सबसे रईस पुलिस अफसर: पैसों से है खेलता, संपत्ति जान हो जायेंगे हैरान

देश में आए दिन भ्रष्ट अधिकारियों के बारे में खुलासा हो रहा है। अब तेलंगाना पुलिस के एक अधिकारी के पास 70 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति बरामद की गई है।

Police Officer Narsimha Reddy

सबसे रईस पुलिस अफसर: पैसों से है खेलता, संपत्ति जान हो जायेंगे हैरान ( फाइल फोटो: सोशल मीडिया)

हैदराबाद: देश में आए दिन भ्रष्ट अधिकारियों के बारे में खुलासा हो रहा है। अब तेलंगाना पुलिस के एक अधिकारी के पास 70 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति बरामद की गई है। राज्य के एंटी करप्शन ब्यूरो( एसीबी ) ने कई बार छापा मारा। इसके छापे के बाद खुलासा किया गया है।

इस अधिकारी का नाम नरसिम्हा रेड्डी है। इस अधिकारी ने 1991 में एक इंस्पेक्टर के तौर पर पुलिस विभाग में नौकरी शुरू करी थी। असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर उसका प्रमोशन कुछ ही समय पहले किया गया था। इस समय वो अभी मल्काजगिरी में पोस्टेड है।

एसीबी ने नरसिम्हा रेड्डी को स्पेशल कोर्ट के सामने पेश किया है। एसीबी मेडिकल टेस्ट के बाद उसकी रिमांड की मांग करेगी। एसीबी के डायरेक्टर जनरल पूर्णचंद्र राव के दफ्तर की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि नरसिम्हा रेड्डी की संपत्ति का पता लगाने के लिए राज्य की 25 जगहों पर छापे मारे गए।

यह भी पढ़ें…सीमा पर आतंक: SAARC की बैठक में घिरा पाकिस्तान, भारत ने गिनाई चुनौतियां

कई जगहों पर मारा गया था छापा

एसीबी ने ये छापा वारंगल, जनगांव, नालगोंडा, करीमनगर और आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में मारे थे। इन छापों में एसीबी को नरसिम्हा रेड्डी की बड़ी संपत्तियों के बारे में खुलासा किया है।

इससे पहले भी हुई थी कड़ी कार्रवाई

बता दें कि तेलंगाना के एक अन्य भ्रष्टाचार के मामले में भी एसीबी ने इसी महीने कड़ी कार्रवाई की थी। इंश्योरेंस मेडिकल सर्विसेज (आईएमएस) की पूर्व निदेशक और एक अन्य अधिकारी से जुड़े 4.47 करोड़ रुपये की अघोषित रकम जब्त की थी।

ACB

यह भी पढ़ें…दीपिका पर आरोप: एक्ट्रेस ने खोली पोल, बोली- मेरे साथ करती थी ऐसा काम

एसीबी द्वारा आईएमएस (Insurance Medical Services) की पूर्व निदेशक देविका रानी की 3.75 करोड़ रुपये की अघोषित रकम और ईएसआई फार्मासिस्ट नागा लक्ष्मी (Naga Lakshmi) की 72 लाख रुपये की रकम जब्त की गयी थी। यह पैसे वाणिज्यिक और रिहायशी संपत्ति खरीदने के लिए साइबराबाद क्षेत्र में एक रियल एस्टेट कंपनी में निवेश किए गए थे।

यह भी पढ़ें…इन शहरों में आसमान छू रहे प्याज के दाम, जानिए कब तक मिलेगी जनता को राहत

इन दोनों अधिकारियों ने छह रिहायशी फ्लैट तथा अपने परिवार के सदस्यों के नाम पर करीब 15,000 वर्ग फुट की वाणिज्यिक संपत्ति खरीदने में अघोषित रकम का निवेश कर रखा था। एसीबी की जांच में इसका खुलासा हुआ।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App