कोरोना काल में परिवहन पंजीकरण शुल्क वसूली में 42 फीसदी तक गिरावट

कोरोना काल में ऑटोमोबाइल सेक्टर के कारोबार में करीब 42 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई है। इसकी पुष्टि एआरटीओ दफ्तर के आंकड़े कर रहे हैं।

auraiya

कोरोना काल में परिवहन पंजीकरण शुल्क वसूली में 42 फीसदी तक गिरावट

औरैया: कोरोना काल में ऑटोमोबाइल सेक्टर के कारोबार में करीब 42 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई है। इसकी पुष्टि एआरटीओ दफ्तर के आंकड़े कर रहे हैं। गतवर्ष की अपेक्षा अबकी कोरोना ने परिवहन विभाग के राजस्व को पलीता लगा दिया है।

ये भी पढ़ें: IPL 2020 में विवाद शुरु: इस चूक पर बदला मैच का नतीजा, हारी टीम का फूटा गुस्सा

दो पहिया हो, चार पहिया अथवा अन्य व्यवसायिक वाहन सभी श्रेणी के वाहनों में रिकार्ड गिरावट दर्ज की गई। सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस, नए वाहनों के पंजीकरण, नियम तोडऩे पर लगने वाले जुमाने और व्यवसायिक वाहनों से त्रैमासिक कर आदि श्रोतों से शुल्क और कर के रूप में हर साल अच्छी-खासी रकम जमा होती है। पिछले वर्ष की बात करें तो जनपद में अप्रैल से लेकर अगस्त के बीच 13 करोड़ 77 लाख 83 हजार रुपयों का राजस्व आया। जबकि इस वर्ष आठ करोड़ एक लाख 12 हजार रुपए का राजस्व आया। पांच करोड़ 76 लाख 71 हजार रुपये की चपत सीधे-सीधे सीधे विभाग को लगी।

ये भी पढ़ें: कृषि बिलों का विरोध राष्ट्रपति की चौखट तक पहुंचा, अकाली दल ने उठाया ये कदम

राजस्व विभाग के आंकड़ों पर एक नजर

माह               वर्ष- 2019                      2020

अप्रैल              328.12                          21.80

मई                 286.97                          66.47

जून               296.24                           279.23

जुलाई            265.55                           226.81

अगस्त          200.95                          206.08
———————————————
कुल योग      1377.83                          801.12
—————––————————–

ये भी पढ़ें: शिक्षकों के लिए खुशखबरी: स्थानान्तरण की समय सारिणी तय, इस दिन आएगी सूची

इस संबंध में बलवंत सिंह आरआई सहायक संभागीय परिवहन विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि संपूर्ण लॉक डाउन के दौरान काम बंद रहा। अनलॉक की प्रक्रिया में काम शुरू होने के बावजूद बड़े पैमाने पर नई गाडिय़ां खरीदने वालों की संख्या में गिरावट आई है। हालांकि अब के साथ सुधार देखने को मिल रहा है। चार महीने में जो हालत थे वह अब नहीं है लेकिन पिछले साल की तुलना में राजस्व की आवक कम हुई है।

रिपोर्ट: प्रवेश चतुर्वेदी, औरैया

ये भी पढ़ें: सेना पर ग्रेनेड हमला: आतंकियों ने CRPF कैंप को बनाया निशान, जवानों ने इलाका घेरा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App