japan

हाइवे पर गाड़ियों के जाम के कारण कम से कम 200 लोग फंसे रहे। घटनास्थल से मलबे को हटाने में 8 घंटे का वक्त लग गया।

ब्राजील से जापान पहुंचे यात्रियों में यह स्ट्रेन मिला है। यह स्ट्रेन दक्षिण अफ्रीका और ब्रिटेन में मिले अधिक संक्रामक स्ट्रेन से अलग है। जापानी स्ट्रेन के बारे में अधिक जानकारी जुटाने के लिए वैज्ञानिकों ने स्टडी शुरू कर दी है।

चीन में कोरोना वायरस के बीते 5 महीनों में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। जिसके मद्देनजर चीन के हेबेई प्रांत में लॉकडाउन लगा दिया गया है। साथ ही जापान की राजधानी टोक्यो में आपातकाल घोषित कर दिया गया है।

बर्ड फ्लू के प्रसार को रोकने के लिए अब तक 34 लाख मुर्गियों की पहले ही हत्‍या की जा चुकी है। हाल ही में बर्ड फ्लू का प्रकोप ब्रिटेन, नीदरलैंड, उत्‍तरी जर्मनी और बेल्जियम में भी सामने आया है।

जापान में बर्फबारी बुधवार से जारी है। जिसकी वजह से हाईवे पर भीषण जाम लगा हुआ है। हजारों की तादाद में गाड़ियां और उन गाड़ियों में फंसे लोगों को सड़क पर रातें गुजारनी पड़ रही हैं। जबरदस्त ठंड में बर्फबारी की वजह से लगे जाम में लोग भूखे-प्यासे हैं।

दुबई में आठ अरब डॉलर की लागत से बना बुर्ज खलीफा हाइट में एफिल टावर से तीन गुना ज्यादा ऊंचा है। इसकी ऊंचाई करीबन 2716 फीट है।

जापान का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा था। यहां आसमान से बिल्कुल छोटे-छोटे आग के गोले बरस रहे थे। असल में बात ये है कि यहां जो उल्कापिंड की बारिश हो रही थी, वो कुछ देर चलती रही।

बताया जा रहा है कि दक्षिण-पश्चिम जापान में होन्शू द्वीप पर मियाजाकी नाम का प्रांत है, यहां ह्युगा शहर के एक पोल्ट्री फार्म में बर्ड फ्लू की खोज हुई है, जिसका नाम है 'एवियन इन्फ्लूएंजा'।

जापान के ह्योगो परफेक्चर के आकाशी म्यूनिसिपल प्लेनेटेरियम के डायरेक्टर ताकेशी इनोउ ने कहा कि उल्का जितनी तेज चमका था, उससे बहुत बड़े इलाके में रोशनी हो गई थी।