Top

सुशांत राजपूत ने खुद ही लगाई थी फांसी! सभी आरोपी होंगे बरी, पढ़ें CFSL की ये रिपोर्ट

सीएफएसएल की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सुशांत की मौत फांसी लगाने से हुई थी। इतना ही नहीं सीएफएसएल सीन आफ क्राइम के री-क्रिएशन के बाद सुशांत की मौत मामले को फुल हैंगिंग मानने से इनकार कर दिया है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 Sep 2020 4:58 AM GMT

सुशांत राजपूत ने खुद ही लगाई थी फांसी! सभी आरोपी होंगे बरी, पढ़ें CFSL की ये रिपोर्ट
X
इस रिपोर्ट में सुशांत की मौत को 'पार्शियल हैंगिंग' यानी पूर्ण फांसी नहीं कहा गया है। जिसका मतलब है कि मरने वाले का पैर पूरी तरह से हवा में नहीं था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई जांच जारी है। सीएफएसएल (सीएफएसएल) की रिपोर्ट आ चुकी है। रिपोर्ट में हत्या से जुड़ा कोई भी सीधा सबूत नहीं पाया गया है।

सीएफएसएल की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सुशांत की मौत फांसी लगाने से हुई थी। इतना ही नहीं सीएफएसएल सीन आफ क्राइम के री-क्रिएशन के बाद सुशांत की मौत मामले को फुल हैंगिंग मानने से इनकार कर दिया है।

सीबीआई के अफसरों को सीएफएसएल ने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट में सुशांत की मौत को 'पार्शियल हैंगिंग' यानी पूर्ण फांसी नहीं कहा गया है। जिसका मतलब है कि मरने वाले का पैर पूरी तरह से हवा में नहीं था।

यानी वह किसी चीज से टिका हुआ था। सुशांत मामले में उनके घर से किसी भी तरह का स्टूल नहीं मिला। ऐसे में संभव है कि उनका पैर बेड से टिका हुआ होगा।

Sushant Singh and Rhea सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती की फोटो(सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें…कोरोना के खिलाफ जंग में हथियार बनेगा ‘गंगाजल’, बीएचयू के वैज्ञानिकों की बड़ी तैयारी

सुशांत ने दोनों हाथों से लगाई होगी फांसी: सीएफएसएल

सीएफएसएल की मानें तो आत्महत्या के अधिकांश केस में पार्शियल हैंगिंग पाई जाती है। लेकिन अगर सुशांत की केस की बात करे तो सीएफएसएल की रिपोर्ट में ये पाया गया है कि सुशांत ने दोनों हाथ का इस्तेमाल कर फांसी लगाई होगी।

उसने अपने दाहिने हाथ का इस्तेमाल खुद को लटकाने के लिए किया था। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि राइट हैंडर ही इस तरह से फांसी लगा सकता है। सुशांत ने हरे रंग के कपड़े से फांसी लगाई थी।

इतना ही नहीं इसके अलावा लटकने के बाद गर्दन पर किस मात्रा में फंदे का दबाव पड़ा था, गर्दन पर फंदा कसने के कितनी देर तक शख्स जिंदा रहा और गले के कितने हिस्से पर फंदे का असर पड़ा। इन सभी तथ्यों को सीएफएसएल ने अपनी रिपोर्ट में शामिल किया है।

यह भी पढ़ें…भारत-चीन के बीच समझौता! LAC पर सैनिकों की तैनाती पर रोक, सुधरेंगे हालात

बिहार से ऐसे तय किया था मुंबई तक का सफर

बता दें कि एक्टर सुशांत बिहार से ताल्लुक रखते थे और पटना से दिल्ली और फिर मुंबई तक वे अपने काबिलियत के बल पर पहुंचे तय था। पटना के रहने वाले सुशांत की चार बहनें हैं।

वह उनके इकलौते भाई थे। 14 जून को सुशांत की लाश उनके बांद्रा स्थित फ्लैट पर पाई गई थी। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर से पूरा देश हिल गया।

किसी को समझ ही नहीं आ रहा था कि एक कलाकार जो सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ता जा रहा था वपो अचानक से ऐसे भला आत्म हत्या कैसे कर सकता है।

Rhea सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती की फोटो(सोशल मीडिया)

सभी आरोपी हो सकते हैं बरी

अभी जबकि सीएफएसएल की रिपोर्ट सामने आ चुकी है और उसमें हत्या करने जैसा कोई भी सबूत नहीं मिला है। जांच में ये पाया गया है सुशांत ने खुद ही दोनों हाथों के सहारे फांसी लगाई होगी। ऐसे में कहा जा रहा है कि हो सकता है जो लोग भी अभी तक मौत के लिए जिम्मेदार ठहरा गये या आरोपी बनाकर जेल में भेजें गये हो। उन्हें सबूतों के अभाव में जेल से और इस केस से बरी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें…भारत ने नेपाल की अक्ल लगाई ठिकाने, गलती करने के बाद अब पछतावे का कर रहा दिखावा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story