डकैत ने भरी नाबालिग की मांग: 7 महीने की है गर्भवती, नहीं जाना चाहती अपने घर

राजस्थान पुलिस ने एक डकैत को गिरफ्तार किया है। पुलिस को डकैत के साथ एक 16 साल की नाबालिग लड़की भी मिली। इस लड़की की मांग ने सिंदूर भरा हुआ था।

marrige

फोटो-सोशल मीडिया

जयपुर: राजस्थान पुलिस ने एक डकैत को गिरफ्तार किया है। पुलिस को डकैत के साथ एक 16 साल की नाबालिग लड़की भी मिली। इस लड़की की मांग ने सिंदूर भरा हुआ था। इस बाद पुलिस ने लड़की का मेडिकल चेकअप कराया तो पता चला कि लड़की के पेट में 7 महीने का बच्चा है। ऐसे में अब ये हालात है कि लड़की का पति तो जेल में बंद है, और वह अपने घर इस स्थिति में जाना नहीं चाहती।

ये भी पढ़ें… अलविदा INS विराट: 30 साल दी वायुसेना को सेवा, अब आखिरी यात्रा पर निकला

16 साल की नाबालिग लड़की 7 माह की गर्भवती

ये डकैत राजस्थान के धौलपुल जिले की बाड़ी सदर थाना पुलिस और बसईडांग थाना पुलिस द्वारा चलाए गये सयुंक्त एक्शन में पकड़े गए हैं। डकैत राकेश डोयला के कब्जे से मिली 16 साल की नाबालिग लड़की 7 माह की गर्भवती निकली।

बता दें, परोल से फरार होने के बाद 5000 रुपए के इनामी डकैत राकेश डोयला ने 22 मार्च 2020 को बसईडांग क्षेत्र के गांव से हथियारों के बल पर रात के अंधेरे में करीब आधा दर्जन बदमाशों के साथ 16 साल की एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर लिया था।

shadi
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…पिछड़ा वर्ग विभाग की प्रतिनिधि बैठक: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने किया संबोधित, देखें तस्वीरें

माता-पिता के पास जाना नहीं चाहती

सूत्रों से पुलिस को जानकारी मिली तो जब डकैत को पकड़ने गई, तो उसके साथ नाबालिग लड़की मिली। नाबालिग की मांग में सिंदूर भरा हुआ था और वह डकैत के साथ विवाहिता की तरह रह रही थी। 16 साल की गर्भवती मां को पुलिस ने जब बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर के समक्ष पेश किया तो काउंसिलिंग के दौरान मासूम लड़की ज्यादातर वक्त गुमसुम सी रही।

ऐसे में समिति सदस्य गिरीश गुर्जर से नाबालिग ने बस इतना ही कहा कि वह माता-पिता के पास जाना नहीं चाहती क्योंकि जिस डकैत ने उससे शादी कर ली है, वह जेल में रहेगा और माता-पिता उसे गर्भवती होने पर स्वीकार करना नहीं चाहेंगे, ऐसे में उसे कहीं और भिजवा दिया जाए।

ये भी पढ़ें…चीन ने दी धमकी: कहा जल्द लेगा इसका बदला, जता रहा कड़ा विरोध

नाबालिग लड़की आठवीं तक पढ़ी

इसके बाद मासूम लड़की की बात सुनकर बाल कल्याण समिति के गिरीश गुर्जर ने मेडिकल करवाकर फिलहाल उसे चाइल्ड लाइन में रखवाया है।

समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि किशोरी अगर इच्छा जताएगी तो उसे परिजनों के पास भेजा जाएगा अन्यथा उसे बालिका गृह भरतपुर में भेजने की कार्यवाही की जाएगी।

married women
फोटो-सोशल मीडिया

बताया गया कि नाबालिग लड़की आठवीं तक पढ़ी हैं। पुलिस ने शुक्रवार देर शाम जांच प्रक्रिया पूरी कर नाबालिग को सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया हैं। पुलिस ने पहले मामला 363, 366 ए आईपीसी में दर्ज किया था लेकिन अब जांच के दौरान 376, 3/4 व 4/5 पॉक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ी गई हैं।

ये भी पढ़ें…फैली नई बीमारी: ब्रूसेलोसिस से संक्रमित हो रहे लोग, लगातार हो रही जांच

डकैत उसे जंगल बीहड़ों में ले गया

किशोरी को अगवा करने के संबंध में हाई कोर्ट में व्यक्तिगत स्वतंत्रता के लिए हेवियस कॉपर्स की रिट लगी हुई। पुलिस ने नाबालिग के 161 बयान के बाद 164 के बयान शुक्रवार को न्यायालय में करा दिए हैं। अपहरण करने के बाद डकैत राकेश डोयला नाबालिग को विवाहिता की तरह रखता था।

बता देते हैं कि 22 मार्च 2020 को 16 साल की नाबालिग का अपहरण करने के बाद डकैत उसे जंगल बीहड़ों में ले गया। मामले को लेकर नाबालिग के भाई ने 24 मार्च 2020 को बसईडांग थाने में बहन के अपहरण का मामला भी दर्ज करवाया था।

पुलिस ने डकैतों के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366 ए के तहत मामला दर्ज किया था। हालाकिं नाबालिग के मामले में हाई कोर्ट, जयपुर में हेवियस कॉपर्स की रिट भी लगी हुई है।

ये भी पढ़ें…कांप उठा लद्दाख: घरों से बाहर भागे लोग, जोरदार भूंकप से हिल गई धरती

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App