@samajwadiparty

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने आरोप लगाया कि सरकार आजम खान को मोहरा बनाकर मुसलमानों को हर हाल में डराना और धमकाना चाहती है। सत्तापक्ष का मानना है कि जब आजम डरेंगे तभी तो कौम डरेगी।

किसानों को आय दुगनी करने और फसलों की लागत से डेढ़ गुना मूल्य दिलाने के वादे तो रोज-रोज दुहराए जाते हैं लेकिन हकीकत में अभी तक भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री का कोई वादा पूरा नहीं हुआ है।

लगभग डेढ़ हजार पर्वतीय जनों के बीच अखिलेश यादव ने सर्वप्रथम भगवान बागनाथ बागेश्वर महादेव मंदिर से आई ज्योति का पुष्पांजलि के साथ अभिनंदन किया। उनके साथ नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी भी थे।

प्रदेश में अन्याय, अनाचार और भ्रष्टाचार दिनोंदिन बढ़ रहा हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति समाप्त प्राय है। कर्जदार किसान, नियुक्ति से वंचित शिक्षामित्र, बेरोजगार युवा, गुण्डों से तंग किशोरियां आत्महत्या करने को मजबूर हैं। उत्तर प्रदेश को भाजपा के कारनामों ने ‘हत्या प्रदेश‘ बनाकर रख दिया है जिस पर देश ही नहीं विदेशों तक में उंगलियां उठाई जाने लगी हैं।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर समाजवादी पार्टी 19 दिसम्बर को मण्डलस्तर के बजाय अब जनपदस्तर पर धरना देगी।  यह धरना नागरिकता संशोधन विधेयक, बेकारी, मंहगाई, महिलाओं पर अत्याचार और किसानों की समस्याओं को लेकर दिया जाएगा।

सपा वरिष्ठ नेता आजम खां के घर के बाहर नोटिसों का भंडार देखकर लोग हैरान हो गए। आजम खां के रामपुर स्थित आवास में मंगलवार को मुख्य दरवाजे के बाहर पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने जमीन हड़पने समेत अन्य कई मामलों से संबंधित कोर्ट की कई नोटिस एक साथ चिपका दिए हैं। 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी ने आरोप लगाया है कि पार्टी नेता मो. आजम खां को हराने के लिए रामपुर के प्रशासनिक अधिकारी किसी भी हद तक जा सकते हैं। इनके रहते रामपुर में निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकता है। श्री चौधरी का यह बयान मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पार्टी का ज्ञापन सौंपने के बाद दिया है।

सपा अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि हकीकत यह है कि सपा सरकार ने मथुरा के विकास के लिए जो योजनाएं शुरू की थीं, वो भी भाजपा सरकार में अधूरी छोड़ दी गई हैं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में पशु पालन और दुग्ध उद्योग पर विशेष ध्यान दिया गया था। अमूल और पराग के नए प्लांट भोगनीपुर (कानपुर) वाराणसी और लखनऊ में और इटावा में मदर (डेयरी) प्लांट भी लगाया गया था।