अमर सिंह का हुआ ये हाल: रो देंगे देखकर आप, मांगी अमिताभ से माफी

राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने बच्चन परिवार और अमिताभ बच्चन से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि जिंदगी के इस मोड़ पर जब मैं जिंदगी और मौत से लड़ रहा हूं तब मुझे अपने बयान को लेकर पछतावा है।

Published by dharmendrakumar Published: February 18, 2020 | 3:22 pm
Modified: February 18, 2020 | 3:32 pm

नई दिल्ली: राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने बच्चन परिवार और अमिताभ बच्चन से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि जिंदगी के इस मोड़ पर जब मैं जिंदगी और मौत से लड़ रहा हूं तब मुझे अपने बयान को लेकर पछतावा है। अमर सिंह ने इस लेकर अस्पताल से एक वीडियो जारी किया है।

अमर सिंह ने कहा कि इतनी तल्खी के बावजूद यदि अमिताभ बच्चन उन्हें जन्मदिवस पर, उनके पिता की पुण्यतिथि पर मैसेज करते हैं मुझे अपने बयान पर खेद प्रकट कर देना चाहिए।

अमर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि आज मेरे पिता की पुण्यतिथि है और इसे लेकर मुझे अमिताभ बच्चन जी से संदेश मिला। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जीवन और मृत्यु की लड़ाई लड़ रहा हूं मुझे अमित जी और उनके परिवार के खिलाफ हद से ज्यादा बोल जाने का पश्चाताप हो रहा है। ईश्वर उन सभी को आशीर्वाद दे।

यह भी पढ़ें…योगी कैबिनेट ने दी 5 लाख 12 हजार करोड़ के बजट को मंजूरी, जानें क्या है ख़ास

अमर सिंह को कुछ साल पहले किडनी संबंधित बीमारी से पीड़ित थे। अमर सिंह ने अपने ट्वीट में जिस बात का जिक्र किया है वो तब की है जब उनमें और बच्चन परिवार के रिश्तों में तल्खी आ गई थी। अमिताभ और अमर सिंह कुछ साल पहले तक बहुत अच्छे दोस्त थे। लेकिन इसके बाद चीजें काफी ज्यादा खराब हो गई थीं। अमर सिंह ने अपने बयान में कहा कि अमिताभ ने उनके साथ दोस्ती खत्म की है और ये भी कह दिया कि अमिताभ और उनकी पत्नी जया अब अलग-अलग रह रहे हैं।

यह भी पढ़ें…हवाला मामले में आया इस बड़े नेता का नाम, सोनिया तक पहुंच सकती है जांच की आंच

अमर सिंह इस समय सिंगापुर में एक अस्पताल में भर्ती हैं जहां उनका इलाज चल रहा है। अस्पताल के बेड से उन्होंने एक वीडियो जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा कि आज के दिन मेरे पिताजी का स्वर्गवास हुआ था। इस तारीख पर पिछले एक दशक से श्री अमिताभ बच्चन जी मेरे पिता जी की श्रद्धा में संदेश भेजते हैं। जब दो व्यक्तियों में बहुत अटूट स्नेह होता है और उसमें कम या अधिक अपेक्षा या उपेक्षाए होती हैं उन संबंधों में बहुत उबाल आता है। बड़ी उग्र प्रतिक्रिया आती है। संबंध जितना अधिक निकट होता है उसके टूट की चुभन भी उतनी तेज होती है।

यह भी पढ़ें…बड़ा खुलासा: पाकिस्तान ने आतंकी कसाब को मारने के लिए दाऊद को दी थी सुपारी

समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता ने कहा कि पिछले 10 वर्षों से मैं बच्चन परिवार से न केवल अलग रहा बल्कि मैंने ये भी प्रयत्न किया कि उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो। मगर आज फिर अमिताभ बच्चनजी ने मेरे पिताजी का सुमिरन किया। तो मुझे ऐसा लगा कि, इसी सिंगापुर में गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमित जी दो महीने तक साथ रहे और उसके बाद हमारा और उनका साथ छूट सा गया। 10 वर्ष बीत जाने के बाद भी उनकी निरंतरता में कोई बाधा नहीं आई। वे लगातार अनेक अवसरों पर अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे।

यह भी पढ़ें…कर्नाटक बीजेपी में बगावत! 25 विधायक सीएम से नाराज, सामने आई ये बड़ी वजह

बच्चन परिवार से माफी मांगते हुए अमर सिंह ने कहा कि मुझे लगता है कि मैंने अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखाई। मैं जिंदगी और मौत की चुनौती से गुजर रहा हूं। मुझे लगता है कि सार्वजनिक रूप से, वे उम्र में मुझसे बड़े हैं उनके प्रति नरमी रखनी चाहिए थी। जो कटु वचन मैंने बोले हैं उनके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए। मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न तो निराशा है और न ही कटुता।