चीन को कड़ी चेतावनी: खुलेआम BJP सांसद ने ललकारा, कहा कि अब समय आ गया है

लद्दाख लोकसभा सीट से भाजपा सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने बृहस्पतिवार को कहा कि अक्साई चिन एक भारतीय इलाका है और अब इसे चीनी कब्जे से वापस लेने का समय आ गया है।

नई दिल्ली। लद्दाख लोकसभा सीट से भाजपा सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने बृहस्पतिवार को कहा कि अक्साई चिन एक भारतीय इलाका है और अब इसे चीनी कब्जे से वापस लेने का समय आ गया है। भाजपा सांसद ने कहा कि सिर्फ अक्साई चिन ही नहीं, बल्कि गिलगित और बाल्टिस्तान भी लद्दाख का हिस्सा हैं। बता दें, इससे पहले भाजपा सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल लद्दाख में भारत-चीन सीमा क्षेत्र का दौरा करने भी गए थे।

ये भी पढ़ें… सीमा पर मुठभेड़ शुरू: मस्जिद में छिपे खूंखार आतंकवादी, सेना लगातार अलर्ट पर

इन क्षेत्रों पर दावा करना चाहिए और वापस लेना चाहिए

भाजपा सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने कहा कि ये 2020 का भारत, 1962 का भारत नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय चरवाहों को अपने पारंपरिक चारागाहों में जाना चाहिए, जिस पर चीन ने कब्जा किया और चरवाहों को प्रवेश देने से मना कर दिया है। भारत को इन क्षेत्रों पर दावा करना चाहिए और वापस लेना चाहिए।

भाजपा सांसद जमयांग ने आगे कहा कि हम सीमा सुरक्षा के लिए लद्दाख में स्थानीय लोगों के लिए एक बड़ी भूमिका चाहते हैं।

ये भी पढ़ें…निकला भगवान का घर: खुदाई से बाहर आया कुछ ऐसा, दूर-दूर से देखने आ रहे लोग

जवानों की शहादत पर

दरअसल 15-16 जून यानी बीते सोमवार को देर रात भारत-चीन में हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 भारतीय जवानों की शहादत पर सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने शहीद सैनिकों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की थी।

इसी कड़ी में भाजपा सांसद जमयांग ने कहा था, ‘मैं गलवान घाटी में भारतीय सेना के सैनिकों के अदम्य साहस और निस्वार्थ बलिदान को सलाम करता हूं। आप सभी ने मातृभूमि के लिए अपनी अंतिम सांस तक अपार साहस दिखाया। आपकी वीरता को हमेशा याद रखा जाएगा। बहादुर सैनिकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना।’

ये भी पढ़ें…अभी-अभी कांपा पाकिस्तान: सेना ने तबाह किए पोस्ट, सैनिकों को उतारा मौत के घाट

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App