इमरान के मंत्री का खुलासा, करतारपुर कॉरिडोर खोलने के पीछे सरकार की ये थी मंशा

पाकिस्तान के मंत्री शेख राशिद ने शनिवार को दावा कि करतारपुर कॉरिडोर खोलने के पीछे सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का दिमाग है। उन्होंने भारत को बड़ा जख्म दिया, जो हमेशा चुभता रहेगा।

Published by Aditya Mishra Published: December 1, 2019 | 3:15 pm
Modified: December 1, 2019 | 3:38 pm

नई दिल्ली: पाकिस्तान के मंत्री शेख राशिद ने शनिवार को दावा कि करतारपुर कॉरिडोर खोलने के पीछे सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का दिमाग है। उन्होंने भारत को बड़ा जख्म दिया, जो हमेशा चुभता रहेगा।

इससे पहले प्रधानमंत्री इमरान खान कह चुके हैं कि इसे शुरू करने का आइडिया उनका था। कॉरिडोर पंजाब के डेरा बाबा नानक और पाकिस्तान के करतारपुर के बीच बना है। इसे गुरु नानक देवजी की 550वीं जंयती के मौके 9 नवंबर को खोला गया था।

ये भी पढ़ें…सऊदी और यूएई ने पाकिस्तान को दिया तगड़ा झटका, भारत को होगा ये बड़ा फायदा

इमरान खान ने भारतीय सिख श्रद्धालुओं के लिए पहले जत्थे का स्वागत किया था। उन्होंने कहा था,‘‘मुझे इस स्थान की अहमियत के बारे में जानकारी नहीं थी। मुझे एक साल पहले ही इस बारे में पता चला। मैं खुश हूं कि आपके लिए यह कर पाया।’’

शेख रशीद ने कहा, ‘जनरल बाजवा ने इस कॉरिडोर को खोलकर भारत पर करारा हमला किया है। इस प्रोजेक्ट के जरिए पाकिस्तान ने शांति का माहौल बनाया और सिख समुदाय का प्यार जीता।’ रशीद ने भारतीय मीडिया पर आरोप लगाया कि उसने जनरल बाजवा के सेवा विस्तार को जानबूझकर बड़ी खबर बनाया।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान में इमरजेंसी लगाएगी इमरान सरकार! बाजवा पर आने वाला है बड़ा फैसला

शेख रशीद ने माना कि इमरान सरकार को पाक सेना का समर्थन हासिल है। उन्होंने कहा, ‘इमरान खान सरकार के अभी तीन साल बचे हैं और बाजवा को भी छह महीने नहीं बल्कि तीन साल का सेवा विस्तार मिला है। इसलिए हमारी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी।’

कैसे पहुंचे करतारपुर?

करतारपुर साहिब की यात्रा पर जाना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले डेरा बाबा नानक पहुंचना होगा। इसके बाद ही कॉरिडोर के जरिए आप करतारपुर साहिब तक जा सकते हैं। डेरा बाबा नानक तक आप बड़ी आसानी से किसी भी माध्यम से पहुंच सकते हैं। सड़क मार्ग से आप अपनी गाड़ी के जरिए यहां पहुंच सकते हैं। इसके अलावा आर राज्य परिवहन की बसों से भी यहां पहुंच सकते हैं। यहां रेल मार्ग द्वारा पहुंचना भी काफी आसान है। यहां से सबसे नज़दीक रेलवे स्टेशन बटाला और सबसे नजदीकी एयरपोर्ट अमृतसर है।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान: SC ने सेना प्रमुख बाजवा का कार्यकाल बढ़ाया, इमरान ने ली राहत की सांस

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App