बीसीसीआई का पीसीबी को करारा जवाब, देश में आतंकी हमले न होने की मांगी गारंटी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की पाकिस्तानी खिलाड़ियों के वीजा संबंधी गारंटी लेने की मांग पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने करारा जवाब दिया है…

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की पाकिस्तानी खिलाड़ियों के वीजा संबंधी गारंटी लेने की मांग पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने करारा जवाब दिया है। बीसीसीआई ने कहा कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों के वीजा की गारंटी चाहने वाला पीसीबी पहले भारत में आतंकी हमला न होने की गारंटी तो दे। पीसीबी की ओर से यह बयान भारत में 2021 में होने वाले टी 20 वर्ल्ड कप और 2023 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप के संबंध में दिया गया है। भारत और पाकिस्तान के राजनीतिक रिश्ते लंबे समय से खराब चल रहे हैं और दोनों टीमें आपस में सीरीज नहीं खेल रही हैं। हाल के वर्षों में दोनों टीमों के बीच आईसीसी इवेंट्स में ही मैच खेले गए हैं।

ये भी पढ़ें: यूपी में रोजगार ही रोजगार: पीएम मोदी देंगे बड़ी सौगात, कल होगा आगाज

बोर्ड नहीं दे सकता सरकार के काम में दखल

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए कहा कि आईसीसी के नियमों के मुताबिक खेल को चलाने में किसी भी प्रकार का सरकारी दखल नहीं होना चाहिए। क्रिकेट बोर्ड पर भी यही बात लागू होती है। सरकार का काम दूसरा है और क्रिकेट बोर्ड को भी सरकार के काम में किसी प्रकार की दखलंदाजी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पीसीबी भारतीय बोर्ड से वीजा को लेकर आश्वासन तो मांग रहा है, लेकिन पहले वह लिखित में यह गारंटी दे कि सीमा पार से किसी भी प्रकार की शत्रुतापूर्ण कार्रवाई नहीं की जाएगी।

ये भी पढ़ें: 5 जुलाई को नहीं होंगी CTET की परीक्षाएं, जानिए अब कब होगा एग्जाम

पीसीबी से मांगा इन सवालों का जवाब

बीसीसीआई के अधिकारी ने सवाल किया कि क्या पीसीबी की ओर से इस बात की लिखित गारंटी दी जा सकती है कि पाकिस्तान की ओर से सीमा पर किसी प्रकार की घुसपैठ नहीं की जाएगी और सीजफायर का उल्लंघन नहीं होगा? उन्होंने यह भी सवाल किया कि क्या पीसीबी इस बात की गारंटी दे सकता है कि भारत की जमीन पर किसी भी प्रकार की आतंकी गतिविधियां नहीं होंगी और पुलवामा जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होगी?

साजिश रचना बंद करे पीसीबी

बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा कि आईसीसी का नियम है कि सरकार का क्रिकेट बोर्ड के कामकाज में दखल नहीं होना चाहिए और फिर यह भी स्वाभाविक है कि खेल बोर्ड भी सरकार के काम में दखल न दें। पीसीबी को आईसीसी में भारत के खिलाफ काम करने से बाज आना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीसीबी को यह समझना होगा कि भारत एक शानदार देश है और वह सर्वाधिक संतुलित तरीके से हर काम करने की कोशिश करता है। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि पीसीबी सच्चाई को समझे और भारत के खिलाफ साजिश रचना बंद करें।

ये भी पढ़ें: आंधी-तूफान ने मचाई तबाही, 92 लोगों की मौत, 72 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी

पीसीबी के सीईओ ने दिया था यह बयान

बीसीसीआई की यह प्रतिक्रिया पीसीबी के सीईओ वसीम खान के बयान के बाद आई है। वसीम खान ने यूट्यूब चैनल क्रिकेटबाज को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि आईसीसी टी 20 वर्ल्ड कप 2021 और वनडे वर्ल्ड कप 2023 भारत में होने हैं। हमने आईसीसी को स्पष्ट रूप से कह दिया है कि वह हमें बीसीसीआई से लिखित में आश्वासन दिलवाए कि हमारे खिलाड़ियों को वीजा संबंधी किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आएगी।

ये भी पढ़ें: तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस का अनोखा विरोध, ऐसे किया प्रदर्शन

वीजा संबंधी दिक्कतें खड़ी करने का आरोप

पीसीबी के सीईओ ने कहा कि विभिन्न खेलों में पाकिस्तानी टीमों को भारत की ओर से हाल के दिनों में वीजा नहीं दिया गया और इस कारण पाकिस्तान की टीमें उन खेलों में हिस्सा नहीं ले सकीं। इसलिए हम वर्ल्ड कप के बारे में लिखित आश्वासन चाहते हैं। जानकारों का कहना है कि वसीम खान के दावों में कोई दम नहीं है क्योंकि भारत सरकार ने पिछले साल ही मल्टी नेशन स्पोर्टिंग इवेंट में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के वीजा संबंधी विवाद को सुलझा लिया था।

ये भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने चीन से आयात पर दिया बड़ा बयान, गणेश मूर्ति मंगाने पर उठाए सवाल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App