japan

चीन की चालबाजी से पूरी दुनिया अच्छी तरह से परिचित है। पहले ही चीन ने कोरोना वायरस फैलाकर दुनियाभर में तबाही मचा दी है। दुनियाभर के देशों ने चीन की चौतरफा घेर लिया है। अमेरिका, ब्रिटेन और दुनिया के 27 देश चीन को करारा जवाब देने के लिए तैयार है।

जापान की राजधानी टोक्यो (Tokyo) से करीब 940 किलोमीटर दूर स्थित एक ज्वालामुखी रविवार यानी 28 जून को फट गया। यह ज्वालामुखी बीते कुछ हफ्तों से धीरे-धीरे सुलग रहा था, जिसके बाद ज्वालामुखी में रविवार को विस्फोट हुआ।

  अमेरिका और चीन  से आगे निकला जापान। क्योंकि जापान में  दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर बना है। इस सुपरकंप्यूटर का नाम( Fugaku) है जिसमें 48 कोर A64FX चिप लगा है। साथ ही यह दुनिया का पहला सुपरकंप्यूटर है जिसमें ARM प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है और इसे टॉप 500 की लिस्ट में जगह मिली है।

जापान ने चीन के खिलाफ सैन्य गतिविधियों को बढ़ा दिया है। इतना ही नहीं जापान की मिसाइलें चीन की राजधानी बीजिंग पर निशाना साध रही हैं।

एक तरफ जब देश-दुनिया को कोविड-19 संक्रमण के कारण सिर्फ अशुभ समाचर ही मिल रहे हैं, तब उसी समय विभिन्न देशों के हजारों पेशेवर भारत में आकर काम-धंधा शुरू करना चाह रहे हैं।

आज के समय में यानि कोरोना के दौर में पूरी दुनिया जिंदगी और मौत से जूझ रही है। लोग एक – दूसरे से मिलने से भी हिचक रहे है। लोग इस वक्त क्वारेंटाइन में हैं है

Delhi-NCR में बीते 12 अप्रैल से 29 मई के बीच दस भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। वहीं बीते पांच दिनों में दिल्ली- NCR में तीन भूकंप के झटके रिकॉर्ड किए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रबल इच्छा है कि राज्य में अधिक से अधिक निवेश आये और लोगों को बृहद स्तर पर रोजगार के अवसर प्राप्त हो।

दुनिया कोरोना वायरस की खतरनाक तबाही की मार झेल-झेल कर परेशानी है, इधर जापान में कुछ और ही चल रहा है। जापान सरकार के एक चैनल ने चेतावनी दी है कि देश एक बार फिर भयंकर सुनामी की चपेट में आ सकता है।

देश में कोरोना की जांच के जो आंकड़े अभी तक सामने आए हैं, उनके हिसाब से दिल्ली में 12 में से एक सैंपल संक्रमित मिल रहा है। इस मामले में दूसरे स्थान पर मध्य प्रदेश है जहां 16 सैंपल की जांच में एक व्यक्ति संक्रमित मिल रहा है।