india

लद्दाख में सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। लद्दाख में मात खान के बाद चीन बौखलाया हुआ है। अब इस बीच चीन ने अरुणाचल सीमा पर हलचढ़ बढ़ा दी है। लेकिन भारतीय सेना ने भी जवाब देने के लिए तैयार है।

किसानों से संबंधित तीन कानूनों के बनने से एक केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल इतनी नाराज हुईं कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया। वे अकाली दल की सदस्य हैं और पंजाब से सांसद हैं।

भारत द्वारा प्याज के निर्यात (Export) पर रोक लगाने से पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश (Bangladesh) बेहद परेशान है। इसे लेकर पड़ोसी मुल्क ने गहरी चिंता भी जताई है।

आज भारत विश्व में अपनी नई पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है। वो भारत जो कल तक गाँधी का भारत था जिसकी पहचान उसकी सहनशीलता थी

लद्दाख में भारत और चीन के बीच सीमा तनाव चल रहा है। तीन महीने बाद चीन ने पहली बार माना कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में उसके सैनिकों की भी मौत हुई थी।

सरकारी इंजीनियरिंग कंपनी भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड(BHEL) ने Maglev (magnetic levitaion) ट्रेन को भारत में लाने के लिए स्विटजरलैंड की कंपनी SwissRapide AG के साथ समझौत किया है। BHEL ने यह जानकारी दी है।

चीन लगातार भारतीय सीमाओं में घुसपैठ की कोशिश कर रहा है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच एलएसी पर फायरिंग हुई है। ऐसी घटना 45 सालों में पहली बार एलएएसी पर हुई। चीन की सेना ने लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश करते हुए भारतीय चौकी की तरफ फायरिंग की थी। सीमा पर भारत और चीन ने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है।

एक ओर जहां पूरा देश कोरोना महामारी से परेशान है और वैक्सीन का इंतजार कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर अच्छी खबर यह है कि देश के लोगों के शरीर में एंटीबाडी तेजी से विकसित हो रही हैं।

लोकसभा में विगत 15 सितंबर को भारत-चीन के बीच चल रहे मौजूदा तनावपूर्ण संबंधों पर चर्चा और 56 साल पहले 14 अप्रैल, 1962 को भारत-चीन युद्ध के बाद हुई बहस में जमीन-आसमान का अंतर है।

भारत और चीन 1962 में युद्ध के मैदान में आमने सामने लड़ चुके हैं। चीन ने उसके बाद किसी पूर्ण युद्ध में हिस्सा नहीं लिया है जबकि भारत ने पाकिस्तान के साथ कई युद्धों का सामना कर चुका है। भारत ने पाकिस्तान को हर युद्ध में धूल चटाया है।