air force

पाकिस्तान में शुक्रवार को वायु सेना का मिराज एयरक्राफ्ट अचानक क्रैश हो गया। दुर्घटना में किसी के मारे जाने की जानकारी नहीं मिली है।

डोर्नियर 228 बहुद्देश्यीय और भरोसेमंद है। ईधन की खपत भी इसमें कम होती है। यह हल्के वजन का है तथा इसमें चालक दल के दो सदस्य बैठ सकते हैं। यदि इसे यात्री विमान के तौर पर इस्तेमाल किया जाए तो 19 व्यक्ति इसमें बैठ सकते हैं।

केंद्र सरकार ने थल सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना के सेवा नियमों में बदलाव किए हैं। इनके सेवा नियमों में संशोधन किया गया है। संशोधन के बाद तीनों सेवाओं के प्रमुखों में से जिन्हें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में नियुक्त किया जाएगा।

चिली से अंटार्कटिक जा रहा एक सैन्य विमान लापता हो गया। अंटार्कटिका के ऊपर से जा रहे इस विमान में 38 लोग सवार थे। चिली एयरफोर्स ने अंतरराष्ट्रीय एजेंसी को इसकी जानकारी दी है और अब रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। यह एक मालवाहक विमान था।

एयर फोर्स के शीर्ष अफसरों ने बुधवार को कहा कि गड़बड़ियां गंभीर किस्म की नहीं हैं बल्कि हर स्वदेसी सिस्टम में शुरुआती स्तर पर इस तरह की चीजें देखने को मिलती हैं।

कश्मीर में सरकार ने आतंकियों से निपटने के लिए बड़ा कदम उठाया। इसमें तीनों सेना के विशेष बल को तैनात करने का निर्णय लिया गया है। थल सेना, नौसेना और वायु सेना के विशेष बल कश्मीर घाटी में आतंकवादियों का सफाया करने के लिए संयुक्त रूप से काम करेंगे।

भारत की सेवा और सुरक्षा के लिए जल्द ही भारतीय वायुसेना में कई खतरनाक विमान शामिल किये जायेंगे। एस संदर्भ में भारतीय वायुसेना की रखरखाव कमान का नेतृत्व करने वाले एयर मार्शल शेरा ने कहा कि इसके अलावा यूएवी, ड्रोन और विभिन्न मशीनों को सैन्य क्षेत्र में शामिल किया जाएगा।

भारतीय वायुसेना को लेकर राकेश कुमार भदौरिया ने कहा कि सेना कभी हमला करने के बारे में नहीं सोचती है लेकिन अगर भारत को कोई उकसाएगा तो सरकार जैसा तय करेगी वैसा करने के लिए हमारी सेना हर समय तैयार है।

बताया जा रहा है कि पहली ऐसा हुआ है कि जब तीनों सेनाओं की स्पेशल फोर्स ने इस तरह के युद्धाभ्यास में एक साथ हिस्सा लिया है। यह युद्धाभ्यास गुजरात के नालिया में किया गया। नालिया गुजरात के कच्छ जिले का हिस्सा है। यहां भारतीय थल सेना और भारतीय वायु सेना का अहम बेस है।

मिन्हास अटोक में 2 स्क्वॉड्रन, पेशावर में 2 स्क्वॉड्रन, मुशफ सरगोधा में 6 स्क्वॉड्रन, रफीकी शोरकोट में 4 स्क्वॉड्रन, सैमुंगली क्वेटा में 2 स्क्वॉड्रन, शाहबाज जैकोबाबाद में 2 स्क्वॉड्रन, मसरूर-कराची में 4 स्क्वॉड्रन और भोलारी थट्टा में 1 स्क्वॉड्रन है।