×

समुद्र के अंदर कोरोना का इलाज, रिलायंस ने खोज निकाला महामारी रोकने का फार्मूला

कोरोना वायरस से बचाने वाली कोई भी दवाई फिलहाल किसी देश को नहीं मिली है लेकिन एक ऐसी खोज हुई है जिससे कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है। यह चमत्कारी चीज समुद्र के अंदर मिली है। एक शोध में दावा किया जा रहा है कि समुद्र में पाई जाने वाली लाल काई (Marine red algae) से कोरोना वायरस के इलाज का दावा काम करेगी।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 13 April 2020 3:09 AM GMT

समुद्र के अंदर कोरोना का इलाज, रिलायंस ने खोज निकाला महामारी रोकने का फार्मूला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से बचाने वाली कोई भी दवाई फिलहाल किसी देश को नहीं मिली है लेकिन एक ऐसी खोज हुई है जिससे कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है। यह चमत्कारी चीज समुद्र के अंदर मिली है। एक शोध में दावा किया जा रहा है कि समुद्र में पाई जाने वाली लाल काई (Marine red algae) से कोरोना वायरस के इलाज का दावा काम करेगी।

समुद्र की लाल काई कोरोना को फैलने से रोकेगी

जहां एक ओर दुनिया के कई बड़े वैज्ञानिक कोरोना के इलाज और वैक्सीन की खोज में जुटे हुए हैं, वहीं भारत की रिलायंस कम्पनी द्वारा किये जा रहे एक शोध में कोरोना का इलाज मिलने की बात सामने आई है। रिलायंस का दावा है कि समुद्र में पाई जाने वाली लाल काई की मदद से कोरोना को फैलने से रोका जा सकता है।

ये भी पढ़ेंः लांच हुई इंश्योरेंस पाॉलिसी, कोरोना पीड़ितों को रिलायंस ने दी राहत

Reliance ने बनाया रिकॉर्ड: मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपये के पार, इस बार भी नंबर 1

रिलायंस कम्पनी कोरोना के इलाज के लिए कर रही शोध

दरअसल, देश की अग्रणी कारोबारी कंपनी रिलायंस ने कोरोना वायरस के इलाज को लेकर शोध किया गया। इस शोध को विनोद नागले, महादेव गायकवाड़, योगेश पवार और शांतनु दासगुप्ता ने किया है। ये सभी वैज्ञानिक और रिसर्चर रिलायंस के रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर में काम करते हैं।

ये भी पढ़ेंः PM मोदी और आडवाणी के साथ सीता बनीं दीपिका का दिखा ये अंदाज, तस्वीर हुई वायरल

रिलायंस के शोध में खुलासा

इस दौरान पाया गया कि लाल काई से जो जैव रसायन निकलेगा उसकी मदद से कोटिंग पाउडर तैयार किया जा सकता है। इस पॉउडर का का इस्तेमाल अगर सैनिटरी आइटम्स पर किया जाए तो संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।बता दें कि सैनिटरी आइटम्स में सिंक, टॉइलेट, टंकी जैसी वो तमाम चीजें आती है जिसका हम रोजाना इस्तेमाल करते हैं।

ये भी पढ़ेंः बड़ा खुलासा: चेतावनी के बाद ट्रंप ने बिगड़ने दिया हालात, जानिए उस दौरान कर रहे थे कौन सा काम

गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया और चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए बीते दिनों रिलायंस लाइफ साइंस भारत में इस महामारी से जुड़ी जांच और शोध को आगे बढ़ाने में मदद करने का एलान किया था।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story