mukesh ambani

सऊदी अरामको और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने आज रिफाइनिंग, पेट्रोकेमिकल्स सहित तेल की बिक्री कारोबार में प्रस्तावित निवेश के लिए ऑयल टू कैमिकल्स (ओ2सी) डिवीजन में निवेश के संबंध में एक गैर-बाध्यकारी पत्र (एलओआई) पर हस्ताक्षर करने पर सहमति व्यक्त की है।

रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड (जियो), रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी और माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ने भारतीय इकोनॉमी और समाज को डिजिटल आधार पर तेजी से बदलने के लिए एक नया करार किया है।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को सरकार ने हटाया दिया है। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया गया है। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद पीएम मोदी ने दोनों प्रदेशों के विकास लेकर प्रतिबद्धता जताई थी।

अब रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) काफी बड़ी कंपनी बन गयी है, जोकि महज 1000 रुपये शुरू की गयी थी। अब रिलायंस इंडस्ट्रीज पेट्रोलियम अन्वेषण और उत्पादन, पेट्रोलियम शोधन और विपणन, पेट्रोकेमिकल्स, खुदरा और दूरसंचार जैसे प्रमुख क्षेत्रों में कार्यरत है।

वैसे रिलायंस की एनुअल जनरल मीटिंग में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का साथ देने उनकी पत्नी नीता अंबानी तो मौजूद थीं। साथ में, अंबानी का हौसला बढ़ाने के लिए एनुअल जनरल मीटिंग में उनकी मां कोकिलाबेन अंबानी भी शामिल हुईं।

रिलायंस जियो एक नया फोन लाने जा रहा है। कंपनी के इस फोन मीडिया टेक चिपसेट लगा होगा। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस 4जी फीचर फोन पर काम हो रहा है। कंपनी कई टेलिकॉम कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रही है। जियो KaiOS के साथ भी मिलकर काम कर रही है।

योगी सरकार की इस कार्यक्रम की गंभीरता का अंदाजा इसी बात पर लगाया जा सकता है कि पूरी सरकार इस कार्यक्रम लगी हुई है। इसलिए कार्यक्रम की रूपरेखा इस तरह से तैयार की गयी है। 

31 मार्च को समाप्त हुए वित्त वर्ष 2018-19 में रिलायंस ने 6.23लाख करोड़ रुपये का कारोबार किया। दोनों कंपनियों द्वारा विनियामक फाइलिंग के अनुसार, आईओसी ने वित्त वर्ष में 6.17लाख करोड़ रुपये का कारोबार किया। यह वित्त वर्ष 2019 में आईओसी के शुद्ध लाभ से दोगुने से अधिक के शुद्ध लाभ के साथ देश की सबसे अधिक लाभदायक कंपनी भी बनी है।

रिलायंस जियो अपने ग्राहकों के लिए हमेशा नए-नए प्लान लाॅन्च करती रहती है। अब जियो बाजार में तहलका मचाने की तैयारी में है। अब रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन नया ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म अधिकारिक रूप से लॉन्च करने की तैयारी में हैं।

देश में हाई-स्पीड 4जी डाउनलोड स्पीड उपलब्ध कराने के मामले में रिलायंस जियो सबसे आगे रही। मार्च महीने में जियो की औसत डाउनलोड स्पीड 22.2 एमबीपीएस (मेगाबाइट पर सेकेंड) रही। फरवरी महीने में उसकी स्पीड 20.9 एमबीपीएस थी।