Top

भारतीयों पर भड़का UAE: देश से निकालने की दी धमकी, वजह ये...

कोरोना वायरस के संकट के बीच भारत और यूएई के बीच मनमुटाव हो गया है। यूएई की राजकुमारी ने तो भारत को धमकी तक दे डाली। ये नाराजगी भारतीयों के मुस्मिल विरोधी पोस्ट के कारण नजर आ रही है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 21 April 2020 5:01 PM GMT

भारतीयों पर भड़का UAE: देश से निकालने की दी धमकी, वजह ये...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संकट के बीच भारत और यूएई के बीच मनमुटाव हो गया है। यूएई की राजकुमारी ने तो भारत को धमकी तक दे डाली। ये नाराजगी भारतीयों के मुस्मिल विरोधी पोस्ट के कारण नजर आ रही है। बता दें कि मामले में बॉलीवुड के सिंगर सोनू निगम का मस्जिद में लाउड स्पीकर बंद करने वाला पुराना बयान भी इन दिनों यूएई संग भारत के संघर्ष को बढ़ा रहा है।

भारतीयों के मुस्लिम विरोधी पोस्ट पर भड़का UAE

दरअसल, कोरोना वायरस से जूझ रहे दुनियाभर के तमाम देशों का महामारी के लिए दवाई दिए जाने का लेकर एक ओर तो भारत की जमकर तारीफ़ हो रही है तो वहीं मुस्लिम विरोधी पोस्ट को लेकर आलोचना भी की जा रही है। यूएई ने इस बाबत भारत में कथित इस्लामोफोबिया को लेकर संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने अपनी नाराजगी भी जाहिर की।

तबलीगी जमात को लेकर कुछ भारतीयों के भड़काऊ पोस्ट वायरल

सोशल मीडिया पर कुछ भारतीयों के मुस्लिम समुदाय विरोधी पोस्ट पर यूएई ने तीखी आलोचना की। बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दिन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम के दौरान शामिल हुए लोगों में कोरोना वायरस के होने के बाद भारत में संक्रमण के मामलों में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हो गयी है। इसी को लेकर सोशल मीडिया पर जमात से जुड़े लोगों को इसका जिम्मेदार बताते हुए पोस्ट डाले जा रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः तानाशाह को आखिर क्यों सता रहा डर, जानें कौन सा देश पड़ा है पीछे

यूएई की राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने भारतीयों को दी चेतावनी

वहीं इस्लामिक सहयोग संगठन ने इसे मुस्लिम समुदाय विरोधी बताते हुए कि भारत में ये चीजें रुकनी चाहिए। इतना ही नहीं यूएई की राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने तीन दिन पहले प्रवासी भारतीयों को सख्त चेतावनी दे दी। राजकुमारी ने एक भारतीय यूजर की मुस्लिम विरोधी पोस्ट के स्क्रीनशॉट्स शेयर करते हुए लिखा, 'इस्लामोफोबिया और नस्लवादी गतिविधियों में लिप्त लोगों पर कड़ा जुर्माना लगाया जाएगा और उन्हें यूएई से बाहर निकाल दिया जाएगा।'

UAE में रह रहे भारतीयों को बाहर निकालने की दी धमकी

उन्होंने वहां काम करने वाले भारतीयों को लेकर कहा, यहां पर आने वाले हर शख्स को काम के बदले पैसे मिलते हैं, कोई भी मुफ्त में यहां नहीं आता है। इस देश की धरती से आप अपनी रोजी-रोटी चलाते हैं, अगर आप इसी का मजाक उड़ाते हैं तो ये मत सोचिए कि किसी का ध्यान नहीं जाएगा।'

ये भी पढ़ेंःनहीं सुधरेगा पाकिस्तान: इमरान ने की नापाक हरकत, आतंकियों की हटी लिस्ट

कहा- भारतीयों का ये रवैया स्वीकार्य नहीं

हालाँकि राजकुमारी की इस चेतावनी के बाद भारतीय यूजर ने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया। यूएई की राजकुमारी ने कहा कि यूएई का शाही परिवार भारतीयों का दोस्त जरूर है लेकिन इस तरह का रवैया स्वीकार्य नहीं है।

बीजेपी नेता तेजस्वी सूर्या का पुराना भड़काऊ ट्वीट वायरल

वहीं राजकुमारी के सख्त तेवर पर बीजेपी नेता तेजस्वी सूर्या का एक पुराना ट्वीट भी सोशल मीडिया पर वायरस होने लगा, जिसमें उन्होंने साल 2015 में कहा था कि अरब की 95 फीसदी महिलाओं ने पिछले 200 सालों में कभी ऑर्गेज्म का अनुभव नहीं किया। अरब की महिलाओं ने प्यार के बगैर बस सेक्स से बच्चे पैदा किए। इस ट्वीट ने यूएई के नागरिकों को और अधिक भड़का दिया।

ये भी पढ़ेंःचीन की इस अजीब हरकत से दुनिया को लगा झटका, आप भी जानें क्या किया इस देश ने

ट्वीट वायरल होने के बाद लोगों ने भारत सरकार से तेजस्वी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। हालंकि विवाद बढ़ने पर तेजस्वी ने ये ट्वीट डिलीट कर दिया।

सोनू निगम भी पुराने ट्वीट पर घिरेः

इसी तरह मशहूर भारतीय सिंगर सोनू निगम का पुराना ट्वीट भी वायरस होने लगा, जिसमें उन्होने कुछ साल पहले मुंबई में लाउडस्पीकर पर अजान को लेकर आपत्ति जताई थी। सोनू भी इस ट्वीट को लेकर घिर गए हैं।

ये भी पढ़ेंःइस्लामिक संगठन के बयान पर नकवी बिफरे, फेक न्यूज से किया आगाह

राजदूत पवन कपूर नें UAE में रह रहे भारतीयों को चेताया

लगातार बढ़ रहे विवाद पर भारतीय राजदूत पवन कपूर ने सोमवार को UAE में रह रहे भारतीयों को सावधान किया। उन्होने कहा कि भारतीय किसी भी धर्म को आहत करने वाली पोस्ट ना करें। धार्मिक आधार पर किसी भी तरह का भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

गौरतलब है कि यूएई में बड़ी संख्या में भारतीय रहते हैं और दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध भी हैं। यहां तक कि कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने को लेकर इस्लामिक देश होने के बाद भी यूएई ने इस मामले में हस्तक्षेप न करते हुए इसे भारत का आंतरिक मामला बताया था।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story