बैठकों के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इटली के प्रधानमंत्री कोंते के साथ द्विपक्षीय समिट में शामिल होंगे। इसके अलावा 30 नवंबर को भी SCO समिट से जुड़ी एक मीटिंग होगी, हालांकि इस बैठक में भारत सरकार की ओर से कोई प्रतिनिधि हिस्सा लेगा। बता दें कि चीन और भारत के बीच सीमा विवाद सुलझाने के लिए सैन्य और डिप्लोमेटिक लेवल पर बातचीत हो रही हैं, लेकिन विवाद के बीच ऐसा पहली बार होगा जब प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग आमने-सामने होंगे।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव को लेकर BJP गंभीर, केंद्र की योजनाएं बनेंगी जीत का आधार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Shreya

Shreya

Next Story