rbi

नई दिल्ली: यह खबर 100 रुपये के पुराने नोटों से जुड़ी है, जो आपको सीधे प्रभावित कर सकती है। इस समय मीडिया के कुछ वर्गों में कुछ पुराने करेंसी नोटों (100, 10 और 5 रुपये के) को अगले महीने से चलन से हटाने की खबर चल रही है। जिसके बाद लोगों की टेंशन बढ़ गई …

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बताया है कि लोगों को नोटबंदी के समय परेशानियों का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस बार आरबीआई यह सुनिश्चित करेगा कि जितने पुराने नोट सर्कुलेशन में हैं उतने ही नए नोट मार्केट में आ जाएं और लोगों को कोई परेशानी न हो।

गूगल पर अभी भी पर्सनल लोन देने वाले ऐसे कई ऐप्स मौजूद हैं। जैसे ही प्ले स्टोर पर LOAN लिखकर सर्च किया जाता है, तो लंबी लिस्ट खुल जाती है। इनमें सरकारी ऐप्स के साथ कई प्राइवेट बैंक और फर्म के ऐप्स भी शामिल हैं।

एनबीएफसी का व्यवसाय बीते काफी दिनों से एकदम सुस्त पड़ा हुआ था। जिस वजह से RBI ने तीन NBFC का लाइसेंस रद्द कर दिया है। जबकि छह अन्य एनबीएफसी ने अपना लाइसेंस रद्द कर दिया है।

इंस्टेंट लोन ऐप्स (Instant Loan) एनबीएफसी (Non-Banking Financial Company) के बिना ही सीधे बैंकों में करंट अकाउंट (Current Account) खोलकर कानूनी रूप से धोखा दे रहे हैं। लोन जारी करने से लेकर इसे कलेक्ट करने का पूरा प्रोसेस इन्हीं करंट अकाउंट्स के जरिए हो रहा है।

ऑनलाइन पेमेंट के बढ़ते क्रेज को देखते हुए भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) ने भी एक फैसला लिया है। बता दें कि NPCI ने 1 जनवरी 2021 से थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स की ओर से चलाई जाने वाली UPI पेमेंट सर्विस पर एक्सट्रा चार्ज लागू करने का निर्णय लिया है।

चेक पेमेंट से पहले इन जानकारियों को क्रॉस-चेक किया जाएगा। अगर चेक की सारी डिटेल दोबारा दी गई जानकारी से मैच हो जाएगी तो ही बैंक इस चेक का पेमेंट करेगा। लेकिन अगर चेक की डिटेल मेच नहीं हुई तो बैंक पेमेंट रोक देगा।

बता दें कि आरबीआई द्वारा 1 जनवरी से लागू किया जाने वाला पॉजिटिव पे सिस्टम एक प्रकार से फ्रॉड को पकड़ने वाला टूल है। इसके तहत कोई व्यक्ति जब 50 हजार रुपये से ज्यादा पैसे के लिए चेक जारी करेगा, तो उसे अपने बैंक को दोबारा पूरी डिटेल देनी होगी।

कुछ ही दिनों में साल 2020 खत्म हो जाएगा। लेकिन इस साल के खत्म होने से पहेल आप सोने की सस्ती खरीदारी कर सकते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरूवार को कहा कि अगली श्रृंखला के सरकारी स्वर्ण बॉन्ड के लिए 5000 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है।

भारतीय रिजर्व बैंक ने साल 2021 में बैंकों का कैलेंडर जारी कर दिया है। इसके मुताबिक़, पूरे साल की छुट्टियों की लिस्ट आ गयी है, जो राज्यों के अनुसार तय की गई हैं।