×

उत्तराखंड तबाही LIVE- अभी 50 मीटर सुरंग की सफाई बाकी, अब तक 24 शव बरामद

तपोवन पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि लगभग 50 मीटर सुरंग की सफाई बाकी रह गई है। उन्होंने कहा कि 150 मीटर से ज्यादा दूर मलबा नहीं गया होगा। इस मलबे की सफाई में 2 से 3 घंटे लग सकते हैं।

Shivani Awasthi
Published on 8 Feb 2021 3:55 AM GMT
उत्तराखंड तबाही LIVE- अभी 50 मीटर सुरंग की सफाई बाकी, अब तक 24 शव बरामद
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

देहरादून: उत्तराखंड के चमोली में रविवार को ग्लेशियर फटने से आई भीषण आपदा के बाद राहत बचाव कार्य जारी है। एनडीआरएफ, आईटीबीपी और सेना के जवान कल से आपदा में फंसे लोगों को रेस्क्यू कराने में जुटे हुए हैं। रात भर चले रेस्क्यू ऑपरेशन में चमोली जिला पुलिस ने 14 शव बरामद किये। वहीं टनल में फंसे कई मजदूरों को भारतीय जवानों ने बचाया। फिलहाल चमोली समेत आसपास के इलाकों में रेड अलर्ट जारी है। जवानों ने सुबह 4 बजे फिर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया है।

चमोली में आपदा LIVE

50 मीटर सुरंग की सफाई अभी बाकी, अबतक 24 शव बरामद

तपोवन पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि लगभग 50 मीटर सुरंग की सफाई बाकी रह गई है। उन्होंने कहा कि 150 मीटर से ज्यादा दूर मलबा नहीं गया होगा। इस मलबे की सफाई में 2 से 3 घंटे लग सकते हैं। इसके बाद कुछ अच्छी खबर आ सकती है। उन्होंने कहा कि इस त्रासदी में अबतक 24 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं, जबकि 180 लोग अब भी लापता हैं। उत्तराखंड के ग्लेशियर हादसे में अबतक 24 शव बरामद, 180 लोग अब भी लापता

NDRF का मिशन जारी

उत्तराखंड के तपोवन में टनल से मलबा निकालने का काम जारी है। NDRF की टीम मलबे में तलाशी भी कर रही है। मलबे में फंसे लोगों का सुराग ढूंढ़ने के लिए NDRF की टीम सभी मशीनों और यंत्रों का सहारा ले रही है।

ये भी पढ़ें- अजय कुमार लल्लू: योगी सरकार इवेंट मैनेजमेंट में बर्बाद कर रही जनता की गाढ़ी कमाई

ITBP ने रेस्क्यू ऑपरेशन की जानकारी दी

तपोवन में ITBP के पश्चिमी कमान के एडीजी एमएस रावत ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को तपोवन सुरंग पर चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन की जानकारी दी। सीएम आज जोशीमठ में रात गुजारेंगे।

तपोवन पहुंचे त्रिवेंद्र सिंह रावत

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तपोवन पहुंच गए हैं। यहां उन्होंने राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया।

तपोवन में आर्मी ने बनाया 6 बेड वाला अस्थायी अस्पताल

आर्मी ने संकट की स्थिति के लिए तपोवन में इमरजेंसी के लिए 6 बेड वाला एक अस्थायी अस्पताल बना दिया है। बहुत संभव है कि सुरंग से कुछ लोग बेहोशी की हालत में निकलें, ऐसी स्थिति में उनका यहां पर प्राथमिक उपचार किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- IPS ऑफिसर अपर्णा कुमार: चमोली में कर रहीं रेस्क्यू ऑपरेशन, यूपी से है ये रिश्ता

पीएम मोदी से मिले उत्तराखंड के बीजेपी सांसद, गृह मंत्री अमित शाह भी रहे मौजूद

उत्तराखंड के बीजेपी के सांसदों ने राज्य में आई आपदा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रकाश नड्डा भी मौजूद थे। सांसदों ने राज्य के आपदा के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी दी है।

uttarakhand-4

बीजेपी प्रवक्ता अनिल बलूनी ने कहा कि आपदा के तुरंत बाद सरकार ने कदम उठाए। प्रधानमंत्री, गृह मंत्री की ओर से भी समय पर कदम उठाए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक केंद्र ने राज्य सरकार पूरी मदद देने का भरोसा दिया है। आने वाले समय में जो आपदाएं आती है उसके बारे में कैसे निपटा जाए इस बारे में भी चर्चा की गई।

रेस्क्यू टीम को वापस लौटना पड़ा

तपोवन के सुरंग नंबर 2 में भारी गाद और कीचड़ की वजह से अंदर जा रही रेस्क्यू टीम को वापस लौटना पड़ा है। ये टीम विशेष कैमरा, स्निफर डॉग के साथ अंदर जाने की कोशिश कर रही थी, ऑक्सीजन सिलेंडर से लैस ये टीम काफी मशक्कत के बाद 100 मीटर से आगे नहीं बढ़ सकी। इसके बाद इस टीम को वापस लौटना पड़ा। अब मशीनों के जरिए कीचड़ और गाद को साफ किया जा रहा है।

झारखंड सरकार की हेल्पलाइन नंबर जारी

झारखंड सरकार ने चमोली आपदा में फंसे अपने राज्य के निवासियों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

ये भी पढ़ें- दिग्गजों पर तगड़ा एक्शन: ट्वीट पर महाराष्ट्र सरकार कराएगी जांच, जानें पूरा मामला

antoniyo gutres

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने की मदद की पेशकश

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने कहा कि है UN आपदा की इस घड़ी में भारत को हर तरह की सहायता करने को तैयार है। एंटोनियो गुटेरस ने कहा कि अगर भारत को रेस्क्यू ऑपरेशन में किसी तरह की मदद की जरूरत है तो हम अपने संसाधनों के साथ भारत को मदद करने के लिए तैयार है।

हादसे को विकास के खिलाफ प्रोपगैंडा न बनाएं- सीएम रावत

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत आज रात उत्तराखंड के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में गुजारेंगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि मैं देहरादून से प्रभावित क्षेत्रों में जा रहा हूं और रात्रि प्रवास करूंगा। राहत और बचाव कार्य तेजी से चल रहे हैं और सरकार इसमें कोई भी कसर नहीं छोड़ रही है। केंद्र की हमें पूरे मदद मिल रही है। मेरा आप सभी से अनुरोध है कि इस हादसे को विकास के खिलाफ प्रॉपगैंडा का कारण ना बनाएं।

ये भी पढ़ें- गार्ड बना भगवान: ग्लेशियर टूटने की आवाज से हुआ Alert, सिटी से बचाई बड़ी जनहानि

100 मीटर अंदर तक पहुंची रेस्क्यू टीम, 30 घंटे से ऑपरेशन जारी

चमोली में ग्लेशियर टूटने की बाद के बाद लगभग 30 घंटे हो चुके हैं। लेकिन एनटीपीसी के सुंरग में फंसे लोगों को बचाने की कवायद लगातार जारी है। तपोवन स्थित एनटीपीसी के सुरंग नंबर 2 में फंसे लोगों तक पहुंचने की कोशिश लगातार की जार ही है। इस सुरंग में एक अनुमान के अनुसार 37 लोग फंसे हैं। उन तक पहुंचने के लिए सुरंग से लगातार मलबा हटाया जा रहा है। रेस्क्यू टीम अबतक इस सुरंग में 100 मीटर अंदर तक प्रवेश कर चुकी है।

घटना में अब तक 19 लोगों की मौत

चमोली हादसे को लेकर उत्तराखंड पुलिस ने ताजा बयान जारी किया है। पुलिस द्वारा ट्वीट किया गया कि कल के हादसे में अभी तक लगभग 202 लोगों के लापता होने की सूचना है, वहीं 19 के शव अलग अलग स्थानों से बरामद किए गए है।

आपको बता दें कि तपोवन टनल में भी लगातार राहत बचाव कार्य चल रहा है। अभी तक 100 मीटर तक टनल की सफाई हुई है, यहां करीब 37 लोगों के फंसे होने की खबर है।

ये भी पढ़ें- फिल्म में दिखाई थी उत्तराखंड की तबाही, केदारनाथ की दमदार ग्राफिक्स

लगभग 202 लोग हैं लापता

उत्तराखंड पुलिस के मुताबिक, कल हुए प्राकृतिक आपदा से हम बहुत हद तक निपट चुके हैं। लगभग 202 लापता लोगों में से लगातार लोग रिपोर्ट कर रहे हैं, तपोवन के छोटे टनल से रेस्क्यू कर 12 लोगों को सही सलामत बचाया गया है, दूसरे टनल के मलबे को निकाला जा रहा है।

आपदा को लेकर राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेज दी है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। टनल से मलबे को हटाने का कार्य हो रहा है। माना जा रहा है कि सुरंगों में अभी भी लोग फंसे हुए हैं।

संयुक्त राष्ट्र ने की मदद की पेशकश

सेना, वायुसेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी और एसडीआरएफ की टीमें स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर राहत और बचाव का कार्य कर रहे हैं। वैश्विक नेताओं ने घटना पर गहरा दुख जताया है। वहीं संयुक्त राष्ट्र ने आवश्यकता होने पर मदद करने की पेशकश की है।

ये भी पढ़ें- - तबाही के बाद शवों की गिनतीः रातभर चला रेस्क्यू, 150 लोग लापता, इतनी मौतें

सुरंगों में फंसे काफी लोग, जवान हटा रहे मलबा

माना जा रहा है कि सुरंगों में काफी लोग फंसे हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी ITBP की टीम के मुताबिक, अब तक एक सुरंग में करीब 30 लोग फंसे हैं। 300 जवानों को टनल साफ करने में लगाया गया है। मलबा हटाकर यहां से सुरंगों में फंसे लोगों को निकाला जा रहा है। बीते दिन 12 लोगों को एक दूसरी टनल से निकाला गया था।



15 व्यक्तियों को किया रेस्क्यू

चमोली पुलिस ने कहा, टनल में फंसे लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य जारी। जेसीबी की मदद से टनल के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है। अब तक कुल 15 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है एवं 14 शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किए गए हैं।

अबतक करीब 170 लोग लापता

वहीं स्थानीय प्रशासन के मुताबिक़, करीब 170 लोग लापता हैं। कई लोगों के बाढ़ में बह जाने की भी आशंका है। फिलहाल जवान बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में तलाशी अभियान चला रहे है और लापता लोगों की तलाश में हैं।

ये भी पढ़ें- - फिर आई आपदा: ग्लेशियर फटने के बाद अब भूकंप, थर्रा गईं पहाड़ियां

रेस्क्यू के लिए मंदाकिनी नदी का जल स्तर कम होने का इंतजार

एसडीआरएफ के सदस्य चमोली में तपोवन बांध के पास सुरंग में फंसे लोगों को बचाने में जुट गयी है।इसके पहले तक एसडीआरएफ की टीम मंदाकिनी नदी का जल स्तर कम होने का इंतजार कर रही थी, जिसके बाद ही रेस्क्यू शुरू किया जा सकता था। जवानो ने रेस्क्यू शुरु करने के साथ ही तपोवन टनल का मलबा हटाया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story