voting

राजस्थान में ग्राम पंचायत चुनाव 2020 के लिए रविवार को मतदान शुरू हो गये हैं। यहां 704 ग्राम पंचायतों के लिए वोटिंग हो रही है। मतदान शाम 5 बजे तक होना है। वहीं मतदान के बाद शाम में ही परिणाम घोषित कर दिए जायेंगे।

दिल्ली में विधानसभा चुनाव 2020 खत्म हो गये हैं, वहीं अब मतगणना और चुनाव परिणाम का इंतज़ार हो रहा है। इसी बीच ईवीएम (EVM) पर आरोप लगने का खेल शुरू हो गया है।

दिल्ली विधान सभा चुनाव को लेकर शनिवार को वोटिंग हो रही है। ऐसे में शाहीन बाग़ और जामिया क्षेत्र से भी लोग मतदान करने के लिए पोलिंग बूथ पर पहुंचे।

भारत की राजधानी दिल्ली में शनिवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान (voting) हो चुके हैं। दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों पर आज एक ही चरण में वोटिंग हुई।

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान हो गया है। चुनाव आयोग ने आज प्रेस वार्ता के दौरान विधानसभा चुनाव से जुड़े सभी डिटेल्स दिए। वहीं इसी के साथ दिल्ली में अचार संहिता लागू हो जाएगी। आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी, वहीं 11 फरवरी को चुनाव परिणाम आ जायेगे। इसके अलावा 21 जनवरी को उम्मीदवार नामांकन दाखिल कर सकेंगे। इसी के साथ दिल्ली में अचार संहिता लागू हो गयी है।

झारखंड विधानसभा चुनाव के पांचवें और अंतिम चरण के लिए शुक्रवार को वोटिंग हो रही है। इस चरण में 236 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है। राज्य के संथाल क्षेत्र की 16 विधानसभा सीटों पर 40,05,287 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

झारखंड विधानसभा चुनाव के चाैथे चरण की 15 सीटाें पर सोमवार को मतदान हुआ। इनमें 10 सीटों पर शाम 5 बजे तक जबकि 5 सीटों पर दोपहर 3 बजे मतदान हुआ। 3 बजे तक कुल 55% मतदान हुआ।

मंगलवार को हुई संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में भारत ने फिलिस्तीनियों के आत्म-संकल्प के अधिकार से संबंधित प्रस्ताव का समर्थन किया। भारत के अलावा कुल 164 देशों ने फिलिस्तीन के फेवर में वोटिंग की।

जम्मू कश्मीर के 310 ब्लॉकों में ब्लॉक विकास परिषदों के अध्यक्षों के चुनाव के लिए गुरुवार को मतदान हुआ। बता दें कि आज सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक मतदान हुआ। इसके साथ ही मतों की गिनती भी आज दोपहर तीन बजे से शुरू हो गई। ध्यान देने वाली बात है कि चुनाव की यह प्रक्रिया पंचायती राज व्यवस्था का दूसरा स्तर है जो पांच नवंबर तक संपन्न होगी।

रीना द्विवेदी कहती हैं कि मेरे स्टाइल ने मुझे दुनिया में नई पहचान दिलाई है। हालांकि मैं शुरू से ही फैशन को फॉलो करती रही हूं। लेकिन पीडब्ल्यूडी (PWD) में नौकरी मिलने के बाद मौका कम मिल पाता था लेकिन पिछले चुनावों में मैं पीली साड़ी से मशहूर हो गई और लोग मुझे पीली साड़ी वाली मैडम कहने लगे।