china

चीन से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तांडव मचा रखा है। जहां दुनिया में यह वायरस तबाही मचा रहा है, तो वहीं चीन में इसका असर हो रहा है। चीन ने अपने शहरों से लॉकडाउन भी हटाने की तैयारी कर रहा है।

आज 1 अप्रैल है।मूर्ख दिवस। लेकिन कोरोना वायरस के चलते इसे  नहीं मनाया जा रहा है। एक अप्रैल को ये गाना सभी की जुबान पर रहता है 'अप्रैल फूल बनाया तो उसको गुस्सा आया, इसमें मेरा क्या कसूर जमाने की है भूल जिसने दस्तूर बनाया '  april fool यानि 1 अप्रैल।

नेपाल में एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे स्थानीय और चीन के लोगों में झड़प की खबर है। मंगलवार को कोलामजुंग में जलविद्युत संयंत्र का निर्माण करने वाली एक चीनी कंपनी के मालिकों और नेपाल के मार्यांगडी के स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई।

कोरोना वायरस संकट के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था में इस साल मंदी दिखाई देगी और वैश्विक आय में कई ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होने का अंदेशा है। ऐसे हालात में विकासशील देशों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ेगा, लेकिन चीन और भारत जैसे देश इसमें अपवाद साबित होंगे।

कोरोना वायरस के जरिये पूरी दुनिया को भारी संकट में डालने वाला चीन एक ऐसा देश है जिसे दूसरों की दिक्कतों से कोई लेना-देना नहीं। यह बात एक बार फिर साबित होती दिख रही है। जहां एक और खतरनाक कोरोना वायरस रोज पूरी दुनिया में हजारों लोगों की जान ले रहा है, वहीं दूसरी ओर चीन में एक बार फिर उन खतरनाक जानवरों की मंडियां सज गई हैं जिन्हें इस वायरस का जनक माना जा रहा है।

देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता ही जा रहा है। अब इस बीच भारत ने पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट्स (PPEs) किट्स, N95 मास्क और वेंटिलेटर्स के आयात पर ध्यान देना शुरू कर दिया है।

कोरोना वायरस पाकिस्तान में भी तेजी से फैल रहा है। उसके लिए अपने मरीजों का इलाज करना भारी पड़ रहा है। ऐसे में चीन उसकी मदद के...

कोरोना वायरस ने आज के समय में पूरी दुनिया में आफत मचा दी है। इसी सिलसिले में आपको बता दें सन् 1981 में एक किताब छापी थी, जिसमें एक वायरस का जिक्र था।

कोरोना वायरस से चीन भले ही उभर चुका हो, लेकिन बाकी दुनिया में अभी इसकी वैक्सीन बनाना बहुत बड़ी चुनौती बनी हुई है। बता दें कि चीन में इस संक्रमण के 81000 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं, जबकि 3300 लोगों की इससे मौत हो चुकी है।

चीन से फैले जानलेवा कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। इस खतरनाक वायरस ने नवंबर 2019 में चीन में फैलना शुरू किया था। इसके बाद यह वायरस पूरी दुनिया में फैल गया।