×

क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों का बवाल, तोड़ दी खिड़कियां, प्रशासन की हालत खराब

बिहार में बड़ी संख्या में लोग दूसरे राज्यों से पहुंच रहे हैं, जिन्हें शहर से बाहर क्वारेंटीन सेंटर पर रोका गया है। यहां लोगों के रुकने, खाने-पीने की व्यवस्था की गई है।

Ashiki
Updated on: 15 May 2020 5:40 AM GMT
क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों का बवाल, तोड़ दी खिड़कियां, प्रशासन की हालत खराब
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पटना: बिहार में बड़ी संख्या में लोग दूसरे राज्यों से पहुंच रहे हैं, जिन्हें शहर से बाहर क्वारेंटीन सेंटर पर रोका गया है। यहां लोगों के रुकने, खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। कुछ जगहों से व्यवस्था बिगड़ने से लोगों के विरोध प्रदर्शन और हंगामे की खबरें लगातार आ रही हैं। ताजा मामला पटना का है जहां बेलछी प्रखंड के सकशोहरा हाई स्कूल में हंगामा हुआ है। बाढ़ अनुमंडल में लगातार कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं इस बीच ख़राब व्यवस्था का आरोप लगाते हुए लोगों ने खूब हंगाम किया।

ये भी पढ़ें: यहां आज से खुलेंगी दुकानें: राज्य सरकार ने दी अनुमति, जानिए शाॅप खुलने की टाइमिंग

बता दें कि 48 घंटे में प्रवासी मजदूरों द्वारा हंगामा करने की ये दूसरी घटना है। जिसमें मंगलवार को पंडारक में कुर्सियां तोड़ी गई तो गुरुवार को सकशोहरा हाईस्कूल में खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए गए।

ये भी पढ़ें: अब नहीं बचेगा कोरोना: चीन के लैब में मारा गया वायरस, खोजे ये चार एंटीबाॅडी

दरअसल बुधवार को क्वारेंटाइन केंद्र पर एक पिता और 20 दिन के बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी दोनों पीड़ितों को केंद्र से हटाकर आइसोलेशन वार्ड में नहीं भेजा गया था। इस बात से नाराज होकर मजदूरों ने हाथों में ईंट लिया और खिड़कियों को चकनाचूर कर दिया।

इस पूरी घटना का वीडियो सेंटर में रहने वालों ने बनाकर वायरल कर दिया है, जिसमें तोड़फोड़ साफ नजर आ रही है। इस दौरान पुलिस कैम्पस के बाहर गेट पर खड़ी हो कर हाथ जोड़कर समझाती रही पर केंद्र के लोग नहीं माने।

ये भी पढ़ें: बाराबंकी: सड़क हादसे का शिकार हुए सात प्रवासी मजदूर, 3 की मौत

कोरोना: शरीर के इन अंगों को बुरी तरह प्रभावित कर रहा वायरस, नए अध्‍ययन में सामने आई बात

Ashiki

Ashiki

Next Story