Top

नाग-नागिन फिर अकेले में लड़कियों से ये घिनौना काम, रोंगटे खड़े हो जाएंगे

आरोपी संतोष नामदेव तीन नाबालिग लड़कियों का अपहरण कर उनके साथ दुष्कर्म कर चुका है। उसके खिलाफ कोतवाली थाना विदिशा, कोतवाली थाना रायसेन और उमरावगंज थाने में अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के अलग-अलग तीन मामले दर्ज किए गए हैं।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 24 Nov 2019 2:43 PM GMT

नाग-नागिन फिर अकेले में लड़कियों से ये घिनौना काम, रोंगटे खड़े हो जाएंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: एक बहुत ही हैरान कर देने वाली घटना सामने आयी है। जिसमें एक शख्स ने इच्छाधारी नाग-नागिन की कहानी सुनाकर सात साल में तीन लड़कियों का रेप कर डाला। यह शातिर अपराधी जब पुलिस की गिरफ्त में आया तो पुलिस भी हैरान रह गई। बता दें कि आरोपी खुद को भगवान भोलेनाथ का भक्त बताता था और उसने अपने गले और हाथ पर नाग का टैटू भी बनवाया हुआ था। यह सनसनीखेज मामला मध्य प्रदेश के रायसेन जिले का है।

ये भी देखें : मिशन 2022 को फतह करने के लिए बीजेपी ने बनाया ये खास प्लान

पिछले जन्म में इच्छाधारी नाग-नागिन होने की कहानिया सुनाया

रायसेन जिले के उमरावगंज थाने के खुखरिया गांव में एक नाबालिग लड़की का अपहरण 4 मई 2019 को हो गया था। लड़की के पिता ने थाने में अपहरण का मामला दर्ज कराया था। जब पुलिस ने प्रयास कर विदिशा से संतोष नामदेव (25) को गिरफ्तार किया तो उसने हैरतअंगेज कहानी सुनाई।

अपहरण के बाद आरोपी ने पीड़िता के पिता को फोन पर बताया था कि आरोपी और पीड़िता पिछले जन्म में इच्छाधारी नाग-नागिन रहे हैं। इसलिए भगवान ने सपने में कहा कि दोनों की शादी जरूरी है।

इस तरह आरोपी संतोष नामदेव तीन नाबालिग लड़कियों का अपहरण कर उनके साथ दुष्कर्म कर चुका है। उसके खिलाफ कोतवाली थाना विदिशा, कोतवाली थाना रायसेन और उमरावगंज थाने में अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के अलग-अलग तीन मामले दर्ज किए गए हैं।

ये भी देखें : मैं NCP में हूं और रहूंगा, शरद पवार ही हमारे नेता: अजित पवार

उमरावगंज थाना प्रभारी शहनवाज खान के मुताबिक, आरोपी संतोष ने नाबालिग किशोरी के मामा की पत्नी को बहन बनाया हुआ था। इससे संतोष नामदेव का पीड़िता के घर आना जान होता था।

इच्छाधारी नाग-नागिन की कहानी बताकर 3 लड़कियों के साथ किया रेप

आरोपी संतोष खुद को भगवान भोलेनाथ का भक्त बताता था। उसने अपने गले और हाथ पर नाग का टैटू भी बनवाया हुआ था। आरोपी संतोष नामदेव एक दिन अकेला ही खुखरिया गांव पहुंचा। जान-पहचान का फायदा उठाकर नाबालिग लड़की के पिता से बोला कि लड़की को लेकर उसके मामा के यहां जा रहा है।

वहां से वह होशंगाबाद पूजा करने के बाद वापस आ जाएगा। उसके बाद संतोष पीड़िता को अपने साथ लेकर चला गया।

किशोरी के पिता ने जब मामा को फोन लगाकर पूछा तो पता चला कि वहां संतोष नामदेव पहुंचा ही नहीं है। इसके बाद पीड़िता के पिता ने आरोपी संतोष को फोन लगाया तो वह बोला कि आरोपी और नाबालिग किशोरी पहले इच्छाधारी नाग और नागिन थे।

इसलिए भगवान ने उसे सपने में कहा कि दोनों की शादी जरूरी है। यह कहते हुए संतोष ने अपना फोन बंद कर लिया। इसके बाद पीड़िता के पिता ने उमरावगंज थाने में बेटी के अपहरण की शिकायत दर्ज कराई।

ये भी देखें : भूखे का सहारा बन रहे मुट्ठीभर युवा, ऐसे करते हैं पुण्य का काम

पुलिस को पता चला कि आरोपी हरिपुरा विदिशा में रह रहा है। उसके बाद पुलिस ने 19 नवंबर को वहां पहुंचकर आरोपी संतोष को गिरफ्तार कर लिया और पीड़िता को उसके पिता के पास भिजवा दिया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि संतोष नामदेव ने उसे बासौदा, विदिशा की राजपूत कॉलोनी सहित कई जगह रखा और वहां दुष्कर्म करता रहा।

इतने मामले हैं दर्ज

आरोपी संतोष नामदेव एक जैसी तीन घटनाएं कर चुका है। साल 2013 में रायसेन कोतवाली थाने में अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज हुआ। साल 2016 में विदिशा कोतवाली थाने में अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज हुआ। 4 मई 2019 में उमरावगंज थाने में अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज हुआ।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story