अलर्ट हो जाएं: महामारी के भीतर एक महामारी, 6 महीने में पैदा होंगे 70 लाख बच्चें

कोरोना के देश में तेजी से बढ़ते मामलों में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बीते शुक्रवार को चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस महामारी का भीषण अप्रत्यक्ष असर पड़ सकता है।

नई दिल्ली। कोरोना के देश में तेजी से बढ़ते मामलों में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बीते शुक्रवार को चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस महामारी का भीषण अप्रत्यक्ष असर पड़ सकता है। आगे डब्ल्यू एच ओ ने कहा है कि कोरोना बीमारी की तुलना में महामारी की वजह से पैदा हुए खराब हालात की वजह से अधिक नुकसान हो सकता है। बढ़ रहे संक्रमण के मामलों ने चिंता को और ज्यादा बढ़ा दिया है।

ये भी पढ़ें… बारिश से मचेगी तबाही: 16 राज्यों में भयंकर खतरा, अब आ रही ये आफत

महिलाओं, बच्चों और किशोर

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी का अप्रत्यक्ष असर सबसे अधिक महिलाओं, बच्चों और किशोरों पर पड़ सकता है।

ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख टेड्रोस एडहैनम घेब्रियेसुस ने कहा- कोरोना के अप्रत्यक्ष असर से इस खास समूह पर जो बुरा प्रभाव पड़ेगा, वह कोविड-19 वायरस से होने वाली मौतों से भी भयानक हो सकता है।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान में बम ब्लास्ट: धमाके से दहल गयी सेना, मौत देख मची भगदड़

इसी सिलसिले में विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस एडहैनम घेब्रियेसुस ने कहा कि कई जगहों पर महामारी की वजह से स्वास्थ्य सिस्टम पर दबाव बढ़ गया है। इसकी वजह से प्रेग्नेंसी और डिलीवरी से जुड़ी दिक्कतों से महिलाओं की मौत का खतरा बढ़ सकता है।

देश के इन हालातों को ध्यान में रखते हुए यूनाइटेड नेशन्स पॉपुलेशन फंड की एग्जेक्यूटिव डायरेक्टर नतालिया कनेम ने कहा है कि ‘महामारी के भीतर एक महामारी’ पैदा हो गई है।

ये भी पढ़ें…भारत-नेपाल सीमा पर फायरिंग: भारतीय शख्स को छोड़ा, इसलिए हुई थी गोलीबारी

70 लाख बच्चों का जन्म

आगे नतालिया कनेम ने कहा कि एक अनुमान के मुताबिक, हर 6 महीने के लॉकडाउन की वजह से 4.7 करोड़ महिलाएं कंट्रासेप्शन की सुविधा खो देंगी। इसकी वजह से 6 महीने के लॉकडाउन में बिना इच्छा के 70 लाख बच्चों का जन्म होगा।

इसी कड़ी में इंटर पार्लियामेंट्री यूनियन के प्रेसिडेंट ग्रैब्रिएला कुवस बैरन ने कहा कि महामारी की वजह से 4 से 6 करोड़ बच्चों पर भीषण गरीबी का खतरा पैदा हो गया है। दुनिया के कई देशों में महामारी की वजह से स्कूल कई महीने से बंद हैं। ये एक बहुत ही भयानक स्थिति होती जा रही है।

ये भी पढ़ें…दिग्गज नेता का निधन: दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर, अंतिम संस्कार में उमड़ा जनसैलाब

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App