china

चीन घाटे में चल रहे ब्रिटिश स्कूलों को खरीद रहा है। ऐसे में इसके पीछे चीन की ये मंशा जताई जा रही है कि वो आगे चलकर स्कूलों में अपनी विचारधारा को बढ़ावा दे सकता है। जिससे ब्रिटिश बच्चे भी चीन की छत्र-छाया में रहे।

भारत और चीन भले सीमा पर तनाव कम करने की कोशिश में लगे हैं, मगर पीठ पीछे चीन भारत विरोधी प्रोपेगैंडा चला रहा है। पिछले हफ्ते ही चीन ने यह बात मानी थी कि गलवान घाटी में झड़प के दौरान उनके चार सैनिकों की मौत हुई थी।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग ने कहा कि उभरती अर्थव्यवस्थाओं एवं विकासशील देशों के वैश्विक प्रभाव के साथ ब्रिक्स सहयोग की प्रणाली है। हाल के सालों में वृहद एकजुटता एवं गहरे व्यावहारिक सहयोग के साथ वृहत्तर प्रभाव देखने को मिला है।

चीन की ओर से सैनिकों के मारे जाने के आंकड़े रिलीज किए जाने के बाद शनिवार को तीनों पत्रकारों को अरेस्ट किया गया था। जिसके बाद से दुनिया भर में चीन की खूब फजीहत हो रही है।

1962 के युद्ध के दौरान चीनी सैनिकों ने डेपसांग मैदान पर कब्जा कर लिया था। 2013 में चीनी सैनिकों द्वारा इसके 19 किमी अंदर आकर भारत के टेंटों को उखाड़ दिया गया

चीन की सरकारी मीडिया की तरफ से जारी किए गए एक वीडियो में कहा गया कि गलवान घाटी में हुई झड़प का ऑन-साइट वीडियो है। इस वीडियो में ये दिखता है कि किस तरह से भारतीय सैनिकों ने धीरे-धीरे चीन के क्षेत्र में घुसने की कोशिश की।

इस बीच कोरोना की उत्पत्ति की जांच करने के लिए वहां पहुंची जांच टीम को कई ऐसे सबूत मिले हैं कि 2019 में दिसंबर महीने के दौरान वुहान में कोरोना वायरस का व्यापक फैलाव हो चुका था।

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच पैंगोंग त्सो में सेना के पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू करने की सहमति के एक सप्ताह बाद यह शुरुआत दोनों देशों की बातचीत से समस्या के समाधान की इच्छाशक्ति दिखा रहा है। दोनो सेनाएं निर्धारित प्रक्रिया के तहत पीछे हट रही हैं।

राहुल गांधी का हिन्दी ज्ञान तो मिडिल क्लास से भी कम का लगता है क्योंकि, मिडिल क्लास के भी बच्चे जानते हैं कि ‘‘गद्दार’’ कौन होता है और ‘‘कायर’’ का मतलब क्या होता है।

चीन अपने सैनिकों को सुपर सोल्जर में बदलना शुरू कर दिया है। सैनिकों के लिए चीन ने एक बेहद खास आयरनमैन की तरह का एक्सोस्केलेटर सूट बनाया है जो भारी से भारी वजन को ले जाने में मदद करता है। साथ ही ये भी बताया गया है कि इन सैनिकों को नागरी इलाके में तैनात किया है जो लद्दाख से लगा हुआ है।