Top

सड़कों पर पसरा सन्नाटा: एक दिन पहले हुआ ये हाल, घरों में कैद हुए लोग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'जनता कर्फ्यू' को लेकर देशवासियों से अपील की है। लेकिन कर्फ्यू से पहले ही भारत में कर्फ्यू जैसा नजारा है। सड़कों पर सन्नाटा है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 21 March 2020 9:08 AM GMT

सड़कों पर पसरा सन्नाटा: एक दिन पहले हुआ ये हाल, घरों में कैद हुए लोग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: कोरोना से निपटने के लिए भारत में 22 मार्च को जनता कर्फ्यू घोषित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'जनता कर्फ्यू' को लेकर देशवासियों से अपील की है। लेकिन कर्फ्यू से पहले ही भारत में कर्फ्यू जैसा नजारा है। सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। बाजारें बंद हैं। उत्तर प्रदेश के लखनऊ की सडकों के हाल देख कर अनुमान लगाया जा सकता है कि कोरोना के खौफ में लोग इस कदर सहमे हुए हैं, लेकिन कोरोना से निपटने के लिए कर्फ्यू से पहले कर्फ्यू का जैसा माहौल एक तरह से लोगों की जागरूकता को दर्शा रहा रही।

लखनऊ में एक दिन पहले ही दिखा कर्फ्यू का माहौल:

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का नजारा देख कोई भी कहेगा कि शहर में इमरजेंसी लागू है। आम तौर पर भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी आज एक दो लोग ही नजर आये। ये हालात कोरोना के कारण बने हैं।

ये भी पढ़ें: कारगिल पहुंचा कोरोना, लगातार बढ़ रहा मरीजों का आंकड़ा- देखें लिस्ट



स्कूल कॉलेज, ऑफिस बंद

स्कूल-कॉलेज आदि को पहले ही बंद करने के आदेश दिए जा चुके हैं, तो वहीं सरकार ने सरकारी और गैर सरकारी कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति दी है। इस बाबत हर दिन ऑफिस और स्कूल जाने वाले लोग अब कोरोना के कारण घरों में कैद है।

ये भी पढ़ें:जानें क्या है सिटी लॉकडाउन: आखिर कोरोना के डर से क्यों किया जा रहा ऐसा

सड़कों पर पसरा सन्नाटा

शहर के जिन चौराहों पर गाड़ियों के होर्न का शोर कभी थमता नहीं है, वहां आज इक्का-दुक्का गाड़ियाँ ही नजर आई। न तो ट्राफिक जैम का झंझट और न ही यातायात का शोर सुनाई दे रहा है।

ये भी पढ़ें: जनता कर्फ्यू पर बड़ी खबर, सिर्फ यही लोग निकल सकतें हैं बाहर

बाजारों-दुकानों में कोई नहीं

बाजारों और दुकानों को भी बंद कर दिया गया। न तो दुकाने खुली हैं और न ही कोई खरीदार दिख रहा है।

गौरतलब है कि कोरोना से निपटने के लिए पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। इसके आधार पर 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी से घरों में रहने की अपील की गयी है। वहीं पीएम के जनता कर्फ्यू का लोग अभी से पालन करते दिख रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story